अचूक उपाय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
अचूक उपाय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 9 मई 2018

घर में धन और खुशियों की होगी बरसात, बस करें चुटकी भर नमक का ऐसे इस्तेमाल

घर में धन और खुशियों की होगी बरसात, बस करें चुटकी भर नमक का ऐसे इस्तेमाल


नमक का जीवन में बहुत उपयोग है। दाल या सब्जी में नमक ज्यादा हो जाए तो नुकसान और कम हो तो भी नुकसान। नमक हमारी आयु बढ़ाता भी है और नमक ही आयु घटाता भी है। नमक का उपयोग करना बहुत कम लोग जानते हैं।लेकिन हम आपको यहां खाद्य पदार्थों में उपयोग हेतु नमक के प्रयोग नहीं बताने जा रहे हैं। वैसे तो नमक के ढेरों उपाय हैं, लेकिन हम तो नमक के ऐसे चमत्कारिक उपाय बताएंगे जिन्हें जानकर शायद आप हैरान रह जाएंगे। नमक कई प्रकार के होते हैं: सेंधा नमक (पहाड़ी नमक), समुद्री नमक, काला नमक, सामान्य नमक आदि। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नमक को चंद्र और शुक्र का प्रतिनिधि माना जाता है। नमक को कुछ लोग राहु का प्रतीक भी मानते हैं।

चुटकी भर नमक के ये फायदे भी हो सकते हैं, आप जानकर वाकई में हैरान रह जाएंगे और इसके लिए आपको बहुत कुछ करने की जरूरत भी नहीं है। नमक ऐसी चीज है जो हर किसी के किचन में होती है, मगर यह सिर्फ खाने में डालने के ही काम नहीं आती। इसके कई और फायदे भी हैं, जो हमारे पूरे घर की सुख-समृद्धि से जुड़े हैं और हां इसके लिए आपको नमक खाने की नहीं बल्कि उसका कुछ इस तरह इस्तेमाल करने की जरूरत है।
चुटकी भर नमक के ये फायदे भी हो सकते हैं, आप जानकर हैरान रह जाएंगे। अब हो सकता है आपको ये अंधविश्वास की चीजें लगें, मगर ज्योतिष और वास्तु शास्त्र में घर की सुख-समद्धि व अन्य कई समस्याओं के लिए नमक से जुड़े ये उपाय बताए गए हैं।

सावधानी और सलाह :

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नमक को चंद्र और शुक्र का प्रतिनिधि माना जाता है। नमक को यदि आप किसी स्टील या लोहे के बर्तन में रखते हैं तो यह चंद्र और शनि का मिलन होगा जो कि बहुत ही घातक सिद्ध होता है। यह रोग और शोक का कारण बन जाता है। नमक को किसी प्लास्टिक के पात्र में भी नहीं रखना चाहिए। नमक को सिर्फ कांच के पात्र में रखने से ही यह बुरा असर नहीं देता है।

नमक का गिरना अच्छा नहीं माना जाता। बुल्गारिया, यूक्रेन और रोमानिया जैसे देशों में इसे दुर्भाग्य और विवाद का सूचक समझा जाता है। भारत में इसका गिरना अशुभ माना गया है। नमक को गिराने से चंद्रमा और शुक्र दोनों कमजोर हो जाते हैं। * भोजन पकाते समय भोजन को चखे नहीं। उससे भोजन की पवित्रता नष्ट होती है और दरिद्रता आती है। नमक कम हो जाएगा तो बाद में डाल दिया जाएगा। भगवान को भोजन नैवेद्य लगाने के बाद ही भोजन को चखे।> > * नमक को सीधे सीधे किसी व्यक्ति के हाथ में मत दीजिए। नमक का पैकेट भी देने से बचना चाहिए। ऐसा मानते हैं कि इससे व्यक्ति के संबंध खराब होते हैं।

ध्यान रखें भोजन पकाते समय भोजन को चखे नहीं। उससे भोजन की पवित्रता नष्ट होती है और दरिद्रता आती है। नमक कम हो जाएगा तो बाद में डाल दिया जाएगा। भगवान को भोजन नैवेद्य लगाने के बाद ही भोजन को चखे।

चुटकी भर नमक का बस ऐसे करें इस्‍तेमाल :

दरिद्रता दूर करने हेतु : सप्ताह में एक बार गुरुवार को छोड़कर पोंछा लगाते समय पानी में थोड़ा साबुत खड़ा नमक (समुद्री नमक) मिला लेना चाहिए। इस उपाय से भी घर की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है।

धन का प्रवाह बनाए रखने हेतु : घर में धन का प्रवाह बनाए रखने के लिए कांच का एक गिलास लेकर उसमें पानी और नमक मिलाकर घर के नैऋत्य कोने में रख दें और उस के पीछे लाल रंग का एक बल्व लगा दें, जब भी पानी सूखे तो उस गिलास को साफ करके दोबारा नमक मिलाकर पानी भर दें।

धन प्राप्ति और बरकत हेतु : नमक को कांच के पात्र में रखें और उसमें चार-पांच लोंग डाल दें। इससे धन की आवक शुरू होने लगेगी और घर में बरकत भी बनी रहती है। इससे एक ओर जहां नमक में सुगंध बनी रहेगी वहीं इस उपाय से कभी धन की कमी नहीं होगी।

बाथरूम और टॉयलेट दोष से मुक्ति : नमक हर तरह की गंदगी को हटाने वाला रसायन है। एक कांच की कटोरी में खड़ा नमक (समुद्री नमक) भरें और इस कटोरी को बाथरूम में रखें। इस उपाय से भी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो सकती… टॉयलेट में कांच के बाऊल में क्रिस्टल साल्ट (दरदरा नमक) भर कर रखें, 15 दिन बाद बदल दें, पहला टाॅॅयलेट के सिंक में डाल दें। अगर किसी कारण टॉयलेट उत्तर-पूर्व मेंहो तो इसके दरवाजे पर रोअरिंग लायन का फोटो पेस्ट कर दें।

वास्तुदोष मिटाएं नमक से : मिला जुला वास्तुदोष हो तो जिसे आप बदल नहीं सकते। मन में खिन्नता, भय, चिंता होने से, दोनों हाथों में साबुत नमक भर कर कुछ देर रखे रहें, फिर वॉशबेसिन में डालकर पानी से बहा दें। नमक इधर उधर न फेंके।

नजर उतारने के लिए : यदि आपको या किसी बच्चे को किसी की नजर लग गई है तो सात बार एक चुटकी नमक उस पर से उतारकर उसे बहते पानी में बहा दें। नल खोलें और उसे नल के बहते पानी में डाल दें। इससे नजर दोष दूर हो जाएगा। व्यक्तिगत बाधा के लिए एक मुट्ठी पिसा हुआ नमक लेकर शाम को अपने सिर के ऊपर से तीन बार उतार लें और उसे दरवाजे के बाहर फेंकें। ऐसा तीन दिन लगातार करें। यदि आराम न मिले तो नमक को सिर के ऊपर वार कर शौचालय में डालकर फ्लश चला दें। निश्चित रूप से लाभ मिलेगा।

शनि के दुष्प्रभाव से बचें : करते समय आपको दाल या सब्जी आदि में नमक कम लगे तो उपर से नमक न डालें। ऐसे में काला नमक तथा मिर्च कम होने पर काली मिर्च का प्रयोग करें। यदि आप ऐसे नहीं करेंगे तो इससे शनि का दुष्प्रभाव शुरू हो जाएगा।

कुंडली में चंद्र और मंगल कमजोर है तो : अगर कुंडली में चंद्र कमजोर है तो समुद्री या सामान्य नमक का भोजन में इस्तेमाल न करें बल्कि सेंधा नमक का इस्तेमाल करें। इससे आप रक्तचाप की समस्या से बचे रहेंगे।

मन की बैचेनी मिटाएं : यदि आपका मन बहुत अशांत रहता है। विचार चलते रहते हैं किसी प्रकार की चिंता से ग्रस्त रह रहे हैं तो इससे आपका स्वास्थ्य गिरता जाएगा। नमक मिले हुए जल से स्नान करने से शरीर तो शुद्ध होगा ही साथ ही मन की बैचेनी भी शांत हो जाएगी।

गृह क्लेश से बचने हेतु : यदि पति और पत्नी में किसी भी बात को लेकर अनबन है या गृहक्लेश है या किसी भी प्रकार की मानसिक अशांति है तो सेंधा या खड़े नमक का एक टुकड़ा शयनकक्ष के एक कोने में रखें, इससे नकारात्मक ऊर्जा दूर होगी। इस टुकड़े को महीने भर के बाद बदल दें और दूसरा नया टुुकड़ा रख दें।

रोग से मुक्ति हेतु : सोते समय अपना सिरहाना पूर्व की ओर रखें। अपने सोने के कमरे में एक कटोरी में सेंधा नमक के कुछ टुकडे रखें। इससे आपकी सेहत ठीक रहेगी। रोग से बचने के लिए साधारण नमक का कम ही उपयोग करना चाहिए। उसकी जगह सेंधा नमक या काले नमक का उपयोग भोजन के दौरान करना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति लंबी बीमारी से ग्रसित हैं तो उसके सिरहाने कांच के एक बर्तन में नमक रखें। एक सप्ताह बाद उस नमक को बदल कर दोबारा नमक रख दें। धीरे धीरे उस व्यक्ति की सेहत में सुधार होने लगेगा।
गले के कैंसर के लक्षण और भूलकर भी न करें इसे नज़रअंदाज़

गले के कैंसर के लक्षण और भूलकर भी न करें इसे नज़रअंदाज़


ये तो सब जानते है कि कैंसर एक ऐसी बीमारी है, जिसका आसानी से पता नहीं चलता. जिसके चलते इंसान को अपनी जिंदगी खोनी पड़ती है. इसलिए आज हम आपको गले के कैंसर के बारे में कुछ जरुरी बातें बताना चाहते है. जी हां कई बार इंसान को गले में दर्द होता है और वो इसे सामान्य दर्द समझ कर नजरअंदाज कर देता है. हालांकि ये कैंसर का लक्षण भी हो सकता है. मगर जब तक उसे ये बात पता चलती है, तब तक बहुत देर हो जाती है. ऐसे में ये जरुरी है कि वक्त पर इस बीमारी को पहचान कर इसका सही इलाज करवाया जाए, ताकि इंसान का जीवन बच सके. बरहलाल आज हम आपको गले के कैंसर के कुछ शुरुआती लक्षणों के बारे में बताने जा रहे है. जिसके तहत आप शुरुआत में ही इस रोग से आसानी से छुटकारा पा सकेंगे.

1. निगलने में तकलीफ होना..  बता दे कि ये गले में कैंसर होने का पहला संकेत है. हालांकि आम तौर पर लोग खाना निगलने में तकलीफ होने पर नरम खाना खाने की कोशिश करते है. मगर ये गलत है, क्यूकि ऐसी समस्या होने पर आपको डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए.

2. आवाज में भारीपन आना..  गौरतलब है कि जिनके गले में कैंसर होता है उनकी आवाज में बदलाव आना और गले का बैठ जाना आदि लक्षण दिखाई देते है.
3. कान, गले और सर में दर्द होना..  गौरतलब है कि अगर लम्बे समय तक आपके कान, गले और सर में दर्द बना रहे, तो इसे बिलकुल भी नजरअंदाज न करे. वो इसलिए क्यूकि ये गले के कैंसर का सबसे शुरुआती लक्षण है. जी हां दरअसल कैंसर होने के बाद गले की ग्रंथिया सूज जाती है और दर्द करने लगती है.

4. कफ और गले में खिचखिच का होना..  बता दे कि अगर गले में काफी लम्बे समय से खराश की समस्या हो रही है और खांसने के बाद खून भी निकलता है, तो आपको सावधान होने की जरूरत है. ऐसे में जरुरी नहीं कि ये कैंसर ही हो, लेकिन आपको डॉक्टर को जरूर दिखा देना चाहिए.

5. लगातार खांसी का आना..  अब यूँ तो आम तौर पर लोग खांसी को हल्के में ले लेते है और इसे नजरअंदाज कर देते है. मगर यदि आपको काफी लम्बे समय से लगातार खांसी आ रही हो तो, इसे नजरअंदाज न करे, क्यूकि ये कैंसर का संकेत हो सकता है. इसलिए एक बार डॉक्टर को जरूर दिखाएं.

6. तेजी से वजन का कम होना.. अब यूँ तो बिना कोशिश किये किसी इंसान का वजन आसानी से कम नहीं होता, लेकिन इसके बावजूद भी अगर आपका वजन तेजी से कम हो रहा है तो आपको सावधान होने की जरूरत है , क्यूकि ये अच्छी बात नहीं है. बता दे कि ये थायराइड होने का संकेत भी हो सकता है और अगर इसका सही इलाज न किया जाये, तो इससे गले का कैंसर भी हो सकता है.

बरहलाल अगर आपको खुद में या अपने परिवार के किसी सदस्य में ऐसे लक्षण दिखाई दे रहे है तो तुरंत उन्हें डॉक्टर को दिखाए, कही ऐसा न हो कि बहुत देर हो जाये. जी हां यदि ये लक्षण तीन हफ्तों से ज्यादा दिखाई दे, तो जांच बेहद जरुरी है. गौरतलब है कि जब तक गले का कैंसर शरीर के बाकी हिस्सों में नहीं फैलता तब तक इसे आसानी से सर्जरी से हटाया जा सकता है. मगर यदि ये फ़ैल जाए, तो इसका इलाज करना काफी मुश्किल हो जाता है.

भूलकर भी न करें इन वस्तुओं का दान, नहीं तो हो जायेगें बर्बाद !

भूलकर भी न करें इन वस्तुओं का दान, नहीं तो हो जायेगें बर्बाद !


हिन्दु धर्म में दान की महत्वत्ता बतायी गयी है। दान को ही कलियुग में धर्म का आधार माना गया है। इसलिये समय समय पर लोग दान पुण्य करते रहते है। कहा जाता है जो व्यक्ति जितना दान करता है उसे उतना ही पुण्य प्राप्त होता है। लेकिन कई बार जाने अनजाने में हम उन वस्तुओं का दान कर देतें है जिससे पुण्य के बजाय पाप के भागी बनते है और इन वस्तुओं को दान करना अशुभ माना जाता है। इन वस्तुओं को दान करने से आपके घर में दरिद्रता आती है। इसलिये हम आज आपको बता रहें है कि किन वस्तुओं को दान करने से बचना चाहिये।
 

1. झाडु
हिन्दु धर्म में मान्यता है कि झाडु में लक्ष्मी का वास होता है अगर आप किसी को भी अपनी झाडु देते है तो आप उन्हें अपने घर की लक्ष्मी देते है। इससे लक्ष्मी नाराज हो जाती है और आपके घर में दरिद्रता आ जाती है। इसलिये भूलकर भी कभी झाडु का दान नहीं करना चाहिये।
 

2. तेल
वैसे तो शनिवार के दिन तेल दान करने का बडा महत्व है इससे शनिदेव प्रसन्न होते है लेकिन अगर आप उपयोग किया हुआ तेल दान करते है तो इससे शनिदेव नाराज हो जाते है इसलिये उपयोग में लाये गये तेल का कभी दान न करें।

3. कपडे
कपडों का दान करने का बडा महत्व है। लेकिन अगर आप पहने हुये कपडे किसी को दान करते है तो यह अशुभ फलदायक है इससे घर में धन हानि होती है। इसलिये जब भी कभी किसी को नये कपडे ही दान करें। पुराने कपडे दान करना आपके लिये नुकसानदायक होता है।
 

4. प्लास्टिक की वस्तुए
अगर किसी को आप प्लास्टिक की वस्तुएॅ दान करते है तो ये मान लीजिये आप अपने घर में दरिद्रता को आमंत्रण दे रहे है। इसलिये भूलकर भी कभी प्लास्टिक की वस्तुओं को दान देने से बचें। यह अमंगलकारी होता है।

5. हथियार या धारदार वस्तुए
कभी भी किसी को हथियार या धारदार वस्तुएॅ जैसे चाकू, तलवार आदि का दान नहीं करें। इससे घर में कलह का माहौल बनता है और घर की शांति नष्ट होती है। साथ ही इन धारदार वस्तुएॅ के दान करने से घर में आपसी संबध भी टूट सकते है।
 

6. स्टील के बर्तन
कभी भी किसी भी व्यक्ति को आप भूलकर भी स्टील के बर्तनां का दान न करें। स्टील के बर्तन दान करने से घर में कलह का माहौल बनता है। और घर में तनाव की स्थिती हमेशा बनी रहती है। इसलिये स्टील के बर्तनों को कभी दान नहीं करना चाहिये।
 

7. टूटी हुयी वस्तुए
दान करते वक्त एक बात का ध्यान रखना चाहिये कि जिस वस्तु का आप दान कर रहे है वह टूटी फूटी ना हो। टूटी हुयी वस्तुओं के दान करने से सौभाग्य दुर्भाग्य में बदल जाता है और बने हुये काम भी बिगडने लगते है। साथ ही समाज में अपमानित भी होना पडता है।

शनिवार, 5 मई 2018

… तो इस कारण पुराने ज़माने में रानी महारानियाँ दिखती थी इतनी सुंदर और हॉट

… तो इस कारण पुराने ज़माने में रानी महारानियाँ दिखती थी इतनी सुंदर और हॉट


सुन्दरता हर किसी को पसंद होती हैं| खासकर महिलाओं के मामले में तो ये बात पुरुषों से अधिक सत्य है| आज के ज़माने में तो बाज़ार में बहुत सी ब्यूटी क्रीम उपलब्ध हैं| लेकिन पुराने ज़माने में जब रानियों के पास इस तरह की कोई   ब्यूटी क्रीम भी नही होती थी तो जानिए वो क्या करती थी खुद को सुंदर, आकर्षक व फिट बनाये रखने के लिए|क्योंकि उस समय के वो आयुर्वेदिक उपाय आज के ज़माने में भी उतने ही काम आते हैं| और इनके कोई साइड इफ़ेक्ट भी नही होते |

रानियों के स्नान के लिए विशेष जल तैयार किया जाता था
रानियां स्नान करते समय पानी में चन्दन, दूध, केसर और गुलाब जल का मिश्रण बना कर मिलाती थी| इस जल से स्नान करने पर उनकी त्वचा में निखार और कसाव आता था| उस समय रानियां बहुत से आभूषण पहनती थी, जो उनकी खूबसूरती में चार चांद लगाते थे| इसके अलावा वो अपने कपड़ों पर फूलों के रस से बने इत्र का उपयोग करती थी|

केसर का प्रयोग 
प्राचीन समय में रानियाँ अपने शरीर की सुन्दरता को बढ़ाने के लिए केसर को ब्यूटी प्रोडक्ट के तौर पर इस्तेमाल करती थी| केसर को नारियल के तेल में मिलाकर शरीर पर इसका लेप करती थी| आज भी बहुत सी महिलाये इसको इस्तेमाल करती हैं| इसके अलावा केसर को दूध में भिगोकर नहाने से पहले चेहरे पर लगाया जा सकता है|

पुदीने के पत्तों का इस्तेमाल 
रानियाँ अपनी सुन्दरता को बढ़ाने के लिए पुदीने की पत्तियों को पीसकर हाथो से चेहरे पर लगाती थी| यह बेस्ट स्किन  क्लीनिंग का काम करता था| आज भी यह आसानी से उपलब्ध हो जाता है| आप बेझिझक इसका प्रयोग कर सकते हैं| यह चेहरे के दाग-धब्बे व पिम्पल को हटाकर आपको आकर्षक लुक देगा|

शहद
प्राचीन काल में रानियाँ शहद का इस्तेमाल भी करती थी| शहद एक नेचुरल मोईसरैजेर का काम करता है| यह आपके चेहरे की रंगत को निखारता है| आज भी बहुत से लोग इसे चेहरे पर प्रयोग करते हैं| लेकिन शहद मिलावटी नही होना चाहिए|

भोजन व फिट रखना
पुराने समय में रानियां फल, सब्जियों, फलों का रस, अखरोट, जैतून का तेल और मांस-मछली का सेवन करती थी| इनकी ऐसी डाइट उन्हें सेहतमंद बनाने के साथ-साथ खूबसूरत रखने में भी मदद करती थी| प्राचीन समय में खुद को फिट रखने के लिए रानियां तलवार चलना, तीरंदाजी करना, घुड़सवारी करना, शिकार खेलना और व्यायाम करनाआदि किया करती थी| इन तरीकों से वो खुद को फिट और सुंदर बनाए रखती थी|

शुक्रवार, 4 मई 2018

शादी में हो रहा है विलम्ब तो कुंडली में हो सकते हैं ये दोष

शादी में हो रहा है विलम्ब तो कुंडली में हो सकते हैं ये दोष


किसी भी माता-पिता के लिए उसके बच्चों के विवाह में देरी होना बहुत ही चिंता का विषय होता है| समय पर शादी न होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे-कुंडली दोष होना, मांगलिक दोष, ग्रहों का उल्ट होना या फिर कुंडली में पितृदोष होना| कारण चाहे जो भी हो ये आपकी या आपके किसी रिश्तेदार की शादी में इस प्रकार अड़चन पैदा करते हैं कि या तो कहीं  कोई रिश्ता नही आता और रिश्ता आ भी जाता है बात नही बन पाती| कई बार अपनी लड़की की शादी के लिए बहुत धक्के खाने के बाद भी योग्य वर या लड़के के  लिए योग्य कन्या नही मिल पाती | ज्योतिषाचार्य के अनुसार इनका कारण  अच्छे से निवारण करना आवश्यक है |
 

विवाह में देरी के कारण

मांगलिक दोष: शीघ्र विवाह के उपाय में मांगलिक दोष का समाधान होना आवश्यक होता है| यदि किसी जातक की कुंडली में मांगलिक दोष है तो शादी में देरी के लिए ये सबसे अहम कारण बनता है| इसके अलावा इस दोष के साथ यदि जातक का विवाह हो चुका है तो शादी में कलह की स्थिति बनी रहेगी इसलिए एक मांगलिक की शादी एक मांगलिक जातक से ही होनी चाहिए| इससे मांगलिक दोष का प्रभाव कम होता है

सप्तमेश का बलहीन होना: यदि जातक के सप्तम भाव का स्वामी दुष्ट ग्रहों से पीड़ित हो अथवा अपनी नीच राशि में स्थित हो तो वह बलहीन हो जाता है। इसके अलावा सप्तमेश 6, 8,12 भाव में स्थित होने पर कमज़ोर होता है और इसके प्रभाव से जातकों के विवाह में देरी होती है
 

बृहस्पति ग्रह का बलहीन होना: यदि कुंडली में बृहस्पति ग्रह दुष्ट ग्रहों से पीड़ित हो, सूर्य के प्रभाव में आकर अस्त हो अथवा अपनी नीच राशि मकर में स्थित हो तो वह बलहीन हो जाएगा और इससे जातक को शादी-विवाह में दिक़्क़त का सामना करना पड़ेगा

शुक्र का नीच होना: यदि जातक की कुंडली में शुक्र ग्रह कमज़ोर होता है तो उसके जीवन में कोई भी काम पूरा नहीं हो पाता है और इसलिए जातक को अपने विवाह में बाधाओं का सामना करना पड़ता है

नवांश कुंडली में दोष: जन्म कुंडली के नौवें अंश को नवांश कुंडली कहते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस कुंडली से जातक के जीवन साथी के बारे में सटीक अनुमान लगाया जा सकता है इसलिए यदि जातक की इस नवांश कुंडली में दोष हो तो जातक के विवाह में बाधाएँ उत्पन्न होंगी
 

विवाह बाधा निवारण प्रयोग

बृहस्पति को देवताओं का गुरु माना जाता है इनकी पूजा से विवाह के मार्ग में आ रही सभी अड़चनें स्वत: ही समाप्त हो जाती हैं। इनकी पूजा के लिए गुरुवार का विशेष महत्व है|

गुरुवार को बृहस्पति देव को प्रसन्न करने के लिए पीले रंग की वस्तुएं चढ़ानी चाहिए| पीले रंग की वस्तुएं जैसे हल्दी, पीला फल, पीले रंग का वस्त्र, पीले फूल, केला, चने की दाल आदि इसी तरह की वस्तुएं गुरु ग्रह को चढ़ानी चाहिए| साथ ही शीघ्र विवाह की इच्छा रखने वाले युवाओं को गुरुवार के दिन व्रत रखना चाहिए
 

एक लड़की की शादी के मामले में देरी हो रही है, तो उसकी शादी वार्ता के दौरान शुक्रवार को सफेद और गुरुवार को पीले कपड़े पहनने के लिए दे तो यह शादी की बात बनने के लिए बेहतर है। 4 सप्ताह के लिए यह करें तो निश्चित रूप से अच्छा प्रस्ताव मिल जाएगा।

नहाने के पानी में हल्दी की एक चुटकी मिला कर स्नान करें।  यह उपाय विवाह योग्य आयु प्राप्त लोगों की जल्दी शादी में मदद करता है

लड़कियां योग्य वर की प्राप्ति के लिए सोलह सोमवार का व्रत करें| भगवान शिव को बेलपत्र या भांग के पत्ते व कच्चा दूध चढ़ाएं

किसी भी रिश्तेदार की शादी में जाएँ तो वहां मेहंदी की रस्म में ज़रूर भाग लें (खासकर लड़कियों के लिए) दुल्हन को थोड़ी मेहँदी अपने हाथों से लगायें व दुल्हन की बची मेहँदी में से कुछ अपने हाथों में लगायें| यह कन्याओं के लिए शुभ होता है


गुरुवार, 3 मई 2018

खीरे का इस तरह सेवन करने से कुछ ही दिनों में जादुई तरीके से घट जायेगा आपका वजन

खीरे का इस तरह सेवन करने से कुछ ही दिनों में जादुई तरीके से घट जायेगा आपका वजन


भारत में अब गर्मियां दस्तक दे चुकी हैं. मार्किट में गर्मियों के मौसम में मिलने वाली सब्जियां और फल भी आ गए हैं. गर्मियों के मौसम में लोग सबसे ज्यादा खीरे का उपयोग करते हैं. बता दें कि गर्मियों के मौसम में अगर खीरे का इस्तेमाल किया जाए तो ये व्यक्ति के शरीर को ठंडक पहुंचाता है. इसके अलावा गर्मियों के मौसम में खीरा खाने से वजन भी बहुत जल्दी कम होता है. आज हम आपको खीरे के कुछ ऐसे फायदे बताने जा रहे हैं जिनके बारे में शायद आपने आज से पहले सुना ही नहीं होगा.

1. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि गर्मियों के मौसम में खीरा खाने से वजन बहुत जल्दी कम होता है, क्योंकि खीरे में बहुत कम मात्रा में कैलोरी पाई जाती है जो व्यक्ति के वजन को बहुत हद तक कम करती हैं. अगर आप भी अपना वजन बहुत जल्दी कम करना चाहते हैं तो खाने में खीरे का सेवन जरुर करें. खाने में खीरे का सलाद खाने से आपका वजन कुछ ही दिनों में कम होने लग जायेगा.

2. गर्मी के दिनों में छिलके वाले खीरे खाने से व्यक्ति का पाचनतंत्र एकदम ठीक रहता है. खीरे को खाने से आपको किसी भी तरह का खाना आसानी से पच जाता है. इसके अलावा खीरे में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है जो व्यक्ति के पेट के लिए बहुत अच्छा होता है. खीरे में पाए जाने वाले फाइबर व्यक्ति के पेट को साफ रखने में भी मदद करते हैं.

3. खीरे को विटामिन का बहुत बड़ा स्रोत कहा जाता है. जिसकी मदद से व्यक्ति के शरीर में प्रोटीन की मात्रा एक्टिव रहती है. व्यक्ति के शरीर में विटामिन होना बहुत जरुरी होता है, क्योंकि ये व्यक्ति के शरीर में कोशिकाओं को बढ़ने में सहायक होता है. इसके अलावा खीरे का सेवन करने से व्यक्ति के शरीर में ब्लड क्लॉटिंग की समस्या भी नहीं आती.

अगर जल्दी प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो शारीरिक संबंध बनाते समय रखें इन खास बातों का ध्यान !

अगर जल्दी प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो शारीरिक संबंध बनाते समय रखें इन खास बातों का ध्यान !


ऐसा कई बार देखा गया है की पति पत्नी बहुत समय से बच्चे की चाह में शारीरिक संबंध बना रहे हैं लेकिन फिर भी औरत गर्भ धारण नहीं कर पा रही है |ऐसे में लोगों को कुछ बीमारी होने या अनफर्टिलिटी की समस्या होने का शक होता है  और  सीधे डॉक्टर्स के पास भागते हैं | लेकिन हर बार इस समस्या का समाधान सिर्फ डॉक्टर ही नहीं है आपके गलत ढंग से बनाये गये शारीरिक संबंध भी हो सकते हैं |अकसर कपल्स जानकारी के आभाव में ऐसा करते हैं | आईये आज आपको बताते हैं की जल्दी से प्रेग्नेंट होने  के लिए शारीरिक संबंध बनाते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए |

शारीरिक संबंध बनाने के बाद भी अगर आप कंसीव नहीं कर पा रहीं हैं तो इसके पीछे कई तरह के कारण हो सकते हैं।

1. जल्दी प्रेंग्नेंसी के लिए जरूरी है कि संबंध बनाते वक्त पुरुष अपना स्पर्म महिला की वेजिना में ज्यादा से ज्यादा गर्भाशय के नजदीक स्खलित करे। इससे बहुत कम मात्रा में स्पर्म गर्भाशय में जाने से बच पाते हैं और गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है।

2. संबंध बनाने के बाद महिला को पीठ के बल लेट जाना चाहिए और अपने पीठ के निचले हिस्से के नीचे तकिया लगा लेना चाहिए और इस अवस्था में तकरीबन 20-30 मिनट तक बने रहना चाहिए। इससे वेजिना गर्भाशय की ओर झुक जाता है और वीर्य आसानी से गर्भाशय में पहुंच जाता है।

3. संबंध बनाने के तुरंत बाद खड़े नहीं हो जाना चाहिए। ऐसा इसलिए कि सेक्स के तुरंत बाद अगर महिला खड़ी हो जाए तो गुरुत्वाकर्षण की वजह से स्पर्म गर्भाशय में नहीं जा पाता।

बुधवार, 2 मई 2018

अनिमियत पीरियड की समस्या से परेशान हैं तो अपनाएं ये अचूक उपाए

अनिमियत पीरियड की समस्या से परेशान हैं तो अपनाएं ये अचूक उपाए


हर महिने आने वाले पीरियड्स को लेकर महिलाओं को कई सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता पर पीरियड्स से सम्बंधी जो सबसे आम समस्या है वो इसकी अनियमितता । वैसे तो हर बार ये जरूरी नहीं है कि पीरियड्स सही समय पर आये.. कई बार ये एक-दो दिन आगे-पीछे भी हो सकते हैं।

दालचीनी
पीरियड्स को नियमित करने के लिए दालचीनी रामबाण है। इसके सेवन से पीरियड्स की अनियमितता के साथ-साथ पीरियड के दौरान होने वाले दर्द से भी निजात मिलती है। सेवन के लिए आधा चम्मच दालचीनी पाउडर, एक ग्लास हल्के गुनगुने दूध में मिलाकर पियें। दूध के अलावा भी इसका सेवन कई दूसरे तरीकों से किया जा सकता है.. जैसे चाय, खाने में ऊपर से डालकर या इसकी लकड़ी को पानी के साथ चबा कर अपने रूटीन में शामिल कर सकती हैं।


सूखा अदरक या सौंठ
पीरियड्स की अनियमितता दूर करने में सूखा अदरक या सौंठ भी बेहद कारगर माना जाता है। साथ ही इसका सेवन पीरियड्स के दर्द को कम करने के साथ पीरियड्स के फ्लों को भी सही करता है। इसके सेवन के लिए आप इसे कच्चा भी खा सकते हैं, या फिर इसका रस निकालकर पी सकते हैं या फिर चाय में डालकर भी अपने रूटीन में शामिल कर सकती हैं।


अजवाइन
अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात पाने के लिए आप अजवाइन का सेवन भी कर सकती हैं। इसके लिए प्रतिदिन 8 से 10 ग्राम अजवाइन को अच्छे से चबाकर खाएं और उसके बाद एक गिलास दूध पी लें। इस तरह अजवाइन का सेवन कुछ दिनों तक करने से इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।


तिल
खाने में स्वादिष्ट तिल सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है.. इसके नियमित सेवन से अनियमित माहवारी की समस्या से छुटकारा मिल सकता है। इसके लिए लगभग 20 ग्राम तिल को एक गिलास पानी में उबाल लें और जब वो पानी आधा रह जाए तो उसमें गुड़ मिलाकर उसका सेवन करें। इससे अनियमित माहवारी के साथ ही इस दौरान होने वाले दर्द से भी राहत मिलेगी।


कच्चा पपीता
तनाव के कारण पीरियड्स में होने वाली अनियमितता को दूर करने के लिए कच्चा पपीते का सेवन बेहद कारगर है। दरअसल इसमें मौजूद आयरन, कौरोटीन, कौल्शियम, विटामिन ए और सी गर्भाश्य की सिकुड़ी हुई मांसपेशियों तक फाइबर पहुंचाने का काम करते हैं। ऐसे में कच्चे पपीते का सेवन करने से अनियमित पीरियड की समस्या में आसानी से निजात मिल जाती है।


चुकंदर
चुकंदर सेहत और पीरियड्स दोनों के लिए लाभकारी माना जाता है। चुकंदर में पाए जाने वाले पोषक तत्व अनियमित पीरियड्स को नियमित करने में कारगर साबित होते हैं। साथ ही यह हार्मोन्स के संतुलन को भी सही करने में मदद करते हैं, इसलिए चुकंदर अपने डाइट में जरूर शामिल करें। इसका सेवन सलाद, सब्जी या जूस के रूप में कर सकते हैं।

मंगलवार, 1 मई 2018

प्रेग्नेंसी में जरूर पहने पैरों में बिछिया, जच्चा और बच्चा रहता है स्वस्थ

प्रेग्नेंसी में जरूर पहने पैरों में बिछिया, जच्चा और बच्चा रहता है स्वस्थ


मां बनने का सुख सबसे अलग होता है,  जब भी कोई महिला गर्भवती होती हैं तो उसे बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.  उन्हें खानपान व अपने शरीर का बहुत ही ख्याल रखना होता है, जिससे बच्चे का जन्म स्वास्थ रुप से हो सके, लेकिन आज हम आपको गर्भवती महिलाओं  के  लिए एक खास उपाय लेकर आए हैं जो कि हर विवाहित महिला की सुहाग की निशानी होती हैं, बता दे कि सभी शादीशुदा महिलाएं अपने पैरों में बिछिया पहनती हैं, लेकिन आप इनके बारे में यह नहीं जानती हैं कि इनसे आपकी काफी परेशानियां दूर हो सकती हैं, आइये जानते हैं गर्भवती होने के दौरान बिछिया पहनने के फायदे..

बिछिया पहनने के फायदे..

हर महिला को अपने पैरों में  बिछिया जरुर पहनना चाहिए,  पैरों में बिछिया पहनने से जो दबाब होता है उससे आपका गर्भाशय ठीक रहता है, यदि कोई भी महिला गर्भवती के दौरान पैरों में बिछिया पहनती हैं तो उसके पेट से संबधित सभी बिमारियां दूर हो जाती हैं.


प्रेग्नेंसी होता है यह फायदा

बहुत बार महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान थकान व उनका ब्लड प्रेशर घटने या बढ़ने लगता हैन उन महिलाओं को बिछिया पहनने से काफी फायदा होता है.इसके अलावा यदि आपके शरीर में किसी भी प्राकार की एनर्जी है तो पैरोंं में बिछिया जरुर पहनने चाहिए. सभी धातुओं में चांदी सबसे ठंडी धातु मानी जाती है जिसक कारण आपका व आपके शिशू का दिमाग ठंडा रहता है.

जो भी महिलाएं गर्भवती होने के दौरान पैरों में बिछिया पहनती हैं इससे उनका शिशु काफी स्वास्थ रहता है, इसके साथ ही बच्चा शारीरिक और मानसिक रुप से भी अच्छा होता है.

आज मंगल कर रहा राशि परिवर्तन, इन राशियों पर है भरी संकट

आज मंगल कर रहा राशि परिवर्तन, इन राशियों पर है भरी संकट


आज यानि की मंगलवार को ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि को शाम 04:17 पर मंगल मकर राशि में प्रवेश करेंगे और 6 नवम्बर की सुबह 08:22 तक यहीं पर रहेंगे, यानी लगभग 7 महीने तक मंगल मकर राशि में ही रहेंगे। साथ ही इस बीच 27 जून को सुबह 02:35 पर मंगल मकर राशि में वक्री भी होंगे और 27 अगस्त की शाम 07:35 तक वक्री रहेंगे, उसके बाद मंगल फिर से मकर राशि में मार्गी हो जायेंगे।

मंगल मकर राशि में उच्च के और कर्क राशि में नीच के होते हैं। साथ ही यह मेष और वृश्चिक राशि के स्वामी हैं। मंगल की शुभ स्थिति में व्यक्ति शक्तिशाली और साहसी बनता है, जबकि मंगल की अशुभ स्थिति व्यक्ति को निगेटिव कामों के लिये प्रेरित करती है। तो लगभग इन सात महीनों के दौरान मंगल का विभिन्न राशि के लोगों पर क्या प्रभाव होगा, मंगल उनके किस स्थान पर गोचर करेंगे और उस स्थिति में शुभता सुनिश्चित करने के लिए और अशुभता से बचने के लिय आपको क्या उपाय करने चाहिए। जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से।

मेष राशि
मंगल आपके दसवें स्थान पर गोचर करेंगे। मंगल के इस गोचर से आपको अपनी मेहनत के अनुसार करियर में सफलता मिलेगी। 6 नवम्बर तक आपकी अचल सम्पत्ति में कुछ इजाफा हो सकता है। इसके अलावा आपका गृहस्थ जीवन अच्छा रहेगा और आपकी सेहत भी ठीक-ठाक रहेगी। हालांकि आज शाम 04:17 से 6 नवम्बर की सुबह 08:22 तक आपको अपने घर में रखे सोने का ध्यान रखना चाहिए। उसे लॉकर में रखना ज्यादा बेहतर होगा। मंगल की अशुभ स्थिति से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 6 नवम्बर तक जब भी मौका मिले, किसी दृष्टिहीन की मदद जरूर करें। साथ ही घर में चूल्हे पर दूध उबालते समय ध्यान रखें कि दूध उबलकर बर्तन से बाहर न गिरे।

वृष राशि
मंगल आपके नवें स्थान पर गोचर करेंगे। नवां स्थान भाग्य का होता है। अतः मंगल के इस गोचर से आपको भाग्य का पूरा साथ मिलेगा। आपको हर तरह का सुख मिलेगा। अगर बड़े भाई का सहयोग मिले, तो आपकी किस्मत के पहिए और भी तेजी से दौड़ेंगे। आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। इसके अलावा प्रशासनिक सेवाओं में कार्यरत लोगों को 6 नवम्बर तक लाभ मिलेगा। साथ ही युद्ध संबंधी चीज़ों के व्यापार करने वालों को भी धन लाभ होगा। अतः मंगल की शुभ स्थिति सुनिश्चित करने के लिए भाईयों का सम्मान करें। साथ ही अपने भाई की पत्नी, यानी अपनी भाभी का आशीर्वाद लेकर उन्हें कुछ गिफ्ट करें। इससे आपकी तरक्की सुनिश्चित होगी।

मिथुन राशि
मंगल आपके आठवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल के गोचर से जातक अस्थायी रूप से मांगलिक कहलाता है, यानी मिथुन राशि वालों आपके आठवें स्थान पर मंगल के इस गोचर से आप 6 नवम्बर तक टेम्पेरेरी रूप से मांगलिक कहलायेंगे। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर हां...तो ठीक है, अन्यथा मंगल के इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए। साथ ही 6 नवम्बर तक आपको अपनी सेहत का ख्याल रखना चाहिए। हालांकि आप इस दौरान अपनी मेहनत के बल पर अपने कार्यों को करने में सफल होंगे। अतः मंगल के टेम्पेरेरी मांगलिक दोष से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए आज से लेकर 6 नवम्बर तक प्रतिदिन कुत्ते को रोटी डालें।

कर्क राशि
आपके सातवें स्थान पर मंगल का यह गोचर मिथुन राशि वालों की तरह ही आपको भी 6 नवम्बर तक के लिये टेम्पेरेरी रूप से मांगलिक बना देगा। क्योंकि जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को अस्थायी रूप से मांगलिक बना देता है। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको भी इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर ऐसा है तो ठीक, वरन् सतर्क होकर इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए। हालांकि मंगल के इस गोचर से आपकी गणित विषय में रूचि बढ़ेगी और धार्मिक कार्यों में आपका मन लगेगा। परन्तु 6 नवम्बर तक आपको अपने जीवनसाथी की तरक्की और उनकी सेहत का ख्याल जरूर रखना चाहिए। साथ ही मंगल के टेम्पेरेरी मांगलिक दोष से बचने के लिये और मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए अपनी बुआ या बहन को लाल रंग के कपड़े गिफ्ट करें और उनका आशीर्वाद लें। अगर आपकी कोई सगी बहन या बुआ नहीं है, तो रिश्ते में लगने वाली अपनी किसी बहन या बुआ को गिफ्ट कर दें।

सिंह राशि
आपके छठे स्थान पर मंगल का यह गोचर आपको साहसी बनायेगा और आपकी कलम आपकी ताकत बनेगी। इस बीच आपको समाज के कुछ अच्छे लोगों से मिलने का मौका मिलेगा, जिसका भविष्य में आपको लाभ होगा, लेकिन 6 नवम्बर तक आपसे कुछ ऐसे लोग भी हाथ मिलाना चाहेंगे, जो आगे चलकर आपकी जड़ें खोदेंगे। लालच मित्र को भी शत्रु बना सकता है। ऐसे लोगों से आपको सतर्क रहना चाहिए। साथ ही मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए मंगलवार के दिन किसी छोटी उम्र की कन्या का आशीर्वाद लेकर उसे कुछ गिफ्ट
करें।

कन्या राशि
मंगल आपके पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे और यह स्थान आपको हर तरह का लाभ दिलाने में मदद करेगा। मंगल के इस गोचर से आपके करियर को एक बेहतर दिशा मिलेगी, आपको अपने गुरु के सहयोग से विद्या का पूरा लाभ मिलेगा। साथ ही आपको संतान का सुख मिलेगा और आपके दाम्पत्य जीवन में खुशियां ही खुशियां होंगी। आप अपने विवेक से कुछ भी हासिल करने में सक्षम होंगे। अतः मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 6 नवम्बर तक  रात को सोते समय अपने सिरहाने पर पानी रखकर सोएं और अगले दिन उस पानी को किसी पेड़-पौधे की जड़ में डाल दें। साथ ही रोज़ सुबह उठकर घर के बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लेने से आपको मिलने वाले लाभ सुनिश्चित होंगे।

सिंह राशि
आपके छठे स्थान पर मंगल का यह गोचर आपको साहसी बनायेगा और आपकी कलम आपकी ताकत बनेगी। इस बीच आपको समाज के कुछ अच्छे लोगों से मिलने का मौका मिलेगा, जिसका भविष्य में आपको लाभ होगा, लेकिन 6 नवम्बर तक आपसे कुछ ऐसे लोग भी हाथ मिलाना चाहेंगे, जो आगे चलकर आपकी जड़ें खोदेंगे। लालच मित्र को भी शत्रु बना सकता है। ऐसे लोगों से आपको सतर्क रहना चाहिए। साथ ही मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए मंगलवार के दिन किसी छोटी उम्र की कन्या का आशीर्वाद लेकर उसे कुछ गिफ्ट
करें।

कन्या राशि
मंगल आपके पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे और यह स्थान आपको हर तरह का लाभ दिलाने में मदद करेगा। मंगल के इस गोचर से आपके करियर को एक बेहतर दिशा मिलेगी, आपको अपने गुरु के सहयोग से विद्या का पूरा लाभ मिलेगा। साथ ही आपको संतान का सुख मिलेगा और आपके दाम्पत्य जीवन में खुशियां ही खुशियां होंगी। आप अपने विवेक से कुछ भी हासिल करने में सक्षम होंगे। अतः मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 6 नवम्बर तक  रात को सोते समय अपने सिरहाने पर पानी रखकर सोएं और अगले दिन उस पानी को किसी पेड़-पौधे की जड़ में डाल दें। साथ ही रोज़ सुबह उठकर घर के बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लेने से आपको मिलने वाले लाभ सुनिश्चित होंगे।

धनु राशि
मंगल आपके दूसरे स्थान पर गोचर करेंगे। मंगल के इस गोचर से आपको आर्थिक रूप से लाभ मिलेगा। 6 नवम्बर तक आपको अन्न-धन या अन्य किसी प्रकार की कमी नहीं होगी। ससुराल पक्ष से भी आपको समय-समय पर आर्थिक रूप से लाभ मिलता रहेगा। इस दौरान विशेषकर दवाईयों, मशीनों या जासूसी के काम से जुड़े लोगों को फायदा होगा। साथ ही 6 नवम्बर तक जब भी आपके किसी करीबी को आर्थिक रूप से आपकी सहायता चाहिए हो, तो उनकी मदद जरूर करें। इससे आपको भी भविष्य में फायदा होगा। मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 6 नवम्बर तक धार्मिक कार्यों में सहयोग देते रहें और भाईयों की हर संभव मदद करें।

मकर राशि  
मंगल का यह गोचर आपके लग्न स्थान, यानी आपके पहले स्थान पर होगा और जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को अस्थायी रूप से मांगलिक बना देता है। अतः आपके पहले स्थान पर मंगल का यह गोचर 6 नवम्बर तक के लिये आपको अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर हां तो ठीक, वरना सतर्क होकर इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए। हालांकि आपके लग्न स्थान पर मंगल के इस गोचर से आपको भरपूर यश-सम्मान मिलेगा और आपको धन लाभ होगा। साथ ही आपके प्रेम-संबंध मजबूत होंगे और आपकी संतान को न्यायालय से लाभ मिलेगा। मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए और अस्थायी रूप से मांगलिक दोष से बचने के लिए मन्दिर में बेसन या चने की दाल से बनी किसी चीज़ का दान करें। इससे आपके भाग्य मेंवृद्धि होगी  और आपके परिवार की समृद्धि होगी।

कुंभ राशि
आपके बारहवें स्थान पर मंगल का यह गोचर मिथुन, कर्क, तुला और मकर राशि वालों की तरह आपको भी 6 नवम्बर तक अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। वैसे भी अब तो आप जान ही गये होंगे कि जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें और बारहवें घर में मंगल का गोचर जातक को मांगलिक बनाता है। अतः कुंभ राशि वालों अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर हां तो ठीक है, अन्यथा सतर्क होकर आपको मंगल के इस गोचर के उपाय जरूर करने चाहिए। हालांकि इस दौरान आपको शैय्या सुख मिलेगा, लेकिन 6 नवम्बर तक व्यर्थ के खर्चे से आपको बचना चाहिए। साथ ही मंगल के अस्थायी मांगलिक दोष से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए सूर्यदेव को नित्य रूप से जल में थोड़ा-सा मीठा मिलाकर अर्घ्य दें। साथ ही मन्दिर या किसी धर्मस्थल पर बताशे का दान करें।

मीन राशि
मंगल आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। मंगल के इस गोचर से आपकी आध्यात्मिक विचारों के प्रति आस्था बढ़ेगी। न्यायिक प्रक्रियाओं में आपकी रुचि होगी और आप अपने साहस का परिचय देंगे। साथ ही 6 नवम्बर तक आपको और आपके माता-पिता को आर्थिक रूप से लाभ मिलेगा। इसके अलावा पशुपालक और व्यापारी वर्ग को भी 6 नवम्बर तक कई तरह से फायदे मिलेंगे। हालांकि इस दौरान आपको अपनी सेहत का ख्याल रखने की आवश्यकता है। तो मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए अगर आपके लिये संभव हो तो 6 नवम्बर तक घर में कुत्ता पालें अन्यथा कुत्ते को रोटी डालें।

सोमवार, 30 अप्रैल 2018

रात को सोने से पहले खाकर इस नुस्ख़े से ज़िन्दगी भर के लिए हट जाएगा आँखों से चश्मा

रात को सोने से पहले खाकर इस नुस्ख़े से ज़िन्दगी भर के लिए हट जाएगा आँखों से चश्मा


आज की लापरवाह लाइफस्टाइल, कमजोर डाईट, और मोबाइल – टीवी के बढ़ते उपयोग के चलते लोगो को बहुत जल्दी आँखों पर चश्मा लग जाता हैं. एक जमाना था जब लोगो को आँखों पर चश्मा लगाने के लिए बुढापे के आने का इंतज़ार करना होता था. लेकिन आज के जमाने में तो छोटे छोटे बच्चे भी चश्मा लगाने पर मजबूर हो जाते हैं.

आँखों से चश्मा हटाने का नुस्खा

आँखों से चश्मा हटाने का नुस्खा तैयार करने के लिए आपको सिर्फ चार चीजों की जरूरत होगी. एक बात तो साफ़ हैं कि आज के समय में किसी को भी आँखों पर चश्मा लगाना पसंद नहीं होता हैं. ऐसे में हर कोई सोचता हैं कि काश कोई ऐसा तरीका होता जिसके चलते मेरी आँखों से चश्मा हट जाता. आँखों से चश्मा हटाने के लिए बाजार में कांटेक्ट लेंस मौजूद हैं लेकिन इनकी देख रेख करना काफी पेचीदा काम होता हैं. कई लोगो को ये सूट भी नहीं होते हैं. ऐसे में आज हम आपको आँखों से चश्मा हटाने का प्राकृतिक तरीका बताने जा रहे हैं.

सामग्री: 

  • 4 बादाम 
  • एक चम्मच मिश्री
  • एक चम्मच सौंफ
  • एक गिलास दूध

नुस्खा बनाने की विधि: 

जबसे पहले एक कटोरी में थोड़ा पानी डाल के उसमे चार बादाम भिगो दे. अब अगले दिन इन चारो बादाम के छिलके उतार ले. इसके बाद बादाम को मिस्कर में डाले और इसके अन्दर एक चम्मच सौंफ और एक चम्मच मिश्री मिला दे. अब इन तीनो को मिक्सर के अन्दर पीस ले. यदि आप मिस्कर का उपयोग नहीं करना चाहते हैं तो इमाम दस्ते (खलबत्ता) का उपयोग भी कर सकते हैं. जब बादाम, सौंफ और मिश्री पिस कर तैयार हो जाए तो इसे एक खाली ग्लास में डाल दे. अब इस ग्लास में सामान्य तापमान वाला ताजा दूध डाले. इस मिश्रण को दूध में अच्छी तरह से मिक्स कर ले.

प्रयोग विधि: 

बादाम, मिश्री, सौंफ और दूध से बनी ये ख़ास ड्रिंक आपको रोज रात सोने से पहले पीना होगा. ऐसा यदि आप 20 से 25 दिनों तक करोगे तो आपको आँखों की रौशनी में फर्क दिखने लगेगा. इस नुस्खे के लगातार उपयोग से आपकी आँखों का चश्मा तो हटेगा ही साथ ही जिन लोगो को चश्मा नहीं लगा हैं उन्हें आगे चलकर चश्मा लगने के चांस ना के बराबर होंगे. आँखों के अलावा ये ड्रिंक आपकी पाचन क्रिया को भी मजबूत करने का कार्य करती हैं. मतलब ये ख़ास ड्रिंक आपकी आँख और हेल्थ दोनों के लिए फायदेमंद हैं. इस ड्रिंक की ख़ास बात यह हैं कि इसे पीने के बाद आपको किसी भी प्रकार के साइड इफ़ेक्ट नहीं होते हैं.

रविवार, 29 अप्रैल 2018

अगली बार हस्तमैथुन करने से पहले ये बातें जान लें, लड़के और लड़कियों दोनों को पता होनी चाहिए ये बातें

अगली बार हस्तमैथुन करने से पहले ये बातें जान लें, लड़के और लड़कियों दोनों को पता होनी चाहिए ये बातें


हस्तमैथुन, एक ऐसा शब्द जिसके बारे में समाज में अलग-अलग तरह की बातें फैली हुई हैं, कुछ बातें सही हैं तो कुछ वाहियात और बेबुनियाद. समाज का एक तबका है जो हस्तमैथुन को गलत मानता है तो वहीँ एक दूसरा तबका ऐसा भी है जिसके लिए हस्तमैथुन उतना ही आम है जितना खाना-पीना और सोना. यकीन मानिये उस दूसरे तबके की बात पर अब तो वैज्ञानिकों ने भी मुहर लगा दी है. जी हाँ अगर अप भी हस्तमैथुन को लेकर कोई गलत धारणा रखते हैं तो उसे भूल जाइये, क्योंकि ये क्रिया बेहद ही आम और सामान्य है.

क्या होता है हस्तमैथुन?

सरल और सटीक शब्दों में समझाएं तो जब भी कोई इंसान अपने प्राइवेट पार्ट्स को छूता है तो उसे हस्तमैथुन कहते हैं. हर इंसान का हस्तमैथुन करने का तरीका अलग होता है. बता दें कि हस्तमैथुन के वक़्त एक इंसान अपने दिमाग में कुछ हसीन बातें सोचता है और उसकी कल्पना में खुद को चरम सुख देता है.

क्या हस्तमैथुन गलत है?

अब सवाल ये उठता है कि क्या हस्तमैथुन गलत है? तो इसका जवाब है बिलकुल भी नहीं. आखिर खुद को छूना और खुद को सुख देना भला कैसे गलत हो सकता है? हां लेकिन कुछ लोग बेशक इसे गलत मानते हैं, लेकिन हस्तमैथुन में किसी तरह की कोई बुरी, कोई गलती नहीं होती है. हस्तमैथुन एक बेहद ही निजी मामला है बस यहाँ इस बात का ध्यान रखने की ज़रूरत है कि हस्तमैथुन सार्वजनिक जगह पर करना गलत है.

जानकारी के लिए बताएं तो इसे लड़के और लड़कियां दोनों ही करते हैं. लड़कों में 17 साल की उम्र के बाद इसे करने की इच्छा बढ़ने लगती है.हालांकि कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इसे नहीं करते हैं, इसमें गलत सही की बात नहीं है बस ये उनकी निजी राय होती है.

कई लोग ये मानते हैं कि इस क्रिया को करने से आपका शारीरिक विकास रुक जाता है या फिर, आपके शरीर की बनावट बिगड़ जाती है. या कई मामलों में तो आँखों के नीचे काले घेरे तक पड़ जाते हैं, लेकिन अगर आप भी इनमें से किसी भी बात को सही मानते हैं तो हम आपको बता दें कि ये सब गलत हैं. हस्तमैथुन से ऐसा कुछ नहीं होता है.

सच्चाई बताएं तो इसे करने से आपके तनाव कम होते हैं और शरीर में खुश करने वाले हार्मोन इंडॉरफिंस रिलीज होते हैं, जो आपको रिलैक्स करते हैं. सिर्फ इतना ही नहीं ऐसा करने से आपको सोने में मदद मिलती है और साथ ही इससे आपके निजी अंग भी सक्रिय रहते हैं.

क्या हस्तमैथुन के लिए सेक्स टॉयज सही विकल्प है?

लड़कियों के मामले में देखा गया है कि वो अक्सर हस्तमैथुन के लिए सेक्स टॉयज का इस्तेमाल करती हैं ऐसे में सवाल ये है कि क्या ये सही विकल्प है या नहीं तो इसका जवाब ये है कि ऐसा करना तब तक सुरक्षित है जब तक आपको किसी तरह का कष्ट न हो. इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि वस्तु को आप ठीक से पकड़ें ताकि ये अंदर न रह जाए. इस बात का भी ख्याल रखना चाहिए कि अंदर जाने वाला वस्तु बैक्टेरिया रहित हो.

गर्मी में लू लगना हो सकता है जानलेवा, ऐसे करें अपना बचाव!

गर्मी में लू लगना हो सकता है जानलेवा, ऐसे करें अपना बचाव!


जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि मौसम ने करवट ले ली है और कड़ाके की गर्मी पड़ने लगी है। गर्मी के शुरू होते ही ठंडी ठंडी चीजें याद आ जाती हैं जैसे ठंडा ठंडा रूहअफजा, ठंडाई, अलग-अलग तरह के शेक्स, नींबू पानी आदि। गर्मी के मौसम में बहुत गर्म हवा चलती है जिसे लू का नाम दिया जाता है। अक्सर देखा गया है लू सभी के लिए बहुत ही खतरनाक साबित हो सकती है। खुशियों से बचने के लिए बहुत से उपाय करने बेहद जरूरी हो जाते हैं अक्सर ऐसा भी होता है कि यदि किसी को लू लग जाए और वह उपचार नहीं कर पाए तो उसकी मौत भी हो सकती है। जी हां आपने बिल्कुल ठीक पढा लू लगने से इंसान की मौत तक हो जाती है। गर्मियों की दिनों में तापमान बढ़ जाने से गर्म हवाये चलने लगती हैं जो धीरे-धीरे लू का रूप ले लेती है।

ग्रीष्म ऋतु साल की चार ऋतुओं में से एक ऋतु है। साल का सबसे गर्म मौसम होने के बावजूद बच्चे इसे सबसे अधिक पसंद करते हैं, क्योंकि उन्हें बहुत तरीकों से मस्ती करने के लिए गर्मी की छुट्टियाँ मिलती है। ग्रीष्म ऋतु पृथ्वी के घूर्ण अक्ष के सूर्य की ओर होने के कारण होती है। गर्मी का मौसम बहुत ही शुष्क और गर्म (भूमध्य सागरीय क्षेत्रों में) और बरसात का मौसम (पूर्वी एशिया में मानसून के कारण) लाता है। कुछ स्थानों पर, गर्मी के दौरान वसंत ऋतु में तुफान और बवंडर (जो विशेषरुप से सुबह और शाम के समय तेज और गर्म हवाओं के कारण उत्पन्न होता है) बहुत ही आम बात है।

गर्मियों में ठंडी हवाओं का कहर तूफान बनकर लोगों पर टूटता है। गर्मी की वजह से लोगों का घर से बाहर निकलना भी दूभर हो जाता है। अब रोजमर्रा के सभी काम तो करने जरूरी होते हैं जीवन यापन के लिए उन कार्यों को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। अब गर्मी और लू के चलते लोग घर में ही बैठे रहे ऐसा तो नहीं हो सकता है ना। लेकिन गर्मी और लू से बचने के लिए यदि कुछ सावधानियां या उपचार किए जाएं तो आप गर्मी में भी स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

आज हम आपको लू से बचने के कुछ उपाय हमारे इस पोस्ट में बताने वाले हैं, जिन्हें अपनाकर आप लू से बचाव और संरक्षण कर सकते हैं। आइए जानते हैं क्या है वे उपाय….. आपको बता दें कि गर्मी में तापमान 42 डिग्री से भी पार चला जाता है जिसकी वजह से शरीर गरम होने लगता है शरीर गरम होने की वजह से खून गाढा होने लगता है जिसे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बहुत ही धीरे हो जाता है। जिसे नार्मल करना बहुत जरूरी होता है नही तो आप जल्द ही भुखार चपेट में आ सकते है। इसके लिए आपको पानी भरपूर मात्रा के पीना बहुत जरूरी है।

लू से बचने के उपाय

* गर्मी में स्वस्थ रहने के लिए सबसे जरूरी है पानी. एक स्वस्थ मनुष्य के लिए एक दिन का कम से कम 3 या 4 लीटर पानी पीना बहुत जरूरी है।
* यदि कोई किडनी का मरीज है तो उसके लिए दिन में कम से कम 6 से 8 लीटर पानी अनिवार्य हो जाता है।
* गर्मी में सबसे जरूरी होता है खाने पीने का ख्याल रखन ऐसे में खाना खाते समय आपको अपने भोजन में सलाद, छाछ, दही आदि को जरूर समिलित रखना चाइये।
* गर्मी के मौसम में तरल पदार्थों का सेवन करना भी आपके लिए बेहद जरूरी है लेकिन तरल पदार्थों में शराब का सेवन बिल्कुल निषेध होना चाइये और मास का सेवन करना भी आपके लिए तक नही हो सकता है।
* कम से कम 2 दिन में एक बार अपना ब्लड प्रेशर चैक कराते रहे।
* गर्मी में हर चीज़ ठंडी ही आपके लिए फायदेमंद है, ठंडे पानी से नहाए और आने होटो और आंखों पर नमी बनाए रखे।
* जब भी धूप में बाहर जाए तो जाने से पहले कम से कम 2 गिलास पानी पीकर ही जाए। खुद को गर्मी से बचा कर रखे।
पूरा शरीर हो जाएगा गोरा अगर नहाने के पानी में मिलाएंगे इसकी 5-6 बूंदें

पूरा शरीर हो जाएगा गोरा अगर नहाने के पानी में मिलाएंगे इसकी 5-6 बूंदें


इंसान का पूरा शरीर और उसके शरीर के भाग ही उसकी सुन्दरता के बारे में बताते हैं कि वो कितना खूबसूरत है. इंसान के शरीर के सभी हिस्सों में हमारा चेहरा एक ऐसा हिस्सा होता है जिसे हम हमेशा सबसे खूबसूरत और चमकदार बनाने की कोशिश करते हैं. खासतौर पर महिलाएं सबसे ज्यादा अपने चेहरे को गोरा और बेदाग बनाने के लिए क्या कुछ नहीं करतीं. कभी घरेलू उपाय करती हैं तो कभी कॉस्मेटिक का प्रयोग करती हैं ताकि वे सबसे ज्यादा खूबसूरत दिखें.

 
इन उपायों का प्रयोग कर के महिलाएं अपने मकसद में सफल भी हो जाती हैं. आमतौर पर महिलाएं ये ही सोचती हैं कि उनके शरीर के अन्य भाग चाहे इतने गोरे न दिखें लेकिन उनका चेहरा ज़रूर गोरा दिखना चाहिए. चेहरे को गोरा करने के लिए ऐसा किया क्या जाये ये किसी को मालूम नहीं होता लेकिन ऐसे में अगर हम आपको एक ऐसा ऊपर बताये कि जिसके मात्र 5 से 6 बूंदों से आपका चेहरा कुछ ही दिनों में चमक उठेगा.
 
 
आपको बता दें कि जो उपाय हम आपको बताने जा रहे हैं उसके प्रयोग से सिर्फ चेहरा नहीं बल्कि पूरे शरीर में आपको फर्क नज़र आएगा. जी हाँ दरअसल हमारे शरीर में जो भाग ढाका रहता है वो अन्य हिस्सों की तुलना में गोरा और बेदाग़ रहता है क्योंकि इन पर धूप और प्रदूषण का सीधा असर नहीं पड़ पाता लेकिन वहीँ हमारे हाथ, हाथ की बाजुएं, हमारा चेहरा, हमारी गर्दन पर धूप और प्रदूषण सीधा वार करते हैं जिससे हमारी रंगत खोने लगती है.
 

अगर आपको इस बात से परेशानी है कि आपके हाथ और आपका चेहरा गोरा क्यों नहीं दिखता है तो आप केवल एक नुस्खा हर सुबह नहाते समय अपनाना होगा जिससे आपका पूरा शरीर गोरा हो सकता है. जी हाँ इसके लिए आपको नहाने के पानी में केवल नींबू के रस की 5 से 6 बूँदें डालकर नहाना है और जिसका रिजल्ट आप कुछ ही दिनों में पायेंगे.

नींबू में एंटी एलर्जिक और टैनिंग को काटने के गुण होते हैं। इसमें मौजूद तत्व स्किन को बाहरी प्रदूषण से बचाए भी रखते हैं इसलिए इसका इस्तेमाल करने से रंग साफ होता है।

यह भी पढ़ें -  आटे से भी लगा सकते हैं आपके सौंदर्य में चार-चांद

 

बड़ी से बड़ी पथरी की समस्या को एक हफ्ते में गलाकर शरीर से बाहर निकाल देगा ये उपाय

बड़ी से बड़ी पथरी की समस्या को एक हफ्ते में गलाकर शरीर से बाहर निकाल देगा ये उपाय


आजकल पथरी की समस्या तेजी से पनपने लगी है. ज्यादातर पथरी 20 से 50 वर्ष की आयु के मध्य हो जाती है और जोकि तेजी से बढ़ रही है. महिलाओं के अपेक्ष पुरूषों में पथरी की समस्या ज्यादा पाई जाती है. पथरी का होना मुख्य कारण गुर्दे में खनिजों एवं हाइड्रोक्लोरिक, सोडियम का जम जाना, पानी की कमी, तरल पदार्थ कम मात्रा में पीना, वर्कआउट न होना, खान-पान इत्यादि कई कारण होते हैं

गुर्दे की पथरी असहनीय दर्द व्यक्ति को परेशान करता है. पथरी को नजर अंदाज करने से मूत्र नली में बड़ा खतरा हो सकता है. पथरी की शिकायत होने पर तुरन्त चिकित्सक से सलाह, उपचार लें. क्योंकि पथरी होने पर हमारी किडनी पर काफी ज्यादा असर होता है और पेट के नीचे काफी ज्यादा दर्द होने लगता है.वहीं आज हम आपको किडनी की पथरी को जड़ से गिराने के लिए कुछ प्राकृतिक और घरेलू सुझाव बताएंगे.

घरेलु उपचार

सबसे पहले दालचीनी के पत्ते लें और उसे अदरक के साथ बारीक पीसकर आपस में मिला लें. फिर उसके बाद एक पाउडर तैयार हो जाएगा. इस बने हुए पाउडर को एक बर्तन में रख लें और रोजाना सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ पी लें. ऐसा रोजाना करने से 15 दिन के अंदर आपको पथरी के दर्द से राहत मिलने लगेगी और आप की पथरी गल जाएगी.

शनिवार, 28 अप्रैल 2018

इस लकड़ी का 1 टुकड़ा चूसने से जो होगा वह आपने सोचा भी नहीं होगा, जरूर जाने !

इस लकड़ी का 1 टुकड़ा चूसने से जो होगा वह आपने सोचा भी नहीं होगा, जरूर जाने !


मुलेठी एक ऐसी औषिधि है जो कि अंदर से पीली और रेशेदार होती है.  इसका सबस ज्यादा प्रयोग मिठाई बनाने में, टूथपेस्ट में प्रयोग किया जाता है. यह पेट के गैस्ट्रिक अल्सर को खत्म करती है. मलेठी से बहुत ही ऐसी बीमारियां होती हैं जिन्हें जल्द - जल्द खत्म किया जा सकता है.इसको केवन आर्युवेदिक औषधी सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाता है. आज हम बताएंगे मुलेठी के चुसने के वौ फायदे जिनके बारे में आपने सोचा भी नहीं होगा.

दरअसल मुलेठी हर दुकान पर आपको आसानी से मिल सकती है.खासकर उन दुकानों में पर तो जरुर रहती है जो कि आर्युवेदिक चीजें रखती है. यदि किसी को काफी समय से कफ खासी है तो उस व्यक्ति को मुलेठी और काली मिर्च के साथ खाना चाहिए, इसे खासी के साथ-साथ गले की सूजन भी दूर होती है.

इसके अलावा इसका एक उपाय यह भी है कि यदि किसी व्यक्ति के मुंह से बदबू आती हो तो वह हर रोज मुलेठी का टुकड़ा लेकर चुस सकता है. इसेस आपके मुंह की बदबू दूर हो जाएंगी.इसके सबसे खास बात यह है कि मुलेठी के चूसने से मुंह की बदबू ही नहीं बल्कि संक्रमण का खतरा भी कम होता है.

इसके चूसने के वैसे तो अनोकों फायदे हैं उन्ही में से एक यह भी फायदा है कि जो लोग इसको नियमित चूसते हैं उसकी त्वचा पर भी चमक आती है. यदि किसी का जी मचलता है या उल्टी आती है तो उसको भी इसको चूसने के लिए सुझाव देना चाहिए.इससे पेट भी साफ रहता है.

जानिये शरीर के ये अंग खोल देते हैं महिलाओं के सारे राज

जानिये शरीर के ये अंग खोल देते हैं महिलाओं के सारे राज


ये कहावत तो सबसे सुनी ही होगी कि महिलाओं को कोई नहीं पहचान सकता. ऐसा कहा जाता है कि महिलाओं को पहचानना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होता है.  वैसे आपको एक बात बता दें कि महिलाओं को जानना ज्यादा मुश्किल काम नहीं है. महिलाओं को समझने के लिए ज्यादा दिमाग लगाने की जरुरत नहीं होती. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उनके सारे राज खुद उनके शरीर के अंग खोल देते हैं. आपको बता दें महिलाओं के शरीर के तीन अंग उनके बारे में बहुत कुछ बताते हैं. अगर आप भी किसी  महिला के स्वभाव के बारे में जानना चाहते हैं तो उनके इन तीन अंगों पर ध्यान जरुर दें.

ये 3 अंग खोल देते हैं महिलाओं के सारे राज

ठोड़ी पर डिम्पल

ऐसा माना जाता है कि जिन महिलाओं की ठोड़ी पर डिंपल होता हैं वो बहुत खुशमिजाज़ और वफादार स्वभाव की होती है. ऐसी महिलाएं काफी दयालु स्वभाव की भी होती हैं. आपको बता दें जिन महिलाओं की ठोड़ी गोल होती है वो भाग्यवान होती हैं. लंबी ठोड़ी वाली महिलाएं सांसारिक सुखों की तरफ जल्दी आकर्षित हो जाती हैं इसलिए उनकी गिनती चरित्रहीन महिलाओं में की जाती है.

होंठ

महिलाओं के होंठ उनके चेहरे का सबसे आकर्षित अंग होता है. आप महिलाओं के होंठ देखकर उनके स्वभाव के बारे में पता लगा सकते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें जिन महिलाओं के होंठ   लाल, पतले, चिकने और अच्छी शेप वाले  होते हैं उनका स्वभाव बेहद सेक्सी होता है और अपने पति का बहुत प्यार पाती हैं. ऐसी महिलाओं की शादीशुदा लाइफ काफी अच्छी होती है.

भौहें

जिन महिलाओं की भौहें धनुष आकार वाली होती हैं  वो सुन्दर और चरित्रवान होती हैं. इसके विपरीत अगर किसी महिला की भौहें सीधी लंबी और मोटी होती हैं उन्हें अच्छा नहीं माना जाता.

क्या आपको भी आते हैं बुरे सपने, तो इन तरीकों से पा सकते हैं छुटकारा

क्या आपको भी आते हैं बुरे सपने, तो इन तरीकों से पा सकते हैं छुटकारा


'मैं गहरी नींद में सोया हुआ था। अचानक मेरा घर हिलने लगा। मैं चौंक कर उठा। मैंने देखा कि मेरा घर उल्टा हो गया था और मेरा बेड घर की सीलिंग पर था। आसपास सब कुछ बिखरा हुआ था। जैसे-तैसे मैं दरवाजे तक पहुंचा। उसे खोला तो देखा कि दहलीज के बाहर जमीन की जगह आसमान था। इससे पहले कि मैं कुछ सोच पाता मेरे पीछे कुछ आत्माएं आने लगीं। मैंने उनसे दूर जाने की कोशिश की और मैं आसमान में गिर गया।'

जब ऐसा सपना टूटता है तो हमें ठंडक में भी पसीना आ जाता है और दिल को ग़जब का सुकून मिलता है। मन में पहला खयाल यही आता है कि 'शुक्र है ये बस एक सपना था'। अगर आप भी ऐसे बुरे सपनों से परेशान हैं तो आज हम आपके लिए उनका समाधान लेकर आए हैं। 

उन तरकीबों को जानने से पहले आइये जानते हैं ऐसे सपनों के आने का कारण। 

नहीं सुलझी सपनों की गुत्थी
हमें सपने क्यों आते हैं? इस गुत्थी को वैज्ञानिक भी नहीं सुलझा पाए हैं। उनके अनुसार हमें सपने 'कैमिकल इम्बैलेंसिंग' यानी कि दिमाग के कैमिकल्स के अस्थिर होने की वजह से आते हैं।

निजी जिंदगी पर असर
वैज्ञानिकों के अनुसार सपनों में नज़र आने वाली अच्छी बुरी चीजों का हमारी निजी जिंदगी से कोई सम्बन्ध नहीं होता। जबकि शास्त्र इससे बिलकुल उल्टा बताते हैं।

तो आइए जानते हैं बुरे सपनों से बचने के कुछ आसान उपाय।

हनुमान चालीसा का करें पाठ
सोने से पहले हनुमान चालीसा का पाठ करने से बुरे सपने नहीं आते और सुकून भरी नींद आती है। 

पीपल की लकड़ी रखें तकिये के नीचे
अगर आपको रात में किसी तरह का डर लगता है तो आपको तकिये के नीचे एक पीपल की जड़ और उसकी टहनी का छोटा सा टुकड़ा रखना चाहिए। इन्हें आपको सूर्यास्त से पहले ही तोड़ना चाहिए। 

दिशा का रखें खयाल 
आप किस दिशा में सो रहे हैं उसका भी असर आपके सपनों पर पड़ता है। आपको कभी भी उत्तर और पश्चिम दिशा में सिर करके नहीं सोना चाहिए। इन दिशाओं की तरफ सिर रखकर सोने से शरीर के मैग्नेटिक करंट में रुकावट होती है जिससे दिमाग बैचेन हो जाता है। सोने के लिए पूर्व दिशा सबसे अच्छी मानी जाती है। इस दिशा में सिर रखकर सोने से अच्छी नींद आती है और बुरे सपनों से भी छुटकारा मिल जाता है।

अमावस्या पर करें यह उपाय
सपने में बार-बार नदी, झरना या पानी नजर आने का कारण पितृ दोष से हो सकता है। इससे निजात पाने के लिए अमावस्या के दिन सूर्यास्त के बाद सफेद चावल, शक्कर और घी मिला कर पीपल के पेड़ पर चढ़ाना चाहिए।

घर रखें साफ 
घर में गंदगी होने से नकारात्मक ऊर्जा बढ़ जाती है, जिसका असर सपनों पर भी पड़ता है। इसलिए घर को साफ रखना चाहिए। नकारात्मक ऊर्जा से बचने के लिए सुबह घर में पानी में सेंधा नमक मिलाकर पौंछा लगाना चाहिए। 

सूर्यास्त के समय करें ये उपाय
नकारत्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए आप रोज शाम को सूर्यास्त के समय धूप-गूगल जलाकर धूनी भी कर सकते हैं। 

अगर आपका कोई करीबी भी बुरे सपनों से परेशान है तो इस आर्टिकल को उनके साथ शेयर करना ना भूलें। 

आपका चेहरा खोलेगा आपकी सेहत के राज़, आईने देता है ये संकेत

आपका चेहरा खोलेगा आपकी सेहत के राज़, आईने देता है ये संकेत


इस दुनिया में ऐसे बहुत सारे लोग हैं, जो सुबह उठ कर सबसे पहले अपने दिन की शुरुआत आईने के सामने खड़े होकर अपना चेहरा देख कर करते हैं. चेहरा हर इंसान की ख़ूबसूरती की पहचान कराता है. इतना ही नहीं बल्कि हम किसी भी व्यक्ति का चेहरा और हाव भाव देख कर उसके स्वभाव, व्यक्तित्व और उसके मूड के बारे में जान सकते हैं. अगर कोई इंसान खुश होता है तो उसका चेहरा भी खिलखिला उठता है. वहीँ अगर कोई व्यक्ति उदास होता है तो उसका चेहरा भी उसकी तरह ही मुरझा जाता है. चेहरा हमारी सूरत और सीरत के इलावा हमारी सेहत के भी कईं राजों के बारे में हमे बताता है. दरअसल, चेहरे पर मौजूद आँख, कान, नाक आदि हमारी सेहत पर हावी होने वाली बीमारियों के बारे में हमे आगाह करता है. ऐसे में अगर आपके उन अंगों में कोई गड़बड़ होती है तो पूरा चेहरा रूखा पड़ जाता है.

ऐसे में अगर आप आईने के सामने खड़े होकर अपना चेहरा देखेंगे तो आपको अपनी बिगड़ी हुई सेहत के बारे में कुछ संकेत अवश्य निकलेंगे. चलिए जानते हैं उन संकेतों के बारे में-

माथा 

यदि आपके माथे पर पिंपल्स या आड़ी लकीरें दिखाई दे रही हैं तो इसका मतलब यह है कि आपके पित्ताशय, लीवर और पाचन प्रणाली में गड़बड़ हो गई है. दरअसल हमारा माथा शरीर के नर्वस सिस्टम और पाचन तंत्र प्रणाली से जुड़ा होता है ऐसे में माथे पर किसी प्रकार की परेशानी आने से हमें अपने इतने में होने वाली तर्पण का पता चल जाता है.

ऐसे करें समाधान : अपने माथे की इस समस्या को सुलझाने के लिए आपको स्ट्रेस यानि तनाव से दूर रहना चाहिए और योग एवं आसन करने चाहिए. इसके इलावा पाचन प्रणाली ठीक तरह से रखने के लिए आपको फैट वाले फ़ूड कम कर देने चाहिए और सुबह गुनगुने पानी में नींबू निचोड़कर पीना चाहिए.

आंखे लाल होना

यदि आईने के सामने खड़े होकर आप अपनी आंखों में देखें और आपको आंख लाल दिखाई दे तो इसका मतलब आपको डिप्रेशन या इम्यून डिसीज की समस्या है. इसके अलावा यदि आपकी आंखों में आपको पीलापन दिखाई दे रहा है तो इसकी वजह लीवर की कोई बीमारी हो सकती है. इसके इलावा आंखों के नीचे जरूरत से अधिक डार्क सर्कल होना भी हमें कमजोरी, नींद की कमी, खून की कमी, आयरन की कमी आदि के संकेत देती है.

डॉक्टर से करें तुरंत संपर्क : यदि आपको आंखों के नीचे डार्क सर्कल यहां बदलता रंग अनुभव हो रहा है तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से संपर्क करें और प्रयाप्त नींद लें. इसके इलावा ज्यादा मात्रा में पानी पिए और डेयरी प्रोडक्ट से दूरी बना लें.

बार बार नाक बहना

यदि आपको जुखाम की समस्या बनी है तो इसके पीछे हार्ट प्रॉब्लम या ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है.

ऐसे करें समाधान : जुखाम की समस्या से बचने के लिए आप मसालेदार चीजों से दूरी बना ले और अपने खाने में फैटी एसिड युक्त एवोकैडो, अलसी, ऑलिव ऑयल जैसी चीजें शामिल कर ले.

जीभ पर सफेद दाग पड़ना

अगर आपको अपनी जुबान पर सफेद दाग नजर आ रहे हैं तो समझ लीजिए आपके शरीर में टॉक्सिन की मात्रा अधिक बढ़ चुकी है. ऐसे में आपको इलाज की सख्त जरूरत है.

ऐसे करें इलाज : शरीर में लगातार बढ़ रहे टॉक्सिंस की मात्रा को कम करने के लिए आपको डिटॉक्सीफिकेशन करने की जरूरत पड़ती है. इसके लिए पानी एकमात्र रामबाण उपाय है. इसलिए ज्यादा से ज्यादा पानी और खट्टे फलों के जूस का सेवन करें.

ठुड्डी के पास पिंपल्स

बहुत सारी लड़कियों को पीरियड्स के दौरान उनकी ठुड्डी के पास पिंपल हो जाते हैं. ऐसा उम्र में होने वाले हार्मोनल इम-बैलेंस के कारण होता है. इस दौरान आपको घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है.

ऐसे करें समाधान : अगर आप एक महिला हैं और इस हार्मोन इंबैलेंस से बचना चाहती हैं तो अपने तनाव यानी स्ट्रेस को खुद से दूर रखें. इसके इलावा आप भरपूर नींद लें और एक्सरसाइज को अपने दिनचर्या में शामिल करें.
गर्मियों में बियर पीने से दूर हो जाते हैं ये रोग, पुरुष जरूर जान लें

गर्मियों में बियर पीने से दूर हो जाते हैं ये रोग, पुरुष जरूर जान लें


ऐसे बहुत से लोग हैं जो कि बीयर पीने के काफी शौकिन होते हैं. खासाकर गर्मियो की बात करें तो इन दिनों में लोग एल्कोहल की मात्रा लेना काफी पसंद करते हैं जो बियर गेंहू. मक्का, जौ से मिलकर बनी होती है वह मनुष्य के शरीर के लिए काफी सेहतमंद होती है.आपने अपने बड़ो से सुना होगा कि वह जिसको भी बियर पीते हुए देखते हैं तो वह इसको पीने के लिए मना ही करते हैं. परंतु ऐसे बहुत से कम लोग हैं जो कि बियर के फायदे के बारे में नहीं जानते होंगे. बियर नुकसान ही नहीं बल्कि हमको इन बीमारियों से बचाती है.

1. दिल के लिए

जो लोग बीयर का सेवन करते हैं उन लोगों के दिल के लिए बहुत लाभदायक होती है. यहां तक की यह दिल से संबंधित रोगों को भी नष्ट करती है. कहा जाता है हफ्ते में लोगों को 2,3 बार बीयर जरुर चाहिए जिससे आप स्वास्थ रह सके.

2. गुर्दे की पत्थरी

किडनी में पत्थरी एक बेहद गंभीर बीमारी होती. ऐसी बीमारी वालों को बियर का सावन जरुर करना चाहिए क्योंकि इसे पीने के बाद लोग बाथरुम कई बार जाते हैं और इसके चलते पत्थरी बाहर आ जाती है.

3. पाचन शक्ति

जिन लोगों की पाचन शक्ति मजबूत नहीं होती है उन लोगो को बीयर का सेवन अवश्य जरुर करें. बीयर पीने से हमारे पाचन तंत्र मजबूत रहता है और पेट भी आसानी सा साफ हो जाता है.

4. हड्डियां मजबूत

बीयर पीने का जबरदस्त फायदा यहा भी है कि जो लोग बीयर का सेवन करते हैं उन लोगं की मांसपेशियां व हड्डियां काफी मजबूत रहती है.

5. डायबिटीज

डायबिटीज वाले लोगों को बीयर बहुत फायदेमंद होती है. बीयर पीने से डायबिटीज पहले से काफी कम हो जाती है.

6. स्मरण शक्ति

यदि बीयर का उपयोग सही तरह से किया जाएं तो इससे आपकी याददाश्त काफी हद तक बढ़ सकती है.