क्‍वेरी मोटापा की प्रासंगिकता द्वारा क्रमित पोस्‍ट दिखाए जा रहे हैं. तारीख द्वारा क्रमित करें सभी पोस्‍ट दिखाएं
क्‍वेरी मोटापा की प्रासंगिकता द्वारा क्रमित पोस्‍ट दिखाए जा रहे हैं. तारीख द्वारा क्रमित करें सभी पोस्‍ट दिखाएं

बुधवार, 21 फ़रवरी 2018

पेट की चर्बी को कम करने का हैरान करने वाला उपाय

पेट की चर्बी को कम करने का हैरान करने वाला उपाय


अनियमित और मसालेदार भोजन के अलावा आरामपूर्ण जीवनशैली के चलते तोंद/ पेट के निचले भाग की चर्बी एक वैश्विक समस्या बन गई है जिसके चलते डायबिटीज और हार्टअटैक का खतरा बढ़ जाता है। तोंद कई अन्य रोगों को भी जन्म देती है। इसके चलते व्यक्ति हमेशा शरीर में अच्छा फिल नहीं कर पाता।

कमर और पेट के आसपास इकट्ठा हुई अतिरिक्त चर्बी से किडनी और मूत्राशय में भी दिक्कतें होना शुरू हो जाती हैं। रीढ़ की हड्डी पर भी अतिरिक्त दबाव पड़ता है और जिसके चलते आए दिन कमर दर्द और साइड दर्द होता रहता है। अगर आप तोंद से छुटकारा पाकर फिर से उसे पेट बनाने की सोच रहे हैं तो यहां दिए जा रहे हैं ऐसे उपाय जिसे करने में आपको अतिरिक्त श्रम नहीं करना पड़ेगा। जरूरी नहीं कि सभी उपाय आप आजमाएं। किसी भी एक उपाय को नियमित करें तो 1 माह में लाभ नजर आने लगेगा।

पेट की चर्बी घटाना आसान है पर वहीं पर पेट के निचले भाग की चर्बी घटाना थोड़ा मुश्‍किल है। हमारी लाइफस्‍टाइल कुछ ऐसी हो चुकी है कि हम ना चाह कर भी अपने शरीर का वजन बढ़ाते चले जा रहे हैं। कुछ लड़कियों का पूरा शरीर देखने में पतला लगता है पर पेट काफी ज्‍यादा निकला होता है। लेकिन जब आप किलो भर वजन कम करने लगेगीं तो ‘बैली फैट’ अपने आप ही खतम होने लगेगा।

चमत्कारी उपाय जो पेट के निचले भाग की चर्बी कम करते है :

  1. दही को खाने से मोटापा कम होता है।तथा छाछ में कालानमक और अजवायन मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है।
  2. आलू को उबालकर गर्म रेत में सेंकर खाने से मोटापा दूर होता है।
  3. 100 ग्राम कुल्थी की दाल प्रतिदिन सेवन करने से चर्बी कम होती है।
  4. 4 पीपल पीसकर आधा चम्मच शहद मिलाकर सेवन करने से मोटापा कम होता है।
  5. पालक के 25 ग्राम रस में गाजर का 50 ग्राम रस मिलाकर पीने से शरीर का फैट (चर्बी) समाप्त होती है। 50 ग्राम पालक के रस में 15 ग्राम नींबू का रस मिलाकर पीने से मोटापा समाप्त होता है।
  6. डिकामाली (एक तरह का गोंद) लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग की मात्रा में गर्म पानी के साथ मिलाकर सुबह-शाम पीने से मोटापा कम होता है।
  7. पीपल 150 ग्राम और सेंधानमक 30 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर कूटकर 21 खुराक बना लें। यह दिन में एक बार सुबह खाली पेट छाछ के साथ सेवन करें। इससे वायु के कारण पेट की बढ़ी हुई चर्बी कम होती है।
  8. पिप्पली के 1 से 2 दाने दूध में देर तक उबाल लें और दूध से पिप्पली निकालकर खा लें और ऊपर से दूध पी लें। इससे मोटापा कम होता है।
  9. जवाखार 35 ग्राम और चित्रकमूल 175 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर चूर्ण बना लें। यह 5 ग्राम चूर्ण एक नींबू का रस, शहद और 250 ग्राम गुनगुने पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट लगातार 40 दिनों तक पीएं। इससे शरीर की फालतू चर्बी समाप्त हो जाती है और शरीर सुडौल होता है। या फिर जौखार का चूर्ण आधा-आधा ग्राम दिन में 3 बार पानी के साथ सेवन करने से मोटापा दूर होता है।
  10. चित्रक की जड़ का बारीक चूर्ण शहद के साथ सेवन करने से पेट की बीमारियां और मोटापा समाप्त होता है।
  11. प्रतिदिन अनन्नास खाने से स्थूलता नष्ट होती है क्योंकि अनन्नास चर्बी को नष्ट करता है।

सबसे पहले मोटापे से पीड़ित रोगी को समझना चाहिए कि जब तक आप अपने खान-पान में सुधार नहीं करेगें, तब तक आपका मोटापा दूर नहीं हो सकता है। सादा भोजन और व्यायाम शरीर में अधिक चर्बी को पिघलाता है। मालिश उसमें सहायता करती है और रोगी के शरीर मे कमजोरी नहीं आने देती है, साथ ही चर्बी घटने पर शरीर के मांस को ढीला नहीं पड़ने देती, बल्कि मालिश शरीर को मजबूत तथा आकर्षक बना देती है। इसलिए मोटापा कम करने वाले व्यक्ति को चाहिए कि वह अपने भोजन में सुधार करे तथा प्रतिदिन व्यायाम करें। ठण्डी मालिश मोटापा दूर करने में विशेष सहायता करती है, इसके अलावा तेल मालिश या सूखी मालिश भी की जा सकती है। वैसे तेल मालिश का उपयोग कम ही करें तो अच्छा है क्योंकि तेल की मालिश तभी अधिक लाभ देती है जब रोगी उपवास कर रहा हो।

रोगी को उबली हुई सब्जियां, क्रीम निकला हुआ दूध, संतरा, नींबू आदि खट्टे फल तथा 1-2 चपाती नियमित रूप से कई महीने तक लेनी चाहिए। रोगी को तली और भुनी हुई चीजों को अपने भोजन से पूरी तरह दूर रखना चाहिए। उपचार के दौरान रोगी को बीच-बीच में 1-2 दिन का उपवास भी रखना चाहिए। उपवास के दिनों में केवल नींबू पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए। इस प्रकार के भोजन व उपचार से कुछ दिनों तक तो रोगी को कमजोरी महसूस होगी, परन्तु कुछ दिनों के अभ्यास से जब शरीर इसका आदि हो जाएगा, तब रोगी अपने को अच्छा महसूस करने लगेगा।

गुरुवार, 8 मार्च 2018

रोजाना इसे पीने से 36 की कमर रातों-रात 25 की हो जाएगी, लड़कियां जरूर पढ़ें.!

रोजाना इसे पीने से 36 की कमर रातों-रात 25 की हो जाएगी, लड़कियां जरूर पढ़ें.!


आज हम आपको पेट और कमर की चर्बी या फिर मोटापा हो इन सबको कम करने वाले सबसे अच्छे प्राकृतिक उपाय के बारे में बताएँगे। आजकल हर कोई परेशान है बढ़ते वजन को ले कर। वजन घटाने कलिये लोग काफी पैसे खर्च करते है फिर भो कुछ नहीं होता है। पेट की चर्बी घटाने का एक मैजिकल घरेलू ड्रिंक जिसके मदत से बिना डाइटिंग और कसरत के आसानी से आप वजन कर सकते है। आपने मोटापा को घटा कर फैट को फिट हो सकते है।

वजन कम करने के लिए पेट की चर्बी को घटाने के लिए ज्यादातर लोग डाइटिंग योग्य एक्सरसाइज करते हैं। बहुत से लोग दवाइयों का सेवन करते हैं पर दवाई का सेवन करने से उन का मोटापा तो चला जाता है लेकिन कुछ समय बाद फिर वह मोटे हो जाते हैं। आज हम आपको एक ऐसे नुस्खे के बारे में बताएंगे जिसका आप सर्दियों में रोजाना इस्तेमाल करके अपना वजन व कमर की चर्बी को रातोरात कम कर सकते हैं।

भारत में मोटे लोगों की तादाद तेजी से बढ़ रही है। आज करीब 4 करोड़ 10 लाख ऐसे लोग भारत में मौजूद हैं, जिनका वजन सामान्य से कहीं ज्यादा है। अधिकांश लोग शुरुआत में मोटापा बढ़ने पर ध्यान नहीं देते हैं, लेकिन जब मोटापा बहुत अधिक बढ़ जाता है तो उसे घटाने के लिए घंटों पसीना बहाते रहते हैं। मोटापे की वजह से शरीर को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके सबसे ज्यादा असर पेट और कमर पर पड़ता है। मोटापे की वजह से पेट की चर्बी बढ़ जाती है जो देखने में बिल्कुल अच्छी नहीं लगती। ऐसे में इस प्रकृतिक उपाय से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। आइए जानिए पेट और कमर की चर्बी को कम करने के तरीके।

मोटापा, पेट और कमर की चर्बी घटाए :

1. मेथीदाना का कमाल :
मोटापा पेट की चर्बी व कमर को कम करने के लिए आप एक गिलास पानी में दो चम्मच मेथी रात को भिगोकर रख दें और सुबह उठकर सबसे पहले इस मेथी को चबा चबा कर खा लें और बचा हुआ पानी ऊपर से पी लें। अगर आप रोजाना ऐसा करते हैं तो आपके पेट की चर्बी कम हो जाएगी और बहुत जल्द आपकी कमर 36 से 25 हो जाएगी।

2. जौ का पानी :
वजन सबंधी परेशानी मे यह बहुत ही उपयोगी होता है। इसमें ऐसे तत्व पाएं जाते है। जिसका सेवन करने से मेटाबॉलिज्म बढ़ते है। जौ मोटापे को कम करने मे उपयोगी होता है जिससे आप स्लिम नजर आ सकते है।

कैसे कम करता है मोटापा : जौ घुलनशील और अघुलनशील फाइबर का स्रोत होता है। इस गुण के कारण आपको देर तक पेट भरा हुआ महसूस होता है। दो लीटर पानी में दो बड़े चम्मच जौ डालकर उबालें। उबालने के वक्त ढक्कन को अच्छी तरह से लगा दें ताकि जौ के दाने अच्छी तरह से पक जायें। जब यह मिश्रण पानी के साथ घुलकर हल्के गुलाबी रंग का पारदर्शी मिश्रण बन जायें तो समझ जाना चाहिए कि यह पीने के लिए तैयार है, इसको छानकर रोज इसका सेवन करें। इसमें नींबू, शहद और नमक भी डाल सकते हैं। छिलके वाले में ज्यादा फाइबर होता है और पकाने में ज्यादा समय लगता है इसलिए बिना छिलके वाले पकाने में आसान हैं। और जौ-चने के आटे की चपाती के सेवन से भी पेट और कमर ही नहीं सारे शरीर का मोटापा कम हो जाएगा।

जौ के पानी को तैयार की विधि : इसके लिए आप कुछ मात्रा में जौ लगभग (100-250 ग्राम) ले लीजिए और उसे अच्छी तरह साफ कर लीजिए उसके बाद इसे करीब चार घंटे तक पानी में भिंगोकर छोड़ दीजिए। फिर इस पानी को तीन से चार कप पानी में मिलाकर धीमी आंच में कम से कम 45 मिनट तक उबाले। इसके बाद गैस बंद कर दें और इसे ठंडा होने दे। जब यह ठंडा हो जाएं तो इसे एक बोतल में भरकर इसके पानी को पीने के लिये इस्तेमाल में लेवे, ये एक दिन का प्रयोग है यही प्रक्रिया रोजाना करे लाभ होगा। मोटापे से ग्रसित लोग कृपया जंक फूड को त्याग दे।

3. निम्बू के छिलके और अदरक का रस :
प्राकृतिक उपाय के लिए आवश्यक सामग्री : ड्रिंक बनाने कलिये पांच निम्बू के छिलके जिसमे निम्बू का रस ना हो। अदरक का रस एक चमच और एक लीटर पानी चाहिए। निम्बू के छिलके में एंटी ऑक्सीडेंट ज्यादा मात्रा में रहता है और विटामिन- सी भी ज्यादा मात्रा में रहता है। छिलके में ऐसे माइक्रो न्यूट्रियंस होते है जो की बजन घटाने में बहुत ही लाभदायक है।

इसको बनाने का विधि : इसको बनाने के लिए सबसे पहले एक लीटर पानी को गरम करेंगे। गरम होने के बाद उसमें निम्बू के छिलके को डालेंगे और उसको 8-10 मिनिट तक गरम होने देंगे। उबलने के बाद उसको बाहर निकाल देंगे। उसके बाद उसमें अदरक के रस को अच्छे से मिला लेंगे।अब ये ड्रिंक बन के तैयार हो गया।

इसको सेवन करने की विधि : सबसे पहले इस पनीय को ग्लास में लेलो। एक बात यहां याद रखना है निम्बू के छिलके को बाहर मत निकलायेंगे। पूरा दिन में एक लीटर पानी को पीना है । इसको दिन में 3-4 बार पी सकते है, रात तक ये यह पानी खत्म हो जाना चाहिए।पानी खात्म होने के बाद निम्बू के छिलके को फेंक सकते है। एक महीना तक इस ड्रिंक को पीजिये आपको बहुत अच्छा फायदा मिलेगा। आपके पेट के चर्बी को ये खत्म कर देगा और आपका बजन भी घट जाएगा। इस नुस्खे का जरूर इस्तेमाल करें।

अन्य असरदार प्राकृतिक उपाय तथा इन बातों का रखे ध्यान :

मोटापा घटाने के लिए खान-पान में सुधार जरूरी है। कुछ प्राकृतिक चीजें ऐसी हैं, जिनके सेवन से वजन नियंत्रित रहता है। इसलिए यदि आप वजन कम करने के लिए बहुत मेहनत नहीं कर पाते हैं तो अपनाएं यहां बताए गए छोटे-छोटे उपाय। ये आपके बढ़ते वजन को कम कर देंगे।
  • ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर, आलू और चावल में अधिक कार्बोहाइड्रेट होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।
  • केवल गेहूं के आटे की रोटी की बजाए गेहूं, सोयाबीन और चने के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।
  • रोज पत्तागोभी का जूस पिएं। पत्तागोभी में चर्बी घटाने के गुण होते हैं। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म सही रहता है।
  • पपीता नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी कम हो जाती है।
  • दही का सेवन करने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

  • छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।
  • आंवले व हल्दी को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लेंं। कमर एकदम पतली हो जाएगी।

मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च या काली मिर्च को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है।

एक चम्मच पुदीना रस को 2 चम्मच शहद में मिलाकर लेते रहने से मोटापा कम होता है।
सब्जियों और फलों में कैलोरी कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला और चीकू न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है। पुदीने की चाय बनाकर पीने से मोटापा कम होता है। खाने के साथ टमाटर और प्याज का सलाद काली मिर्च व नमक डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, पोटैशियम, लाइकोपीन और ल्यूटिन मिलेेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।

सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस 2-3 महीने तक पीने से पेट अंंदर हो जाता है।
एक साथ ज्यादा खाना खाने से बचें और ज्यादा मीठा खाने से भी बचें। जब हम ज्यादा खाना खाने के रूप में पेट के अंदर आवश्यकता से ज्यादा कैलोरी ले लेते हैं तो यह हमारे पेट के अंदर फैट बना देता है जिससे हमें आगे चलकर मोटापे का सामना करना पड़ता है। अगर आप जल्द से जल्द अपने मोटापे से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आवश्यकता से ज्यादा खाना खाने से बचें।

सोमवार, 15 अगस्त 2016

असंतुलित खान-पान से बढ़ता है मोटापे का खतरा, जानें कैसे मोटापा करें कम …

असंतुलित खान-पान से बढ़ता है मोटापे का खतरा, जानें कैसे मोटापा करें कम …

आइये आपको बताते है मोटापा कम कैसे करें। इसका इलाज हर हाल में संभव है बस कुछ नियम और संयम का पालन करें –
1. भोजन में गेहूं के आटे की रोटी बन्द करके जौ-चने के आटे की रोटी लेना शुरू करें। इससे सारे शरीर का मोटापा कम हो जाएगा।

2. प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी में 2 चम्मच शहद व नींबू का रस मिलाकर पीने से भी कुछ दिनों में मोटापा कम होने लगता है। पतले होने के चक्कर में दूध और शुद्ध घी का सेवन बन्द न करें। वरना शरीर में कमजोरी, रूखापन, वातविकार, जोड़ों में दर्द, गैस ट्रबल आदि होने की शिकायतें पैदा होने लगेंगी।

3. सेब और गाजर को बराबर मात्रा में कद्दूकस करके सुबह खाली पेट 200 ग्राम की मात्रा में खाने से वजन कम होता है और स्फूर्ति व सुन्दरता बढ़ती है। इसके सेवन के 2 घंटे बाद तक कुछ नहीं खाना चाहिए।

4. एक गिलास गर्म पानी प्रतिदिन सुबह-शाम भोजन के बाद पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। इसके सेवन से चर्बी तो कम होती है साथ में गैस, कब्ज, कोलाइटिस (आंतों की सूजन), एमोबाइसिस और पेट के कीड़े भी नष्ट होते है।

5. 100-150 ग्राम मूली के रस में नींबू का रस मिलाकर दिन में 2-3 बार पीने से मोटापा कम होता है। मूली के चूर्ण को शहद में मिलाकर सेवन करने से भी मोटापा कुछ ही महीनों में दूर हो जाता है।

6. मिश्री, मोटी हरी सौंफ और सुखा साबुत धनिया बराबर मात्रा में पीसकर रख लें। इस मिश्रण को एक चम्मच सुबह पानी के साथ लेने से अधिक चर्बी कम होकर मोटापा दूर होता है।

7. पुदीना में मोटापा विरोधी तत्व पाये जाते है। एक चम्मच पुदीना के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर लेने से मोटापा कम होता जाता है।

8. नियमित सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस दो-तीन महीने पीते रहने से शरीर की अतिरिक्त वसा में कमी आती है।

9. बारीक कटी हुई अदरक और एक नींबू को भी कई टुकड़ों में काट लें। अब दोनों को पानी में उबालें। इस पानी को सुहाता गरम पिएं। बहुत ही कारगर और बढिय़ा उपाय है।

10. कम केलोरी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें। कम केलोरी का भोजन मोटापा निवारण के लिए अनिवार्य है। भोजन में ऐसी चीजों को शामिल करें जिनमें नगण्य केलोरी हो। जैसे कि नींबू, अमरुद, अंगूर, सेव, खरबूजा, जामुन, पपीता, आम, संतरा, पाइनेपल, टमाटर, तरबूज, बैर, स्ट्राबेरी, पत्ता गोभी,फूल गोभी, ब्रोकोली, प्याज, मेथी, मूली, पालक, शलजम, सौंफ, लहसुन, भूने चने, मूंग दाल, दलिया, अंकुरित अनाज, छिलके वाली दाल, सलाद, दही आदि. आलू, चावल, नमक और चीनी का सेवन कम करें। ग्रीन टी दिन में 2-3 बार पिएं। अधिक वसा युक्तभोजन से परहेज करें। तली व गली चीजें इस्तेमाल करने से चर्बी बढ़ती है। वनस्पति घी शरीर के लिए हानिकारक है।

मंगलवार, 8 नवंबर 2016

रात को सोने से पहले करें इस जूस का सेवन, हो जाएगा मोटापा छूमंतर

रात को सोने से पहले करें इस जूस का सेवन, हो जाएगा मोटापा छूमंतर


आज के समय की बात करें तो हम दूसरा व्यक्ति मोटापा की चपेट मे आ चुका है। जिसके निजात पाने के लिए आप हर तरह के उपाय अपनाते है। रोज जिम जाना, योगा, डाइटिंग करते है।कई लोग तो मोटापा से निजात पाने के लिए दवाओं का भी इस्तेमाल करते है। जिससे कि इस मोटापा से मुक्ति पा सके, लेकिन आप जानते है कि इन दवाओं का साइड इफेक्ट भी होता है। जो आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।


अगर आप चाहते है कि आपका मोटापा तेजी से घटे तो हम आपको अपनी खबर में एक ऐसे जूस के बारें में बता कहे है। जिसका सेवन रात के समय करने से आपको जल्द ही मोटापा से निजात मिल जाएगा।  इस जूस को बनाने के लिए आपको किसी स्पेशल चीज की जरुरत नहीं होती है। यह सब चीजें आपके घर में आसानी से मिल जाएगी। जानिए कैसे बनाएं जूस।

सामग्री

1. 1 नींबू कटा हुआ
2. 1 ग्लास पानी
3. 1 खीरा
4. 1 चम्म्च पिसा हुआ अदरक
5.1 चम्मच एलोवेरा जूस
6. थोड़ा हरा धनिया

ऐसें बनाएं जूस

सबसे पहले इन चीजों को लेकर ग्राइडर में डालकर अच्छी तरह से पीस लें। फिर इसे रात को सोने से पहले पीएं। इसमें ऐसे तत्व पाए जाते है जो रात को लेने से आपके शरीर से फैट को कम करता है। जिससे आपका मोटापा कम होता है।इसके अलावा यह जूस आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म को गति देगा और और जिस समय आप नींद में होंगे आपका मेटाबॉलिज्म सक्रिय होकर मोटापा कम करने में सहायक होगा। रोज इस जूस का सेवन कुछ ही दिनों में आपको मोटापे से निजात दिला देगा। खास तौर से पेट की चर्बी को कम करने में यह बेहद काम की चीज है। इसलिए इसका सेवन रोज करें।

बुधवार, 24 अगस्त 2016

मोटापे का दुश्मन  बस एक चम्मच रोज यह प्रयोग 3 महीने में 15 किलोग्राम वजन जरूर खत्म कर देगा ।

मोटापे का दुश्मन बस एक चम्मच रोज यह प्रयोग 3 महीने में 15 किलोग्राम वजन जरूर खत्म कर देगा ।

1.नीबूं और शहद
25 ग्राम नींबू के रस में 25 ग्राम शहद मिलाकर 100 ग्राम गर्म पानी के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम पीने से मोटापा दूर होता है।एक नींबू का रस प्रतिदिन सुबह गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से मोटापे की बीमारी दूर होती है।।1 नींबू का रस 250 ग्राम पानी में मिलाकर थोड़ा सा नमक मिलाकर सुबह-शाम 1-2 महीने तक पीएं। इससे मोटापा दूर होता है।नींबू का 25 ग्राम रस और करेला का रस 15 ग्राम मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा नष्ट होता है।250 ग्राम पानी में 25 ग्राम नींबू का रस और 20 ग्राम शहद मिलाकर 2 से 3 महीने तक सेवन करने से अधिक चर्बी नष्ट होती है।1-1 कप गर्म पीनी प्रतिदिन सुबह-शाम भोजन के बाद पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। इसके सेवन से चर्बी कम होने के साथ-साथ गैस, कब्ज, कोलाइटिस (आंतों की सूजन) एमोबाइसिस और कीड़े भी नष्ट होते हैं।

2-सेब और गाजर,

सेब और गाजर को बराबर मात्रा में कद्दूकस करके सुबह खाली पेट 200 ग्राम की मात्रा में खाने से वजन कम होता है और स्फूर्ति व सुन्दरता बढ़ती है। इसका सेवन करने के 2 घंटे बाद तक कुद नहीं खाना चाहिए।

3-मूली

मूली का चूर्ण 3 से 6 ग्राम शहद मिले पानी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से मोटापे की बीमारी से छुटकारा मिलता है।मूली के 100-150 ग्राम रस में नींबू का रस मिलाकर दिन में 2 से 3 बार पीने से मोटापा कम होता है।मूली के बीजों का चूर्ण 6 ग्राम और ग्राम यवक्षार के साथ खाकर ऊपर से शहद और नींबू का रस मिला हुआ एक गिलास पानी पीने से शरीर की चर्बी घटती है।6 ग्राम मूली के बीजों के चूर्ण को 20 ग्राम शहद में मिलाकर खाने और लगभग 20 ग्राम शहद का शर्बत बनाकर 40 दिनों तक पीने से मोटापा कम होता है।
मूली के चूर्ण में शहद में मिलाकर सेवन करने से मोटापा दूर होता है।

4-मिश्री 
 
मिश्री, मोटी सौंफ और सुखा धनिया बराबर मात्रा में पीसकर एक चम्मच सुबह पानी के साथ लेने से अधिक चर्बी कम होकर मोटापा दूर होता है।

5-चूना

बिना बुझा चूना 15 ग्राम पीसकर 250 ग्राम देशी घी में मिलाकर कपड़े में छानकर सुबह-शाम 6-6 ग्राम की मात्रा में चाटने से मोटापा कम होता है।पेट की चर्बी कम करने के लिए आपको खूब पानी पीना चाहिए। यह बेहद कारगर उपाय है। नियमित अंतराल पर पानी पीते रहने से आपका मेटाबॉलिज्‍म बढ़ जाता है और आपके शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और आपका शरीर स्‍वस्‍थ रहता है।

सुबह-सुबह कच्‍चा लहसुन खाना आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। रोजाना सुबह लहसुन की दो तीन कलियां चबाना और ऊपर से नींबू पानी पीना आपके लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे वजन कम करने की आपकी प्रक्रिया दोगुनी हो जाएगी। इसके साथ ही आपके शरीर में रक्‍त प्रवाह भी सुचारू हो जाएगा।
भोजन पकाते समय ऐसे मसालों का उपयोग करें जो वजन कम करने में मदद करे।दालचीनी, अदरक और काली मिर्च का उपयोग भोजन पकाते समय जरूर करें। इन मसालों में सेहत के लिए फायदेमंद तत्‍व होते हैं। इससे आपकी इनसुलिन क्षमता बढ़ती है और साथ ही रक्‍त में शर्करा की मात्रा कम होती है।

भुनी हुई हिंग, काला नमक ओर जीरा समान मात्र मे लेकर उनका चूर्ण बना लें। दिन मे दो बार दहि के साथ 2/3 ग्राम की मात्रा मे लें। जीरे से शरीर की शोधन प्रक्रिया बलवान होती है।

रविवार, 11 दिसंबर 2016

बाहर निकला हुआ पेट अंदर करने के कुछ आसान घरेलू तरीके

बाहर निकला हुआ पेट अंदर करने के कुछ आसान घरेलू तरीके

भारत में मोटे लोगों की तादाद तेजी से बढ़ रही है। आज करीब 4 करोड़ 10 लाख ऐसे लोग भारत में मौजूद हैं, जिनका वजन सामान्य से कहीं ज्यादा है। अधिकांश लोग शुरुआत में मोटापा बढ़ने पर ध्यान नहीं देते हैं, लेकिन जब मोटापा बहुत अधिक बढ़ जाता है तो उसे घटाने के लिए घंटों पसीना बहाते रहते हैं।

मोटापा घटाने के लिए खान-पान में सुधार जरूरी है। कुछ प्राकृतिक चीजें ऐसी हैं, जिनके सेवन से वजन नियंत्रित रहता है। इसलिए यदि आप वजन कम करने के लिए बहुत मेहनत नहीं कर पाते हैं तो अपनाएं यहां बताए गए छोटे-छोटे उपाय। ये आपके बढ़ते वजन को कम कर देंगे।

1. ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर, आलू और चावल में अधिक कार्बोहाइड्रेट होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।

2. केवल गेहूं के आटे की रोटी की बजाए गेहूं, सोयाबीन और चने के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।

3. रोज पत्तागोभी का जूस पिएं। पत्तागोभी में चर्बी घटाने के गुण होते हैं। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म सही रहता है।

4. पपीता नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी कम हो जाती है।

5. दही का सेवन करने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

6. छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।

7. आंवले व हल्दी को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लें। कमर एकदम पतली हो जाएगी।

8. मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च या काली मिर्च को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है।

9. एक चम्मच पुदीना रस को 2 चम्मच शहद में मिलाकर लेते रहने से मोटापा कम होता है।

10. सब्जियों और फलों में कैलोरी कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला और चीकू न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है। पुदीने की चाय बनाकर पीने से मोटापा कम होता है।

11. खाने के साथ टमाटर और प्याज का सलाद काली मिर्च व नमक डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, पोटैशियम, लाइकोपीन और ल्यूटिन मिलेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।

12. सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस 2-3 महीने तक पीने से पेट अंदर हो जाता है।

मंगलवार, 4 अप्रैल 2017

बाहर निकला हुआ पेट अंदर करने के कुछ आसान घरेलू तरीके.

बाहर निकला हुआ पेट अंदर करने के कुछ आसान घरेलू तरीके.


भारत में मोटे लोगों की तादाद तेजी से बढ़ रही है। आज करीब 4 करोड़ 10 लाख ऐसे लोग भारत में मौजूद हैं, जिनका वजन सामान्य से कहीं ज्यादा है। अधिकांश लोग शुरुआत में मोटापा बढ़ने पर ध्यान नहीं देते हैं, लेकिन जब मोटापा बहुत अधिक बढ़ जाता है तो उसे घटाने के लिए घंटों पसीना बहाते रहते हैं।

मोटापा घटाने के लिए खान-पान में सुधार जरूरी है। कुछ प्राकृतिक चीजें ऐसी हैं, जिनके सेवन से वजन नियंत्रित रहता है। इसलिए यदि आप वजन कम करने के लिए बहुत मेहनत नहीं कर पाते हैं तो अपनाएं यहां बताए गए छोटे-छोटे उपाय। ये आपके बढ़ते वजन को कम कर देंगे।

1. ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर, आलू और चावल में अधिक कार्बोहाइड्रेट होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।

2. केवल गेहूं के आटे की रोटी की बजाए गेहूं, सोयाबीन और चने के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।

3. रोज पत्तागोभी का जूस पिएं। पत्तागोभी में चर्बी घटाने के गुण होते हैं। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म सही रहता है।

4. पपीता नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी कम हो जाती है।

5. दही का सेवन करने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

6. छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।

7. आंवले व हल्दी को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लेंं। कमर एकदम पतली हो जाएगी।

8. मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च या काली मिर्च को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है।

9. एक चम्मच पुदीना रस को 2 चम्मच शहद में मिलाकर लेते रहने से मोटापा कम होता है।

10. सब्जियों और फलों में कैलोरी कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला और चीकू न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है। पुदीने की चाय बनाकर पीने से मोटापा कम होता है।

11. खाने के साथ टमाटर और प्याज का सलाद काली मिर्च व नमक डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, पोटैशियम, लाइकोपीन और ल्यूटिन मिलेेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।

12. सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस 2-3 महीने तक पीने से पेट अंंदर हो जाता है।

शुक्रवार, 29 जुलाई 2016

क्या ग्रीन टी वाकई में वजन कम करती है

क्या ग्रीन टी वाकई में वजन कम करती है

ग्रीन टी (green tea) आपके सेहत के लिए फायदेमंद होती है यह बीमारियों को दूर करने के साथ-साथ आपके वजन को भी कम करती है। हाल ही में हुए एक नए शोध में शोधकर्ताओं ने कहा है कि यदि आप नियमित रूप से ग्रीन टी का सेवन करते हो तो दो सप्ताह के अंदर-अंदर आपका वजन डेढ़ किलोग्राम कम हो सकता है। यदि ग्रीन टी को रोज करीब एक महीने ते पीया जाए तो वजन दो किलो से भी ज्यादा घट सकता है। ग्रीन टी कैसे आपके वजन को कम करती है आइये जानते हैं ग्रीन टी के फायदों के बारे में।



ग्रीन टी के फायदे
  • ग्रीन टी पूरी तरह से एंटीआक्सीडेंट से भरपूर होती है। साथ ही इसमें कई तरह की बीमारियों से लड़ने की क्षमता होती है। शरीर को हेल्दी और तरोताजा रखने के साथ-साथ यह आपके बढ़ते हुए वजन को भी नियंत्रित कर देती है।
  • यदि आप वजन कम करने के लिए खाने का नियम यानि की डायटिंग नहीं करना चाहते हैं तो ग्रीन टी का सेवन सुबह और शाम जरूर करें।
  • इस बात को अब शोधकर्ताओं ने भी माना है कि यदि ग्रीन टी का सुबह-सुबह खाली पेट लेने से वजन कम समय में घट सकता है। एक सप्ताह में कम से कम डेढ़ किलो वजन आसानी से कम हो जाता है।
  • ग्रीन टी शरीर की पचन तंत्र को ठीक रखती है जिससे आपके खाने में मौजूद अधिक कैलोरी हट जाती है और आपका वजन घटने लगता है।
  • ग्रीन टी को दिन में 2 से 3 बार पीने से आपका शरीर रोगमुक्त रहेगा।
  • मोटापे को कम करने में ग्रीन टी एक कारगर घरेलू उपाय है। खाना खाने के बाद यदि आप ग्रीन टी को पीते हैं तो यह आपकी पाचन की शक्ति को बढ़ायेगा और इसमे मौजूद पोषक तत्व आपका वजन कम करने में अहम भूमिका निभाते हैं।
  • ग्रीन टी का सेवन यदि आप खाना खाने के 1 घंटा पहले इसका सेवन करते हैं तो यह आपके वजन को कम करती है और यह आपकी भूख पर नियंत्रण रखता है।

ग्रीन टी लेने का सही समय
अक्सर कई लोगों को इस बारे में पता नहीं होता है कि ग्रीन टी को किस समय लेना चाहिए। ग्रीन टी पीने का सही समय है सुबह-सुबह खाली पेट। सुबह के नाश्ते से पहले यदि आप ग्री टी पीते हैं तो आसानी से आप अपना वजन घटा सकते हो।

ग्रीन टी के अन्य फायदे
ग्रीन टी के फायदे केवल वजन घटाने तक नहीं हैं। यह आपको कई तरह की परेशानियों से भी बचा सकती है।

सूर्य कि किरणों का प्रभाव
गर्मियों या सर्दियों के मौसम में सूर्य की किरणें त्वचा पर अपना प्रभाव छोड़ती हैं जिसे सनबर्न कहा जाता है। इस समस्या को खत्म करने के लिए आप नहाने के पानी में ग्रीन टी की पत्तियों को मिला लें
फिर इससे स्नान करें। आपको इससे फायदा मिलेगा।

पैरों की बदबू
ग्रीन टी के इस्तेमाल से आप पैरों की बदबू को आसानी से दूर कर सकते हो। इसके लिए आप इस्तेमाल की हुई ग्रीन टी की पत्तियों को पानी की बाल्टी में डाल दें। और उसमें अपने पैरों को दस मिनट तक रखें। ग्रीन टी आपके पैरों की बदबू को सोक लेती है।

सुंदर बालों के लिए
ग्रीन टी एक प्राकृतिक कंडिशनर की तरह काम करती है। यदि आप ग्रीन टी को पानी में उबालें और फिर इसे ठंडा करने के बाद अपने बालों पर लगाएं। एैसा करने से आपके बाल सुंदर व मुलायम बनेगें।
1. ग्रीन टी के सेवन करने से मुंह के कैंसर में लाभ मिलता है, और यह कैंसर मरीजों के लिए फायदेमंद है।
2. ग्रीन टी के सेवन से आपकी त्वचा सुंदर बनती है और यह आपके बालों को झड़ने से रोकती है।
3. ग्रीन टी हार्ट अटैक की बीमारी को दूर करने में सहायक है। इसके अलावा मोटापा कम करने के लिए आप वैदिक उपायों को भी कर सकते हैं।
  
मोटापे से परेशान लोगों को नीचे दिये गए घरेलू उपचारों को करना चाहिए जो उनके शरीर के लिए भी लाभदायक है-
1. 10 ग्राम शहद और 10 ग्राम नींबू लेकर हल्के गरम पानी में मिलाकर प्रतिदिन पीने से मोटापा कम होता है।
2. 10 ग्राम ताजे तुलसी के पत्तों का रस, 20 ग्राम शहद लेकर पानी में मिलाकर पीने से मोटापे से निजात मिलता है।
3. चावलों से निकला मांड में आप सेंधा नमक को मिलाकर पीयें एैसा करने से मोटापा नियंत्रित होता है।
4. बेर के ताजा पत्तों को कूटकर उसे पानी में कुछ देर उबालें और उसका काढ़ा छानकर पीयें इससे मोटापे में लाभ मिलता है।
5. जौ के आटे से बनी रोटी का सेवन करने और मट्ठा पीने से मोटापा जल्द दूर होता है।
6. आप अपने खाद्य पदार्थों में यदि काली मिर्च का इस्तेमाल करते हैं तो एैसा करने पर मोटापा तो दूर होता ही है साथ ही शरीर में  चर्बी नहीं बढ़ती।
7. प्रतिदिन मेथी की सब्जी खाने से मोटापा नहीं होता।
8. मट्ठे के साथ त्रिफला चूर्ण 3-3 ग्राम मिलाकर इसका सेवन करने से मोटापे से होने वाले रोग खत्म हो जाते हैं।
9. पीपल का चूर्ण बनाकर उसमें, 3 से 4 ग्राम शहद मिलाकर सेवन करने से मोटापा कम होता है।
10. लहसुन की 4 से 5 कलियां छीलकर रात में पानी में भिगा दें और इन कलियों को सुबह खा लें फिर पीछे से पानी पी लें एैसा करने से मोटापे में पूरी राहत मिलती है।
इन उपायों को करने से आपको मोटापे से तो मुक्ति मिलेगी ही साथ ही साथ आपके शरीर में कोई दुष्प्रभाव भी नहीं पड़ेगा।

मंगलवार, 6 दिसंबर 2016

बाहर निकला हुआ पेट अंदर करने के कुछ आसान घरेलू तरीके

बाहर निकला हुआ पेट अंदर करने के कुछ आसान घरेलू तरीके


भारत में मोटे लोगों की तादाद तेजी से बढ़ रही है। आज करीब 4 करोड़ 10 लाख ऐसे लोग भारत में मौजूद हैं, जिनका वजन सामान्य से कहीं ज्यादा है। अधिकांश लोग शुरुआत में मोटापा बढ़ने पर ध्यान नहीं देते हैं, लेकिन जब मोटापा बहुत अधिक बढ़ जाता है तो उसे घटाने के लिए घंटों पसीना बहाते रहते हैंमोटापा घटाने के लिए खान-पान में सुधार जरूरी है। कुछ प्राकृतिक चीजें ऐसी हैं, जिनके सेवन से वजन नियंत्रित रहता है। इसलिए यदि आप वजन कम करने के लिए बहुत मेहनत नहीं कर पाते हैं तो अपनाएं यहां बताए गए छोटे-छोटे उपाय। ये आपके बढ़ते वजन को कम कर देंगे।
1. ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर, आलू और चावल में अधिक कार्बोहाइड्रेट होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं
2. केवल गेहूं के आटे की रोटी की बजाए गेहूं, सोयाबीन और चने के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।

3. रोज पत्तागोभी का जूस पिएं। पत्तागोभी में चर्बी घटाने के गुण होते हैं। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म सही रहता है

4. पपीता नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी कम हो जाती है।

5. दही का सेवन करने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

6. छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।

7. आंवले व हल्दी को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लेंं। कमर एकदम पतली हो जाएगी।

8. मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च या काली मिर्च को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है।

9. एक चम्मच पुदीना रस को 2 चम्मच शहद में मिलाकर लेते रहने से मोटापा कम होता है।

10. सब्जियों और फलों में कैलोरी कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला और चीकू न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है। पुदीने की चाय बनाकर पीने से मोटापा कम होता है।

11. खाने के साथ टमाटर और प्याज का सलाद काली मिर्च व नमक डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, पोटैशियम, लाइकोपीन और ल्यूटिन मिलेेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।

सोमवार, 29 जनवरी 2018

शरीर के इन बिन्दु पर दबाव डालने से होता है मोटापा कम

शरीर के इन बिन्दु पर दबाव डालने से होता है मोटापा कम


मनुष्य का मोटापा और वजन बढ़ना एक बात नहीं है। किसी व्यक्ति के लिए मोटा शब्द का प्रयोग तब किया जाता है जब उसके शरीर में चर्बी की मात्रा काफी ज्यादा हो तथा उसका वजन भी उसके कद अनुसार कम से कम 20 प्रतिशत ज्यादा हो। मोटापा बढ़ने से हृदय तथा फेफड़ों जैसे भीतरी अंगों पर ही केवल असर नहीं पड़ता बल्कि मोटे व्यक्ति को मधुमेह, खून का दाब तथा जोड़ों में जलन आदि रोग होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

कारण :

शरीर में मोटापा बढ़ने का सबसे प्रमुख कारण भोजन में अत्यधिक मात्रा में चर्बी बनाने वाले पदार्थ तथा श्वेतसारिक पदार्थों का सेवन करना है। मोटापा रोग किसी ग्रंथि की दोषपूर्ण अवस्था के कारण भी हो जाता है क्योंकि अगर शरीर की कोई ग्रंथि ठीक से काम नहीं करती तो आदमी चाहे कितने भी कम भोजन का सेवन क्यों न करे फिर भी उस व्यक्ति का वजन बढ़ता ही चला जाता है।
ये भी पढ़िए : शरीर के ये 4 पॉइंट्स दबाएं, तेजी से वजन घटाएं!
उपचार :
नियमित रूप से व्यायाम करने से काफी हद तक मोटापे से छुटकारा पाया जा सकता है। मोटापे से पीड़ित व्यक्ति अगर संतुलित भोजन का सेवन करे तो उसके वजन में अंतर आ सकता है। फिर भी वजन को सामान्य बनाए रखने के लिए पौष्टिक भोजन तथा चर्बी को कम करने वाले भोजन का सेवन करना चाहिए। भूख से ज्यादा भोजन कभी नहीं करना चाहिए तथा शर्करा और चर्बी वाले पदार्थों को भोजन में नहीं खाना चाहिए।
जहां तक हो सके तो नमक का इस्तेमाल भोजन में कम करना चाहिए यदि नमक खाना भी हो तो सेंधा नमक का इस्तेमाल करना चाहिए। रोगी को अपने भोजन में साग-सब्जी तथा हरा रस ज्यादा लेना चाहिए। रोगी को अंकुरित दालों का सेवन भी करते रहना चाहिए। अधिकतर गेहूं या चावल से बने पदार्थ ही खाने चाहिए। अपने भोजन की मात्रा को कम करते रहना चाहिए इससे चर्बी का बनना रुक जाता है। वैसे कहा जाए तो उतने ही भोजन का सेवन करना चाहिए जितनी की शरीर को आवश्यकता हो।

प्रतिदिन सुबह के समय में खाली पेट गुनगुने पानी में शहद और नींबू डालकर पिएं। सोने-तांबे-चांदी- के बर्तनों में पानी रखकर उसे गुनगुना करके पीने से शरीर की फालतू की चर्बी घट जाती है।

शरीर में मोटापे तथा चर्बी को घटाने के लिए :
मोटापा रोग हो जाने पर व्यक्ति को अपनी भूख को कम करने के लिए भोजन से आधा घंटे पहले कानों के तीनों बिन्दुओं पर अर्थात अपने दोनों कानों के पीछे अपने अंगूठे को रखकर, जोर से मसाज करनी चाहिए। इस तरह की क्रिया दिन में 2 बार करनी चाहिए। इससे भूख को कम करने में मदद मिलती है। इस क्रिया में अच्छी तरह से दबाव देने के लिए अंगूठे को कान के पीछे रखकर उंगलियों से बिन्दुओं पर दबाव देना चाहिए। इस क्रिया के साथ-साथ अपने भोजन में मिठाई, आइस्क्रीम, तले हुए नमकीन, चावल आदि को नहीं खाना चाहिए बल्कि इसकी जगह पर जितना हो सके हरी साग-सब्जियों का अधिक इस्तेमाल करना चाहिए। इसके साथ-साथ रोगी को फल आदि का सेवन भी करना चाहिए।

बुधवार, 19 अप्रैल 2017

जीरे और केले का यह नुस्खा कुछ ही दिनों में घटाएगा आपके पेट की चर्बी

जीरे और केले का यह नुस्खा कुछ ही दिनों में घटाएगा आपके पेट की चर्बी


हम सभी जानते हैं कि मोटापा कैसे बढता है लेकिन जान कर भी अंजान बने रहते हैं हम यह भी जानते हैकी इससे बहुत सारी बीमारियाँ लगती है बल्कि मोटापा तो और भी कई बड़ी बीमारियों का घर होता है आज की इस बिज़ी लाइफ में लोंगो के पास बिल्‍कुल भी समय नहीं है कि वह जिम में जा कर पसीना बहाएं या फिर चुन-चुन कर खाएं

ऐसे लोग जो पीजी में या किसी हॉस्‍टल में रहते हैं, उनके लिये तो वजन घटाना नामुमकिन है समझो क्योकि वो घर के बाहर रहते है और बाहर का खान ही खाते है जिसके चलते उनका मोटापा बढ़ता जाता है, लेकिन आप घबराइये नहीं क्‍योंकि आज हम आपको एक ऐसा आसान घरेलू तरीका बताएंगे, जिसकी मदद से आप आराम से अपनी पेट की चर्बी को कम कर लेंगे.

पेट की चर्बी घटाने के लिए बेहतरीन उपाय:

जीरा और केला कैसे घटाता है मोटापा:
अगर आप वजन को कम करना चाहते है तो आयुर्वेद के अनुसार दोंनो ही जीरा और केला पाचन क्रिया को दुर‍ुस्‍त रखते हैं, शरीर से गंदगी को निकालते हैं शरीर के मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ाते हैं जिससे आपकी पेट की चर्बी घटती हैं और और आप पतले होने लगते हैं.

जीरे और केले के गुण:
आयुर्वेद के अनुसार जीरे में फैट बर्न करने के गुण पाए जाते हैं और वही केला पाचन तंत्र को सही रखता हैक्योकि इसमें भरपूर मात्र में फाइबर पाया जाता हैं साथ ही पेट में होने वाले अल्सर से आपकी रक्षा करता है और आपके पेट की कई समस्याओं को कम करता हैं.
कैसे करें उपयोग:
इसके लिये आपको पीला केला लेना होगा इसे नुस्खे को तैयार करने के लिये जीरे को रोस्‍ट कर के पावडर बना लें और फिर एक कटोरा लें, उसमें आधा केला डाल कर मैश कर लें फिर इसमें जीरा पावडर डालें और मिक्‍स कर लें.

आपको अगर अपना वज़न तेजी से कम करना है तो इस मिश्रण का दो चम्‍मच रोज 15 दिनों तक खाएं.

यह एक प्राकृतिक मिश्रण है, जो कि तुरंत काम नहीं करेगा आप यह ना सोचे की यह जादू की तरह काम करेगा इसके लिये आपको इसे रोजाना खाते रहना होगा और जिस दिन से फर्क दिखना शुरु हो जाए, समझे कि यह काम कर रहा है. वैसे इसका असर 15 दिनों में दिखाई देने लगता है. जिससे आपका मोटापा घटने लगता हैं.

अच्छे रिजल्ट के लिए:
अगर आप अच्छा रिजल्ट चाहते है तो आपको खूब सारा पानी पीना चाहिए और एक्सरसाइज वा योग भी करना चाहिए इससे आप निच्चित की कुछ दिनों में अपना वज़न घाटने में सफल हो जायेंगे.

सावधानी:
अगर आप किसी मेडिकल इशू से पीड़ित है या आपको कोई पेट की बिमारी हैं तो आपको चाहिए की पहले आप डॉक्टर की सलाह लें इसके बाद इसका प्रयोग करे

सोमवार, 9 जनवरी 2017

खीरा का छिलका खाने से मोटापा सहित इन बीमारियों में मिलेगा फायदा

खीरा का छिलका खाने से मोटापा सहित इन बीमारियों में मिलेगा फायदा


क्‍या आपके पेट का मोटापा बढ़ गया है? क्‍या आप शरीर पर अतिरिक्‍त चर्बी बढ़ने से परेशान है? अगर इन दोनों ही बातों का जवाब हां ये तो आपको अलर्ट हो जाना चाहिए। वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार फैट हेल्‍थ के लिए बेहद नुकसानदायक मानी जाती है और यह आपकी आतों, लीवर, पैंक्रियाज पर सबसे अधिक असर डालती है और इसके साथ ही आपकी लाइफस्‍टाइल को भी प्रभावित करती है।

मोटापा से निजात पाने के लिए आप क्या नहीं करते है जिससे कि इससे निजात मिल जाएं यहां तक की आप दवाईयों का भी सेवन करने लगते है, लेकिन आप ये जानते हुए कि इसके साइड इफेक्ट भी बहुत होते है फिर भी सेवन करने में पीछे नहीं हटते है।

आज के समय में किसी से बीमारी से निजात पाने के लिए सबसे अच्छा है कि आप घरेलू उपाय को अपनाते है जो कि फायदेमंद भी होती है साथ ही कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। इसकी तरह आप खीरा का सेवन कर इस समस्या से निजात पा सकते है।

जी हां हम खीरा को सलाद के रुप में तो बहुत अधिक खाते है। यह हमारी हेल्थ के साथ-साथ स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद है। इसका सेवन करने से आपके बॉडी में ठंडक और ताजगी आती है। खीरे का छिलका भी किसी से कम नहीं होता है। इसका सेवन करने से आप मोटापा सहित कई बीमारियों से निजात पा सकते है। जानिए इसके फायदों के बारें में।
  • खीरे के छिलके में नेचुरल रुप में कैलोरी बहुत कम पाई जाती है। जिसका सेवन करने से आपको मोटापा से निजात मिल सकता है।
  • खीरे के छिलका में कैल्शियम पाया जाता है। जिससे कि आपके शरीर की हड्डियों को मजबूत बनती है।
  • खीरे के छिलके में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है, जो पाचन क्रिया के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है और कब्ज की समस्या दूर होती है।
  • खीरा के साथ इसके छिलके में भरपूर मात्रा में बीटा कैरोटीन, विटामिन ए पाया जाता है। जिसे को खाने से आंखों की रोशनी तेज रहती है।
  • खीरे का छिलका आपकी स्किन को निखारने में मदद करता है। खीरे के छिलके को निकालकर सुखा लें। फिर उसे अच्‍छे से पीसकर उसमें नींबू की कुछ बूदें मिला लें। अब एक कटोरे में इस पेस्ट को डालें और उसमें एलोवेरा जेल मिलाकर अपनी त्वचा पर लगाएं।
  • खीरा त्वचा को कई तरह की समस्याओं से राहत दिलाने में मदद करता है जैसे टैनिंग, सनबर्न, रैशेज आदि। इसलिए रोजाना खीरा का छिलका खाएं।

गुरुवार, 15 सितंबर 2016

काला नमक स्वास्थ्य का खज़ाना.

काला नमक स्वास्थ्य का खज़ाना.

भारतीय काला नमक आयुर्वेदिक चिकित्सा में एक मसाले के रूप में माना जाता है, यह कब्ज, पेट की ख़राबी, सूजन, पेट फूलना, गण्डमाला, हिस्टीरिया, मोटापा, उच्च रक्तचाप, थाइरोइड, चरम रोगों के साथ साथ कमज़ोर दृष्टि के रोगियों के लिए बहुपयोगी है. इस नमक को नियमित खाने के नमक में इस्तेमाल किया जा सकता है. इसके गुण सेंधा नमक के समान ही हैं.

अगर आपको स्वस्थ जिंदगी जीनी है तो रोज सुबह काला नमक और पानी मिला कर पीना शुरु कर दें। जी हां, इस घोल को सोल वॉटर कहते हैं, जिससे आपकी ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर,ऊर्जा में सुधार, मोटापा और अन्य तरह की बीमारियां झट से ठीक हो जाएंगी। ध्यान रखियेगा कि आपको किचन में मौजूद सादे नमक का प्रयोग नहीं करना है, अथवा यह लाभ नहीं करेगा। काले नमक में 80 खनिज और जीवन के लिए वे सभी आवश्यक प्राकृतिक तत्व पाए जाते हैं, जो जरुरी हैं।

सफ़ेद नमक की तुलना में काले नमक मे सोडियम की मात्रा कम होती है| यही कारण है की भारत मे उच्च रक्तचाप की वजह से कम नमक खाने वाले लोगों के आहार में काला नमक को शामिल करने की सिफारिश की जाती है|
नमक वाला पानी बनाने की विधि –

एक गिलास हल्के गरम पानी में एक तिहाई छोटा चम्मच काला नमक मिलाइये। फिर गिलास को हिलाते हुए नमक मिलाइये और 24 घंटे के लिये छोड़ दीजिये। इस गिलास को ढक्कन से ढक दीजिये।
रोज़ सुबह नमक वाला पानी पीने से होते हैं ये फायदे-
पाचन दुरस्त करे-

नमक वाला पानी मुंह में लार वाली ग्रंथी को सक्रिय करने में मदद करता है। अच्छी पाचन के लिये यह पहला कदम बहुत जरुरी है। पेट के अंदर प्राकृतिक नमक, हाइड्रोक्लोरिक एसिड और प्रोटीन को पचाने वाले इंजाइम को उत्तेजित करने में मदद करता है। इससे खाया गया भोजन टूट कर आराम से पच जाता है। इसके अलावा इंटेस्‍टाइनिल ट्रैक्ट और लिवर में भी एंजाइम को उत्तेजित होने में मदद मिलती है, जिससे खाना पचने में आसानी होती है।
स्वाद का खज़ाना-

भारतीय काला नमक चटनी, दही, अचार, सलाद और कई फलों सहित भारतीय खाद्य पदार्थ में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है। यह आमतौर पर शाकाहारी लोगो मे सराहा जाता है जिसका कारण है इसका विशेष स्वाद जो की टोफू, अंडे और अन्य शाकाहारी भोजन मे इस्तेमाल होता है। गर्मी के मौसम मे अत्यधिक पसीना के माध्यम से खोए हुए नमक को वापस लाने के लिए भारतीय काले नमक को स्वच्छ पेय मे स्वाद लाने के लिए मिला के पिया जाता है
उच्च रक्तचाप कण्ट्रोल करे-

यह ना केवल स्वाद बढ़ाने का काम करता है बल्कि स्वस्थ्य और सौंदर्य में भी सुधार करता है। इसमे सोडियम की मात्रा कम होती है इसलिये उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए ठीक रहता है। इसके अलावा यह सुंदरता को भी निखारता है।
सावधानी-
जिन लोगों को उच्च रक्तचाप की अधिक शिकायत हो, उनको ये प्रयोग सावधानी पूर्वक करना चाहिए, अगर इस से उनका ब्लड प्रेशर बढ़ें तो फिर इस प्रयोग को नहीं करें.
त्वचा के रोग –

नमक में मौजूद क्रोमियम एक्‍ने से लड़ता है और सल्फर से त्वचा साफ और कोमल बनती है। इसके अलावा नमक वाला पानी पीने से एग्जिमा और रैश की समस्या दूर होती है।
खुजली-

अगर आपकी त्वचा रूखी है और बहुत खुजली हो रही है तो काले नमक के पानी से नहाना  आपको बहुत लाभ पहुंचाएगा।
मोटापा घटाए-

यह पाचन को दुरस्त कर के शरीर की कोशिकाओं तक पोषण पहुंचाता है, जिससे मोटापा कंट्रोल करने में मदद मिलती है।नींद लाने में लाभदायक है।
नींद लाने में सहयोगी-

अपरिष्कृत नमक में मौजूदा खनिज हमारी तंत्रिका तंत्र को शांत करता है। नमक, कोर्टिसोल और एड्रनलाईन, जैसे दो खतरनाक स्ट्रेस  हार्मोन को कम करता है। इसलिये इससे रात को अच्छी नींद लाने में मदद मिलती है।
फटी एड़ियाँ-

फटी एडियों के लिये एक गरम पानी की बाल्टी में काला नमक डाल कर पैरों को डुबोइये। इससे आपकी एडियां ठीक हो जाएंगी।
शरीर को विजातीय पदार्थों से मुक्त करता है-

नमक में काफी खनिज होने की वजह से यह एंटीबैक्टीरियल का काम भी करता है। इस‍की वजह से शरीर में मौजूद खतरनाक बैक्टीरिया का नाश होता है।
हड्डी की मजबूती-

कई लोगों को नहीं पता कि हमारा शरीर हमारी हड्डियों से कैल्शियम और अन्य खनिज खींचता है। इससे हमारी हड्डियों में कमजोरी आ जाती है इसलिये नमक वाला पानी उस मिनरल लॉस की पूर्ती करता है और हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है।

गुरुवार, 14 दिसंबर 2017

शहद में मिलाकर खाएं लहसुन, तेजी से घटेगा मोटापा

शहद में मिलाकर खाएं लहसुन, तेजी से घटेगा मोटापा


वैसे तो रोज लहसुन खाने के कई फायदे हैं। लेकिन लहसुन को अगर शहद के साथ खाएं तो इसके हेल्थ बेनिफिट्स और बढ़ जाते हैं. इस कॉम्बिनेशन को रोज सुबह खाली पेट खाने से मोटापा तेजी से कम होने लगता है. शहद के साथ लहसुन खाने के 7 फायदे

मोटापा करे कम – लहसुन में शहद मिलकर खाने से फैट बर्निंग की प्रोसेस तेज होती है जिससे मोटापा ख़त्म होता है और वजन कम होता है.
दिल की बिमारियों में – इससे कोलेस्ट्रोल कम होता है. कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर में रक्त को मोटा करता है जिससे हमारे शरीर में हार्ट के रोग होने शुरू हो जाते हैं और सबसे खतरनाक रोग हार्ट अटैक भी आ सकता है, तो लहसून के साथ शहद मिलकर खाने से शरीर में दिल की बिमारियों का खतरा कम हो जाता है
किडनी लीवर में – इससे बॉडी के टोक्सिंस दूर होते हैं यह किडनी, लीवर प्रॉब्लम से बचाता है.

स्किन में – इसमें मौजूद एंटीओक्सिडेंटस स्किन सेल्स को रिजनरेट करते हैं. इससे स्किन की चमक बढती है और पिंपल्स दूर होते हैं
शरीर की कमजोरी – इन दोनों में कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं इससे कमजोरी दूर होती है बॉडी को एनर्जी मिलती है

कब्ज में – लहसुन और शहद दोनों में फिबेर्स होते हाँ इससे कब्ज जैसी पेट की प्रॉब्लम दूर होती है.

सर्दी खांसी – लहसून में शहद मिला कर खाने से बॉडी की इमुनिटी बढती है. यह सर्दी- खांसी जैसे इन्फेक्शन से बचाता है

गुरुवार, 2 फ़रवरी 2017

वज़न कम करने का गज़ब का घरेलु नुस्खा पपीते और मिर्च

वज़न कम करने का गज़ब का घरेलु नुस्खा पपीते और मिर्च


मोटापा एक बड़ी समस्या है और साथ ही कई गंभीर बीमारियों का कारण भी। वहीं मोटापा घटाना भी एक चुनौतीपूर्ण काम हैं, लेकिन नामुम्किन कतई नहीं। बशर्ते आपने मोटापा कम करने का सही तरीका चुना हो। तो चलिये इस बार पपाया-ब्लैक पैपर (पपीता और काली मिर्च) कॉम्बो ट्राई करके देखिये। ये असरदार घरेलू नुस्खा आपकी कमर को कुछ इंच ज़रूर कम कर पाएगा। असरदार, सस्ते व कारगर होने के चलते घरेलू नुस्खों को सदियों से अपनाया जाता रहा है। कच्चा पपीता और काली मिर्च का संयोजन भी वजन कम करने के लिए एक कारगर घरेलू गुस्खा है।

पपीते के गुण
पपीता एंटीऑक्सीडेंट जैसे खनिज - पोटेशियम और मैग्नीशियम, विटामिन सी, बी और ई तथा एन्जाइम्स का प्रचुर श्रोत होता है। यही कारण है कि पपीता को गुणों की खान कहा जाता है। यह पेट का बेहतर खयाल रखता है और त्वचा की खूबसूरती को भी निखारता है। यह कई बीमारियों से शरीर को दूर रखने वाला पपीता स्वाद के भी बेजोड़ होता है। नियमित पपीता खाते रहने से कमर की अतिरिक्त चर्बी भी दूर होती है।  

तो यदि आप आप मोटे हैं या पाचनतंत्र में गड़बड़ी है? आंतें कमजोर हैं या भूख नहीं लगती? तो फिर एक अदद पपीता ही आपकी ऐसी दजर्नों समस्याओं का निवारक बन सकता है। पपीते को पेट के लिए तो वरदान माना जाता है। इसमें पाये जाने वाला तत्व पेप्सिन भोजन को पचाने में मदद करता है।

मिर्च  
मिर्च आपके चयापचय दर को बढ़ाने में मदद करती है और कच्चे पपीते की ही तरह एक गर्म मसाला है। यह एक पाचन उत्तेजक है और कच्चे पपीते के साथ मिलकर आंतों की अंदरूनी परत के समुचित कार्य को बढ़ावा देते हुए वजन कम करने में मदद करता है। जी हां, लाल मिर्च आपके वजन को संतुलित रखने में मदद करती है। एक शोध के मुताबिक खाने में लाल मिर्च का पाउडर मिलाने से आपकी मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया तेज होती है और भोजन के बाद शरीर से अवांछित कैलोरी कम होती है और मोटापा नहीं बढ़ता है।

कैसे करें इस नुस्खे (पपीता और काली मिर्च कॉम्बो) का उपयोग?

सबसे पहले एक कच्चा पपीता लें, इसे छीलें और फिर छोटे-छोटे चौकोर आकार में काट लें। अब, थोड़ा पानी लें (जितना पपीते को पकाने के लिये काफी हो) और इसमें थोड़ा नमक (स्वाद के लिये) और फिर दो छोटे चम्मच पीसी मिर्च के मिलायें। अब कटे हुए पपीते के टुकड़ों को इस घोल में डाल दें और पाकाना शुरू करें। प्रभावी परिणाम के लिए दिन में एक बार इस पकवान को खाएं। वैकल्पिक रूप से आप कच्चे पपीते और मिर्च का सलाद भी खा सकते हैं।

मंगलवार, 10 जनवरी 2017

अगर आपकी लगातार बढ़ रही है तोंद, तो आपको हो सकती ये गंभीर बीमारियां

अगर आपकी लगातार बढ़ रही है तोंद, तो आपको हो सकती ये गंभीर बीमारियां


आज के समय में हर दूसरा व्यक्ति मोटापा से परेशान हैं। जिससे निजात पाने के लिए न जाने कितने तरीके अपनाएं जाते है।  मोटापा बढने का मुख्य कारण फास्ट फूड, शारीरिक रुप मे काम कम करना, मसालेदार खाने का सेवन करने के कारण होता है। आप ये नहीं जानते होगे कि ज्यादा मोटा होना आपकी पर्सनालिटी को खराब करने के साथ-साथ आपकी हेल्थ में भी बुरा प्रभाव डालता है।

अधिक मोटे होने से आपको डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हार्ट संबंधी बीमारियां, कैंसर, गठिया जैसी कई समस्याओं का समना करना पड़ सकता है। अगर आप मोटे है, तो जल्द ही आपना वजन कम करने की कोशिश करे। जानिए मोटे होने से आपको क्या बीमारियां हो सकती है।

कैंसर का खतरा
एक शोध के अनुसार मोटापे के कारण ही स्तन कैंसर, कमर का कैंसर या आंतो के कैंसर होता है। पूरी दुनिया में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं। इनमें सबसे ज्यादा मामले ब्रेस्ट और कोलन कैंसर होने की आशंका रहती है।

ज्वाइंट पेन
जो लोग मोटे होते है उनको अधिकतर ज्वाइंट पैन की समस्या ही होती है। जिसके कारण बैठने उठने में बहुत ही तकलीफों का सामना करना पड़ता है। जोड़ो में अधिक भार पड़ने और कार्टिलेज की मात्रा में कमी होने से आर्थराइटिस की भी समस्या हो सकती है।

डिप्रेशन में चले जाना
मोटापे के कारण आप कई लोग डिप्रेशन के शिकार भी हो जाते हैं। जिसके कारण वह कभी-कभी सुसाइड तक करने की कोशिश भी करते है। एक रिपोर्ट के अनुसार मोटापा और डिप्रेशन एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। अगर आप में इन दोनों में से किसी एक की मौजूदगी है तो दूसरा खुद ही आपके पास आ जाएगा।

डायबिटीज
अधिकतर लोगों को डायबिटीज की समस्या मोटापे के कारण होती है। इसका मुख्य कारण खाने में अधिक मात्रा में ग्लूकोज लेना है। जो कि डायबिटीज का कारण बन जाता है।

हार्ट संबंधी समस्या
अगर आप मोटे है, तो आपको हार्ट संबंधी बीमारियां होने की दोगुनी आशंका होती है। इसका मुख्य कारण आपका वजन बढने से दिल शरीर के बाकी हिस्सो में ब्लड ठीक ढंग से नहीं पहुंचा पाता है। जिसके कारण आपको हार्ट अटैक भी हो सकता है। इसके अलावा मोटापे के कारण दिल के आसपास की धमनियों में चर्बी जमा हो जाती है। जिसके कारण शरीर में वसा की मात्रा अधिक हो जाने से सोडियम इकट्ठा हो जाती है। जो कि दिल संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ा देता है।

आंतो का कमजोर होना
अगर आपका मोटापा दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है, तो आपको आंते कमजोर होती जाएगी। जिसके कारण आपको आंत संबंधी कई बीमारियां घेर सकती है।

शनिवार, 3 मार्च 2018

महिलाओं की मोटी कमर को पतला करने के अचूक उपाय

महिलाओं की मोटी कमर को पतला करने के अचूक उपाय


यदि आपका लगातार वजन बढ़ रहा है तो सावधान हो जाइए। कमर और पेट का ये बढ़ता साइज कई बीमारियों का कारण बन सकता है। यदि आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे छोटे-छोटे नुस्खे, जिन्हें अपनाकर आप बिना ज्यादा मेहनत किए वजन को नियंत्रित कर सकते हैं।

– पुदीने की ताजी हरी पत्तियों की चटनी बनाकर चपाती के साथ खाएं। पुदीने वाली चाय पीने से भी वजन नियंत्रण में रहता है।

– रोज खाने से पहले गाजर खाएं। खाने से पहले गाजर खाने से भूख कम हो जाएगी। आधुनिक विज्ञान भी गाजर को मोटापा कम करने में कारगर मानता है।

– आधा चम्मच सौंफ को एक कप खौलते पानी में डाल दें। 10 मिनट तक इसे ढककर रखें। ठंडा होने पर इस पानी को पिएं। ऐसा तीन माह तक लगातार करने से वजन कम होने लगता है।

– पपीता नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी कम होती है। 

– दही का खाने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

– छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।

–  ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर, आलू और चावल में अधिक कार्बोहाइड्रेट होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।

–  केवल गेहूं के आटे की रोटी की बजाय गेहूं, सोयाबीन और चने के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।

– सब्जियों और फलों में कैलोरी कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला और चीकू न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है।

– आंवले व हल्दी को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लेंं। कमर एकदम पतली हो जाएगी।

– मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च या काली मिर्च को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है।

– लटजीरा या चिरचिटा के बीजों को एकत्र कर लें। किसी मिट्टी के बर्तन में हल्की आंच पर भूनकर पीस लें। एक-एक चम्मच दिन में दो बार फांकी लें, बहुत फायदा होगा।

– दो बड़े चम्मच मूली के रस में शहद मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पिएं। ऐसा करने से 1 माह के बाद मोटापा कम होने लगेगा।

– मालती की जड़ को पीसकर शहद मिलाकर खाएं और छाछ पिएं। प्रसव के बाद होने वाले मोटापे में यह रामबाण की तरह काम करता हैै।

– खाने के साथ टमाटर और प्याज का सलाद काली मिर्च व नमक डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, पोटैशियम, लाइकोपीन और ल्यूटिन मिलेेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।

– रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पिएं। इस घोल को पीने से शरीर से वसा की मात्रा कम होती है।

– हरड़ और बहेड़ा का चूर्ण बना लें। एक चम्मच चूर्ण 50 ग्राम परवल के जूस (1 गिलास) के साथ मिलाकर रोज लें, वजन तेजी से कम होने लगेगा।

– करेले की सब्जी खाने से भी वजन कम करने में मदद मिलती है। सहजन के नियमित सेवन से भी वजन नियंत्रित रहता है।

शुक्रवार, 23 मार्च 2018

जानिए बढ़े हुए पेट की चर्बी को कम करने के आसान उपाए, लड़कियां ध्यान से पढ़ें

जानिए बढ़े हुए पेट की चर्बी को कम करने के आसान उपाए, लड़कियां ध्यान से पढ़ें


आज के इस समय में सुंदर दिखना हर दुसरे इंसान का सपना है. ऐसे में की बीमारी अपने आप में एक बहुत गंभीर विषय बन चुकी है. बहुत सारे लोग अपने वजन बढ़ा लेते हैं मगर उस वजन को कम कर पाना उनके लिए एक चुनौती बन जाता है. मोटापा, पेट की चर्बी लड़कों के लिए ही नहीं बल्कि लड़कियों के लिए भी परेशानी का मुख्य कारण बन जाता है. इससे व्यक्ति की ख़ूबसूरती पर दाग लग जाता है. मोटापा इंसान की सुंदरता पर ही ऊँगली नहीं उठाता बल्कि, उसके लिए बिमारियों का घर बन जाता है.

आज की युवा पीढ़ी अपने खान पान के कारण मोटापे का अधिक शिकार हो रही है. ऐसे में पेट की बढ़ रही चर्बी अपने आप में बहुत बड़ी समस्या बनती जा रही है. इस चर्बी को घटाने के लिए बहुत सारे लोग जिम ज्वाइन करते हैं, एक्सरसाइज करते हैं और हर प्रकार के महंगे प्रोडक्ट्स का सेवन करते हैं, मगर इन सब के बावजूद भी उनका मोटापा कम नहीं हो पाता. मगर आज के इस आर्टिकल में हम आपको पेट की चर्बी गलाने के कुछ ऐसे घरेलू उपाए बताने जा रहे हैं जिन्हें अपना कर आप कुछ ही हफ़्तों में अपना लुक बदल सकते हैं. इसके लिए आपको ज्यादा पैसे खर्च करने की भी कोई जरूरत नहीं पड़ेगी. तो चलिए जानते हैं उन उपायों के बारे में.

शहद को एक प्रकार की आयुर्वेदिक औषधि माना जाता है. अगर आप हर रोज़ सुबह उठ कर खाली पेट नींबू और शहद के रस का मिश्रण पानी में मिला कर पी लें तो इससे कुछ ही दिनों में आप अपने वजन में कमी महसूस करने लगेंगे. इसके इलावा अगर आप 5 ग्राम जीरा पाउडर और शहद की कुछ बूंदे सुबह खाली पेट पानी में मिला कर सेवन करें तो इससे आपके वजन में तेज़ी से कमी आएगी. शहद, नींबू और जीरा तीनो मार्किट में आसानी से उपलब्ध हैं.

मोटे इंसानों के लिए नींबू एक वरदान की तरह सिद्ध हो सकता है. अगर आप हर रोज़ भोजन ग्रहण करने के साथ साथ नींबू का सेवन करें तो इससे कुछ ही दिनों में आपके पेट की चर्बी कम हो जाएगी. क्यूंकि, नींबू एकमात्र ऐसा पदार्थ है, जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को नष्ट कर देता है तथा भोजन को गला कर पाचन योग्य बना देता है. इसलिए आज से नींबू का सेवन करना शुरू कर दें ताकि आपका मोटापा जल्दी दूर हो पाए.

मंगलवार, 9 मई 2017

खाने में डालिए ये चीज़े और बिना किसी एक्सरसाइज़ के कीजिए पेट की चर्बी कम

खाने में डालिए ये चीज़े और बिना किसी एक्सरसाइज़ के कीजिए पेट की चर्बी कम


अनियमित खान- पान और हर चीज़ में मिलावट इंसान को और बीमार करता जा रहा है। आज हर व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से जुझ रहा है जिसमें से सबसे आम परेशानी है- मोटापा। जो कि दिखता भले ही सामान्य है लेकिन होता बहुत ही खतरनाक है। इस मोटापे को कम करने के लिए लोग न जाने क्या- क्या तरीके आज़मा लेते हैं लेकिन उनका मोटापा कम होने का नाम ही नहीं लेता।

लोग पसीना बहा- बहा कर थक जाते हैं लेकिन उनके मोटापे पर कोई फर्क नहीं पड़ता। ऐसे में अगर कोई आपसे ये कहे कि आपको अपनी अनचाही चर्बी कम करने के लिए खाना छोड़ने की या फिर जिम में लगातार पसीना बहाने कोई ज़रुरत नहीं है तो शायद ये बात सुनकर खुशी से उछल पड़ेंगे।

तो हम आपको बता दें कि आपके उछने का वक्त आ गया है क्योंकि आज हम आपके लिए एक ऐसा चमत्कारी उपाय लाए हैं जिसे अपनाने के लिए ना ही आपको भारी भरकम कसरत करनी होगी और ना ही भूखा रहना होगा। बल्कि इस उपाय में आपको सिर्फ खाना ही खाना होगा।

जी हां, ये कोई मज़ाक नहीं बल्कि बिल्कुल सच है क्योंकि शायद आप ये नहीं जानते कि हमारे किचन में रखे मसाले जो कि हमारे भोजन को स्वादिष्ट बनाते हैं वही हमारे शरीर को भी फिट बना सकते हैं। क्योंकि इनमें मौजूद कुछ खास गुण शरीर के मेटाबोलिज़्म की प्रक्रिया को तेज़ कर देता हैं जिसके कारण शरीर का मोटापा घटता है और साथ ही वज़न में भी गिरावट होता है। वैसे आपको बता दें कि नियमित रुप से इन मसालों का सेवन केवल 30 दिनों में आपका मोटापा कम सकता है।

तो आइए जानते हैं कि मोटापे को कम करने के लिए हमें कौन- कौन से मसालों का सेवन करना चाहिए -

हल्दी : वैसे तो हल्दी हर जख्म को भर देता है लेकिन साथ ही यह मोटापे को भी तेज़ी से कम करता है। बता दें कि हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नामक तत्व शरीर की चर्बी को तेज़ी से बर्न करता है।
ये भी पढ़िए : हल्‍दी वाला दूध बनाने का सही तरीका और सावधानियाँ

कलौंजी : कलौंजी में ज़्यादा मात्रा में फाइबर होने के कारण व्यक्ति को लम्बे समय तक भूख नहीं लगती। साथ ही यह कमर की चर्बी को भी तेज़ी से घटाने में मदद करता है।
ये भी पढ़िए : मौत को छोड कर हर मर्ज की दवाई है यह औषधि

इलायची : इलायची में सिनेओले नामक तत्व होता है जो कि मेटाबोलिज्म की प्रक्रिया को बढ़ा देता है जिसके कारण चर्बी घटने लगती है।
ये भी पढ़िए : जानिये रात को इलायची खाकर गर्म पानी पीने से क्या होता है

काली मिर्च : काली मिर्च में मौजूद पेपरीन, कमर के फैट को बर्न करता है।

अदरक : अदरक में जींजरॉल नामक तत्व पाया जाता है जिसके कारण पेट भरा- भरा सा लगता है और हमें भूख नहीं लगती।
ये भी पढ़िए : गर्भपात से लेकर ये घातक परिणाम हो सकते हैं अदरक की चाय के!

जीरा : एंटीऑक्सीडेन्ट युक्त जीरा मेटाबोलिज़्म को बढ़ाता है जिसकी वजह से वजन में तेजी से गिरावट आती है।
ये भी पढ़िए : चुटकी बजाते सेकण्ड्स में ज़ुकाम हो जायेगा छू मंतर।

दालचीनी : इसमें मौजूद सिनेमेल्डिहाइड फैट को तेज़ी से घटाता है।

राई : राई भोजन में मौजूद मेटाबॉलिक रेट को कम करता है, जिससे वज़ह घटता है।


सौंफ : इसमें मौजूद फाइबर भूख को कम करता है जिसके कारण शरीर की चर्बी तेज़ी से कम होने लगती है।

तेजपत्ता : फाइबर युक्त तेजपत्ता पेट की अनचाही चर्बी को घटाता है।

मंगलवार, 8 अगस्त 2017

कमर और पेट का ये बढ़ता साइज कई बीमारियों का कारण बन सकता है

कमर और पेट का ये बढ़ता साइज कई बीमारियों का कारण बन सकता है


आपका लगातार वजन बढ़ रहा है तो सावधान हो जाइए। आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे छोटे-छोटे नुस्खे, जिन्हें अपनाकर आप बिना ज्यादा मेहनत किए वजन को नियंत्रित कर सकते हैं:--
* पुदीने की ताजी हरी पत्तियों की चटनी बनाकर चपाती के साथ खाएं। पुदीने वाली चाय पीने से भी वजन नियंत्रण में रहता है।
* आधा चम्मच सौंफ को एक कप खौलते पानी में डाल दें। 10 मिनट तक इसे ढककर रखें। ठंडा होने पर इस पानी को पिएं। ऐसा तीन माह तक लगातार करने से वजन कम होने लगता है।
* पपीता नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी कम होती है।
* दही का खाने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।
* छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।
* ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर, आलू और चावल में अधिक कार्बोहाइड्रेट होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।
* केवल गेहूं के आटे की रोटी की बजाय गेहूं, सोयाबीन और चने के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।
* सब्जियों और फलों में कैलोरी कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला और चीकू न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है।
* आंवले व हल्दी को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लेंं।‪#‎कमर‬ एकदम पतली हो जाएगी।
* मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च या काली मिर्च को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है।
* लटजीरा या चिरचिटा के बीजों को एकत्र कर लें। किसी मिट्टी के बर्तन में हल्की आंच पर भूनकर पीस लें। एक-एक चम्मच दिन में दो बार फांकी लें, बहुत फायदा होगा।
* दो बड़े चम्मच मूली के रस में शहद मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पिएं। ऐसा करने से 1 माह के बाद ‪मोटापा‬ कम होने लगेगा।
* मालती की जड़ को पीसकर शहद मिलाकर खाएं और छाछ पिएं। प्रसव के बाद होने वाले मोटापे में यह रामबाण की तरह काम करता हैै।
* खाने के साथ टमाटर और प्याज का सलाद काली मिर्च व नमक डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, पोटैशियम, लाइकोपीन और ल्यूटिन मिलेेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।
* रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पिएं। इस घोल को पीने से शरीर से वसा की मात्रा कम होती है।
* गुग्गुल गोंद को दिन मे दो बार पानी में घोलकर या हल्का गुनगुना कर सेवन करने से‪#‎वजन‬ कम करने में मदद मिलती है।
* हरड़ और बहेड़ा का चूर्ण बना लें। एक चम्मच चूर्ण 50 ग्राम परवल के जूस (1 गिलास) के साथ मिलाकर रोज लें, वजन तेजी से कम होने लगेगा।
* करेले की सब्जी खाने से भी वजन कम करने में मदद मिलती है। सहजन के नियमित सेवन से भी वजन नियंत्रित रहता है।
* सौंठ, दालचीनी की छाल और काली मिर्च (3 -3 ग्राम) पीसकर चूर्ण बना लें। सुबह खाली पेट और रात सोने से पहले पानी से इस चूर्ण को लें, मोटापा कम होने लगेगा।