दिमाग तेज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
दिमाग तेज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 2 जनवरी 2018

इसका सेवन करने से स्मरणशक्ति ऐसी बढ़ेगी की सिर्फ एक बार सुनने मात्र से सब कुछ याद रह जायेगा

इसका सेवन करने से स्मरणशक्ति ऐसी बढ़ेगी की सिर्फ एक बार सुनने मात्र से सब कुछ याद रह जायेगा


जिन व्यक्तियों के मस्तिष्क और स्नायु दुर्बल हो जाते हैं, उनकी स्मरणशक्ति कमजोर हो जाती है, कुछ याद नहीं रहता तथा स्वभाव से वे भुलक्कड़ हो जाते हैं। विद्यार्थियों की भी यह आम समस्या है कि उन्हें पढ़ा हुआ भलीभांति याद नहीं रहता और याद रहता है तो कुछ ही समय तक। ब्रेन फ़ूड जो आपके दिमाग को तेज करता है। आज के इस युग में तेज दिमाग का होना बहुत ही जरुरी है। हाल के कुछ सालो में प्रतियोगिता काफी बढ़ गयी है। अपने जीवन का हर मोड़ पर हमे प्रतियोगिताओ का सामना करना पड़ता है, जिसके लिए तेज दिमाग की आवश्यकता होती है। अच्छे भविष्य के लिए तेज बुद्धि का होना बहुत ही जरुरी है।

तेज दिमाग के लिए नियमित खान-पान और नियमित दिनचर्या की जरुरत होती है। लगभग हर घर में याददास्त कमजोरी की समस्या रहती है। रोजमर्रा की तनाव के कारन छोटी-छोटी बातें याद रखना भी मुश्किल हो जाता है। कमजोर याददास्त के कारन खुद तो परेशान होते ही है, साथ में दुसरे लोगो को भी परेशानी में डाल देते है। कुछ ऐसे आहार के बारे में बताया जायेगा, जिनका उपयोग करने से आपकी दिमाग की क्षमता बढती है और आपकी याददास्त में सुधार आने लगता है। इन आहार को “ब्रेन फ़ूड” भी कह सकते है।
वीक मेमोरी या कमजोर याददाश्त एक ऐसी बीमारी है। जिसमें इंसान कही हुई बात या याद हुई चीज को तुरंत भूल जाता है। भूलने वाले लोगों के लिए यह बहुत अधिक परेशानियों का कारण है, इसके लिए एक आयुर्वेदिक नुस्खा यहां दिया जा रहा है, जो स्मरण शक्ति बढ़ाता है।
बनाने की विधि : 
हल्दी, बच, कूठ, पीपल, सोंठ, जीरा, अजमोद, मुलेठी और सेंधा नमक सब बराबर मात्रा में मिलाकर महीन पीस कर चूर्ण तैयार कर लें।

सेवन की विधि :
8 से 16 रत्ती (1 से 2 ग्राम) तक आयु के अनुसार 21 दिनों तक प्रातः काल खाली पेट और रात को खाना खाने के 2-3 घंटे बाद सोते वक़्त नित्य प्रयोग करें।

आवश्यक सामग्री :
  • मुलहठी : 50 ग्राम
  • गिलोय : 50 ग्राम
  • शंखाहूली : 50-50 ग्राम लें।
निर्माण विधि :
सभी द्रव्यों को कूट पीसकर कपड़े से छानकर चूर्ण बना लें। फिर इसमें सोने का अर्क या भस्म 3 ग्राम मिलाकर खरल में घोटाई करें। जिससे स्वर्णभस्म अच्छी तरह मिल जाए, उसके बाद एक बोतल में सुरक्षित रख लें।

सेवन विधि :
उम्र के अनुसार इस चूर्ण को आधा ग्राम से दो ग्राम की मात्रा में लेकर घी और शहद (विषम मात्रा में) मिलाकर खाएं, घी कम और शहद ज्यादा मात्रा में लेना चाहिए। कुछ दिनों तक इसके सेवन से स्मरणशक्ति और बुद्धि तीव्र होती है तथा भूलने की आदत से छुटकारा मिल जाता है।

ये 23 ब्रेन फूड्स आपकी मेमोरी को बूस्ट कर देंगे :

1. ब्लू बेर्री : प्रतिदिन ब्लू बेर्री फल का सेवन करे। चुकी इसमें प्रचुर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट होता है। इसके इस्तेमाल से आपका दिमाग तेज होगा।

2. बेल : एक पका हुआ बेलफल का गूदा मिट्टी के सकोरे में डालकर पानी भर दें। ऊपर पतला कपड़ा या छलनी रख दें। सुबह पानी निथारकर मीठा मिलाकर पीएं दिमाग तरोताजा हो जाएगा। सर्दियों के दिनों में बेल का गूदा मिट्टी के पात्र के बजाय कलईदार बर्तन या स्टील के पात्र में रखें और उसी समय मसलकर गर्म पानी में शहद के साथ घोलकर पी लें। इसके नियमित प्रयोग से दिमागी शक्ति अवश्य बढ़ेगी।

3. अलसी का बीज : अलसी के बीज में प्रचुर मात्रा में फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है इसलिए इसके इस्तेमाल से आपका दिमाग तेज होगा।

4. पालक : प्रतिदिन पालक का इस्तेमाल करने से कई तरह के रोगों से बचा जा सकता है। पालक में मैग्नीशियम की प्रचुर मात्रा होती है, जो हमारे पुरे शारीर और दिमाग के लिए फायदेमंद होता है।

5. दालचीनी : दालचीनी का पाउडर बना ले। अब लगभग 10 ग्राम दालचीनी पाउडर को शहद में मिला कर चाट ले। इससे आपकी दिमाग शार्प होगी।

6. आवला : आवला का रस निकाल ले एक चम्मच और उसमे दो चम्मच शहद मिला कर पिये। इससे आपकी दिमाग तेज होगी और याददास्त भी अच्छी होगी।

7. धनिया : सबसे पहले धनिया का पाउडर बना ले अब आधा चम्मच पाउडर में दो चम्मच शहद मिला कर खाये। आपकी स्मरण शक्ति यानी याददास्त में वृद्धि होगी।

8. अखरोट : अखरोट में ज्यादा मात्रा में प्रोटीन और एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है। जिसके उपयोग से अपने दिमाग को तेज बना सकते है। इसका इस्तेमाल प्रतिदिन करे।

9. बादाम : बादाम को दिमाग के लिए अमृत के समान माना जाता है। स्मरणशक्ति के विकास के लिए 10 बादाम रात को भिगो दें और सुबह छिलका उतारकर लगभग 10-12 ग्राम मक्खन और मिश्री के साथ मिलाकर खाएं। लगातार दो माह तक यह मिश्रण खाने से दिमाग की सभी कमजोरियां दूर हो जाती हैं। यदि ऐसा संभव नहीं हो तो भीगे हुए बादाम की लुगदी बनाकर सेवन करें। दिमागी कमजोरी दूर करने के लिए दूसरा उपाय यह है कि रात्रि के समय बादाम के साथ सौंफ व मिश्री मिलाकर उसे पीस लें। इस चूर्ण को दूध के साथ पीने से स्मरणशक्ति बढ़ती है। यदि यह भी संभव न हो सके तो दस बादाम बारीक पीसकर आधा किलो दूध में मिलाएं और दूध को गर्म कर लें। इसके पश्चात दूध ठंडा होने पर उसमें चीनी मिलाकर पीएं। इस प्रकार किसी भी तरह से बादाम का सेवन करने से दिमाग में तरोताजगी आ जाती है व स्मरणशक्ति में भरपूर वृद्धि होती है।

10. तुलसी : तुलसी के इस्तेमाल से कई प्रकार की बीमारी भी दूर होती है। गुलाब की पंखुरी, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते को चबाकर खाये आपको लाभ मिलेगा।

11. गेंहू के ज्वारे : गेंहू के ज्वारे को आयुर्वेद में अमृत कहा गया है। अगर आपको अपने दिमाग को तेज करना है, तो गेंहू के ज्वारे का रस में थोड़ी बादाम का पेस्ट और शक्कर मिलाकर इसका सेवन करे आपको लाभ मिलेगा।

12. गाजर : गाजर का सेवन प्रतिदिन करे। गाजर के सेवन से आपका दिमाग तेज होगा उसके साथ-साथ आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है।

13. अदरक, मिश्री और जीरा : इन तीनो को पीसकर रोजाना सेवन करे आपको लाभ मिलेगा।

14. दही और दूध : दही में एमिनो एसिड होता है, जो आपके दिमाग के लिए फायदेमंद होता है। आप एक गिलास दूध में शहद दो चम्मच मिला कर पिये आपको फायदा होगा।

15. तिल : तिल और गुड मिलाकर खाने से आपकी दिमाग शार्प होगी।

16. सेव : सेव के सेवन से स्मरणशक्ति बढ़ जाती है। इसके लिए एक या दो सेव बिना छिलके उतारे चबा-चबाकर भोजन से पंद्रह मिनट पहले खाना चाहिए। यह मस्तिष्क को शक्ति देने के साथ-साथ रक्त की कमी भी दूर करता है।

17. लीची : लीची का प्रयोग करते रहने से मस्तिष्क को बल मिलता है।

18. आंवला का मुरब्बा : स्मरणशक्ति में वृद्धि के लिए प्रतिदिन प्रातः आंवले का मुरब्बा खाएं।

19. गाय का दूध और गाजर खायें : गाजर के रस को गाय के दूध के साथ समान अनुपात में मिलाकर पीने से स्मरणशक्ति में वृद्धि होती है।

20. चुकंदर : चुकंदर का रस प्रतिदिन पीने से भी स्मरणशक्ति बढ़ती है।

21. आम : दिमागी कमजोरी से होनेवाली स्मरणशक्ति की कमी के लिए एक कप आम का रस, थोड़ा दूध और एक चम्मच अदरक का रस व चीनी मिलाकर पीने से दिमाग में ताजगी का संचार होता है। दूध में आम का रस मिलाकर पीने से भी दिमाग में तरावट आती है।

शनिवार, 23 दिसंबर 2017

इलाइची को इस तरह खाओगे तो दिमाग कंप्यूटर से भी तेज़ चलेगा

इलाइची को इस तरह खाओगे तो दिमाग कंप्यूटर से भी तेज़ चलेगा


भारत में इलाइची का उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में किया जाता हैं. कुछ लोग इसे मीठे भोजन जैसे हलवा, खीर इत्यादि में भी डालते हैं. यह इलाइची भी दो प्रकार की होती हैं. पहली छोटी इलाइची जो अपने अच्छे स्वाद और बेहतरीन खुशबु के लिए जानी जाती हैं. वहीँ एक दुसरे प्रकार की इलाइची होती हैं जिसे हम बड़ी इलाइची कहते हैं. यह बड़ी इलाइची असल में एक खड़ा मसाला होती हैं जिसे तड़का लगाते समय डाला जाता हैं.

इलाइची सेहत के लिए बहुत अच्छी होती हैं. इसके अन्दर विटामिन सी, पोटेशियम, मैग्नेशियम, कैल्शियम, जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं. तो चलिए जाने इलाइची खाने से क्या क्या फायदे होते हैं.
इलाइची से करे अपना दिमाग मजबूत
बहुत कम लोग जानते हैं कि इलाइची दिमाग को मजबूत करने का सबसे अच्छा नुस्खा हैं. इसके सही तरह के इस्तेमाल करने से आप अपनी याद्दाश्त बढ़ा सकते हैं. इस से सोचने और समझने की शक्ति भी दुगुनी होती हैं. इस नुस्खे को तैयार करने के लिए 3 बादाम, 3 पिस्ता, और 4 इलाइची को मिला कर पीस ले. अब इस मिश्रण को एक ग्लास दूध में डाल कर तब तक उबाले जब तक कि दूध आधा ना हो जाए. इसके बाद दूध में मिश्री डाल के इसे पी ले. ये नुस्खा बड़ो के साथ साथ बच्चो के दिमाग को तेज़ करने में भी बहुत फायदेमंद हैं.
ये भी पढ़िए : सिर्फ 2 से 3 इलायची खाने के ये फायदे जानकर चौंक जायेंगे!

इलाइची खाने के अन्य फायदे

1. मजबूत पाचनतंत्र के लिए: आप ने अक्सर देखा होगा कि जब भी घर में कोई मेहमान डिनर या लंच पर आता हैं तो खाने के बाद उसे इलाइची दी जाती हैं. ऐसा इसलिए किया जाता हैं क्योंकि इलाइची खाने को जल्दी पचाने में मदद करती हैं. इस इलाइची को भोजन के बाद खाने से कब्ज, एसिडिटी, पेट में दर्द या जलन जैसी समस्यां नहीं होती हैं. साथ ही ये इलाइची आपके गले या सीने में होने वाली जलन में भी आराम पहुंचाती हैं.

कैसे खाए:  मजबूत पाचन तंत्र के लिए ये औषधि तैयार कर ले. अदरक का एक छोटा सुखा टुकड़ा, 2 लौंग, 3 इलाइची और 1 चम्मच धना. इन सभी चीजों को अच्छे से मिक्क्स कर पीस कर चूर्ण बना ले. अब इस चूर्ण को रोजाना दो बार सुबह शाम खाए खाने के बाद खाए. पेट से जुड़ी हर समस्यां ठीक हो जाएगी.

2. ब्लड प्रेशर के लिए: जिन लोगो को ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती हैं उन्हें इलाइची का सेवन रोजाना करना चाहिए. इसके अन्दर उपस्थित पोटेशियम और फाइबर शरीर के ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने का कार्य करते हैं.

3. सर्दी खांसी और खराश: ठण्ड में सर्दी खांसी का होना आम बात हैं. ऐसी स्थिति में रोज सुबह शाम खाली पेट 1 से 2 इलाइची खा ले और फिर पानी पी ले. ऐसा करने से सर्दी खांसी तो ठीक होगी ही साथ ही गले में होने वाली खराश से भी आराम मिलेगा.

गुरुवार, 14 दिसंबर 2017

याददाश्त को तेज रखने में कारगार है ये फल, रोज खाने से होगा कमाल

याददाश्त को तेज रखने में कारगार है ये फल, रोज खाने से होगा कमाल


अगर आप भी अक्सर चीजें रखकर भूल जाते हैं जिसकी वजह से आपको लोगों की कई बातें सुननी पड़ती हैं तो अपने दिमाग को तेज और मजबूत बनाने के लिए डाइट में इन चीजों को शामिल करना न भूलें। 

दही
दही में मौजूद अमीनो एसिड न सिर्फ याददाश्त तेज करता है बल्कि यह तनाव से राहत दिलाने में भी सहायक है। आप इसमें अपनी पसंद के फल मिलाकर इसे एक सेहतमंद नाश्ते के रूप में अगर रोज लेंगे तो आपका दिमाग हमेशा दुरुस्त रहेगा।
जामुन
जामुन एक ऐसा फल है जो एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर है। इसमें विटामिन ई भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है जिससे बढ़ती उम्र के साथ-साथ होने वाली मानसिक समस्याओं से बचाव में आसानी होती है। इसके अलावा, यह किसी भी चीज को लंबे समय तक याद रखने में भी बहुत मददगार है।  
बादाम 
बादाम को याददाश्त तेज करने का दादी मां का नुस्खा कहना गलत न होगा। बादाम में एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं और यह ओमेगा 3 फैटी एसिड का भी अच्छा स्रोत है। संतुलित मात्रा में नियमित रूप से बादाम का सेवन दिमाग तेज करने के लिए काफी फायदेमंद है।
मछली
अगर आप मांसाहारी हैं तो मछली का सेवन आपके दिमाग के लिए बहुत फायदेमंद है। सैमन, ट्यूना जैसी मछलियों में ओमेगा 3 फैटी एसिड, प्रोटीन और कैल्शियम जैसे तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं जो दिमाग और नर्वस सिस्टम के लिए बहुत उपयोगी हैं।

रविवार, 12 नवंबर 2017

ठण्ड में इनके सेवन से होंगे फायदे, जरुर शेयर करें

ठण्ड में इनके सेवन से होंगे फायदे, जरुर शेयर करें


शीत ऋतू की शुरुआत हो चुकी है यदि इसमें खानपान का ध्यान रखा जाता है तो बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है सभी जानता है की ठण्ड में क्या खाने से शरीर गर्म रखा जा सकता है फिर भी कुछ चीजों के बारे में चौकाने वाली बातें जो आपके लिए लाभदायक है

बाजरा : यह शरीर को जबर्दस्त तरह से गर्म रखता है बच्चों को यह खिलाने से कफ नहीं होगा.
कारण : बाजरा में दुसरे अन्न के मुकाबले प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है इसमें मैग्नीशियम, कैल्शियम, मैग्नीज, फाइबर, विटामिन बी, भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं
अदरक : सभी जानते हैं कि अदरक से कफ, खांसी आदि का नाश होता है साथ ही पेट साफ़ भी रहता है
कारण : दरअसल अदरक में जिंजेराल नाम का ओलिओरेसिन कम्पौंड रहता है यही इसमें सबसे ज्यादा तीखापन लाता है और यही शीत से लड़ने में मदद करता है
शहद : शहद तर्जिनी या ऑर्डर फिंगर से जबान के अग्रभाग पर रखने मात्र से न्यूरोलॉजिकल बैलेंस हो जाता है
कारण : शहद में 75 फीसदी शर्करा होती है जो दिमाग को शांत करती है साथ ही इसमें प्रोटीन, एल्ब्यूमिन, एंजाइम, आयोडीन, लोहा, तांबा, पोटेशियम, विटामिन पाया जाता है

लहसुन : यह शीत में पेट साफ़ रखने के साथ साथ शरीर को गर्म रखता है कफ़ होने पर खाली पेट लहसुन खाने से लाभ होगा
कारण : इसका तीखापन पूरे शरीर में पसीना ला देता है, पसीना अपने आप में एक गंदगी है जो इससे दूर होती है इसके सेवन से मल साफ़ होता है जबकि शीत में कब्ज़ की शिकायत अधिकांश लोगों को रहती है इसमें एल्लिसिन नामक एंटीबायोटिक होता है जो बहुत से रोगों से बचाव करता है

मूंगफली : मूंगफली के सेवन से ठण्ड के दिनों में भी त्वचा कोमल और नर्म बनी रहती है
कारण : यह ओमेगा 6 से भरपूर होती है यह कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर होती है, जिससे हड्डियाँ दुरुस्त रहती है विश्व स्वास्थ्य संगठन ने तो यहाँ तक कहा है की मूंगफली के तत्व गर्मी देते हैं जो कुपोषण के शिकार बच्चों को बचाने में मदद करते हैं

शुक्रवार, 20 अक्तूबर 2017

रात को 2 इलायची खाकर गर्म पानी पीने से होते हैं कई चौकाने वाले फायदें !

रात को 2 इलायची खाकर गर्म पानी पीने से होते हैं कई चौकाने वाले फायदें !


भारतीय रसोई में इलायची के टेस्ट की एक अलग ही जगह है। बड़ी इलायची कुछ स्पेशल व्यंजनों को बनाने के लिए मुख्य मसाला है वहीं आमतौर पर छोटी इलायची को खुशबू व स्वाद के लिए प्रयोग में लिया जाता है। इलायची वाली चाय भी संसार भर में खूब पसंद की जाती है। लेकिन शायद आप यह नहीं जानते है कि इलायची एक आयुर्वेदिक औषधि भी है जिससे हम शरीर की कई बीमारियों से छुटकारा आसानी से पा सकते है।आपको बतादें कि अगर हम रात्रि के समय इलायची को खाते है और फिर पानी का  सेवन करते है तो उससे शरीर को कौन – कौन से फायदे होते हैं।


वजन कम करें 
वजन कम करना आज छोटी से बात हो गयी है जिसे भी देखो वो मोटापा कम करने में लगा है लेकिन मोटापा बहुत समय बाद जाता है वो भी जब आप कठिन मेहनत करते है उसके बाद लेकिन आयुर्वेद के अनुसार हम बिना ज़्यादा मेहनत के इलायची के साथ गर्म पानी सेवन करने से अपने शरीर का अतिरिक्त वजन कम कर सकते हैं।
सांस की दुर्गन्ध दूर करने के लिए
सांस की दुर्गन्ध को दूर करने में भी इलायची काफी लाभदायक होती हैं और आयुर्वेदिक होने की वजह से इसका कोई नुकसान भी नहीं होता है। अगर आपके मुंह से बदबू हमेशा आती है तो रात को गर्म पानी के साथ इलायची के सेवन से सांस की दुर्गन्ध की यह समस्या समाप्त हो जाती हैं।

रक्त प्रभाव नियंत्रित करें
इलायची में ऐसे गुण भी है जो शरीर में रक्त के प्रभाव को नियंत्रित रखते है इसीलिए शरीर में रक्त प्रभाव को ठीक रखने के लिए आयुर्वेद में रात को इलायची खाकर गर्म पानी सेवन करने की बात की गयी है।
शरीर की अंदर से सफाई करें
शरीर के अंदर की सफाई भी उतनी ही जरूरी है जितनी की शरीर के बाहर की वैसे हम शरीर के बाहरी हिस्से की सफाई पर ज़्यादा ध्यान देते है लेकिन शरीर के अंदर की सफाई के बारे में कभी नहीं सोचते लेकिन यह शरीर के लिए बहुत जरूरी होती है और इलायची से हम अपने शरीर के अंदर किस सफाई बड़ी ही आसानी से कर सकते है। इसके लिए आपको रात को चार इलायची खाकर ऊपर से गर्म पानी का सेवन करना है। ऐसा करने से आपके शरीर के अंदर की सफाई सुबह मल द्वारा हो जाती हैं।

दिमाग को तेज करें
दिमाग की शक्ति बढ़ाने और याददाश्त बढ़ाने में इलायची बहुत लाभदायक होती हैं। इसके लिए आप किसी तरह से इलायची का सेवन कर सकते है।
ये भी पढ़िए : अगर याददाश्त को रखना है चुस्त दुरूस्त तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खें

शनिवार, 7 अक्तूबर 2017

आज ही ले आये ये फूल चुपचाप रख दे चाँदी की डिब्बी में तुरंत होगा चमत्कार

आज ही ले आये ये फूल चुपचाप रख दे चाँदी की डिब्बी में तुरंत होगा चमत्कार


ज्योतिष कहता है कि कुछ खास पेड़ के पौधों की जड़ या फूल को काम में लिया जाए तो कई समस्याओं का समाधान मिल सकता है. तथा वह आयुर्वेद कहता है कि हमारी प्रकृति में कुछ ऐसी चीज पाई जाती हैं जिनका हम सही प्रयोग करके गंभीर से गंभीर बीमारियों को दूर कर सकते हैं.यानी इन से अपना बचाव कर सकते हैं दोस्तों आज हम आपको ऐसी ही एक पेस्ट के बारे में बताने जा रहे हैं.

हमें जरुरत है किसी ऐसे चमत्कार की जो आसानी से मिल जाए और हमारे मस्तिष्क को ठीक कर दे. आयुर्वेद ने एक शानदार जड़ी-बूटी का उल्लेख किया गया है जिसको हम शंखपुष्पी के नाम से जानते है. इसका लैटिन नाम शंखपुष्पी है जो की हरिणपदी कुल परिवार से सम्बंधित है. इसका हिन्दी नाम शंखुलि है इंग्लिश में इसे शंखपुष्पी कहते है.

इसका नाम है शंखपुष्पी जिन लोगों की अक्सर धन की कमी चलती रहती है आर्थिक परेशानी चलती है. ऐसे लोगों के लिए शंखपुष्पी बहुत ही महत्वपूर्ण चीज है वास्तुशास्त्र के अनुसार रविवार के दिन पर शुभ मुहूर्त में शंखपुष्पी का फूल लाकर एक चांदी की डिबिया लें.

और चांदी के डिब्बे में बंद करके घर की तिजोरी में उसे रख दें ऐसा करने से धन वृद्धि होती है. और आर्थिक परेशानियों से मनुष्य को निजात मिलती है शंखपुष्पी को समान रुप से ब्रेन टॉनिक के नाम से भी जाना जाता है.

सोमवार, 17 जुलाई 2017

अगर आप चाहते है कंप्यूटर जैसा तेज दिमाग तो अपनाये ये आसान उपाय

अगर आप चाहते है कंप्यूटर जैसा तेज दिमाग तो अपनाये ये आसान उपाय


ड्राई फ्रूट्स हमारे शरीर और दिमाग के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता हैं। इसका सेवन करने से शरीर तो बहुत बेहतर होता ही है साथ ही दिमाग भी बहुत ज्यादा तेज होता है। प्रोटीन, कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट समेत कई अन्य पोषक तत्वों से भरपूर मेवा वजन घटाने में भी बहुत ज्यादा मदद करता है। यही नहीं ये हृदयरोग, डायबिटीज और उच्च रक्तचाप के खतरों से भी निजात दिलाता हैं। आइए शरीर को उर्जा प्रदान करने वाले इन फ्रूट्स के बारे में बात करते हैं।

काजू
काजू को उर्जा का एक बहुत ही अच्छा स्रोत माना जाता है। इसका प्रतिदिन सेवन करने से थकान भी दूर होता है। तंत्रिका तंत्र, हड्डियों और प्रतिरक्षा प्रणाली को यदि आप मजबूत करना चाहते हैं तो काजू का सेवन करते रहिए क्योंकि इसमें कॉपर की बहुत भरपूर मात्रा पाई जाती है।

पिश्ता
एक अध्ययन के अनुसार रोजाना 60 पिश्ते खाने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। पोटेसियम और एंटीऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा पिश्ता को सेवन टाइप टू डायबिटीज में काफी फायदेमंद माना जाता गया है।

अखरोट
निरंतर अखरोट के सेवन से धमनियों के ब्लॉकेज को ठीक किया जा सकता है। अध्ययन बताते हैं प्रतिदिन मुट्ठी भर अखरोट आपके शरीर को मिनरल्स, एंटीऑक्सिडंट, विटामिन्स और प्रोटीन्स प्रदान करते हैं जो ब्रैस्ट कैंसर, कोलोन कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर से बचाव करता है।

बादाम
विटामिन ई, मैग्नीशियम और कैल्शियम से भरपूर बादाम हमेशा से ही लोगों के लिए पसंदीदा ड्राई फ्रूट रहा है। इसका निरंतर सेवन करने से रक्तचाप कम करने और हड्डियों को मजबूत करने में मदत मिलती है। अमेरिका में हुए एक अध्ययन के मुताबिक रोजाना 42 ग्राम बादाम का सेवन करने से बैड कॉलेस्ट्रोल कम होता है, जिससे हृदयरोग और उच्च रक्तचाप नियंत्रित होता है।

किशमिश
किशमिश खाने से शरीर को ऊर्जा मिलती है। यह कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत है। इसके सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं। किशमिश में फाइबर होता है जो कब्ज जैसी समस्याओं को शरीर से दूर रखता है। इसके अलावा किशमिश खाने से गुर्दे की पथरी, एनीमिया, दांतों में कैविटी आदि रोग नहीं होते। इसमें ग्लूकोस और फ्रक्टोज़ पाया जाता है, जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है और वजन भी बढ़ता है।

शनिवार, 15 जुलाई 2017

अगर याददाश्त को रखना है चुस्त दुरूस्त तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खें

अगर याददाश्त को रखना है चुस्त दुरूस्त तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खें


मनुष्य का दिमाग ही उसे इस धरती पर दूसरे जीव जंतुओं से अलग बनाता है। मनुष्य के दिमाग से तेज़ कुछ नहीं जिस मनुष्य के पास जितना तेज़ दिमाग है वो उतनी ही तरक्की करता है। अगर हम हेल्दी और एक्टिव रहना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने ब्रेन को एक्टिव रखना होगा। आज के जमाने में अगर आपके पास ख़ूबसूरती के साथ एक अच्छा दिमाग है तो समझिए सोने पर सुहागा है।

अपने दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए सही खान-पान, एक्सरसाइज, पूरी नींद, शांत चित रहना तो जरुरी है ही पर कुछ घरेलू नुस्खों की मदद से हम अपने मस्तिष्क को एक्टिव और याददाश्त को बढ़ा भी सकते हैं।
  • थोड़े से अशोक के पेड की छाल और ब्रह्मी के चूर्ण को बराबर मात्रा में लेकर एक चम्मच सुबह और शाम थोड़े से दूध के साथ रोज लेने से मस्तिष्क तेज होता है।
  • शहद (Honey) के साथ लगभग एक चौथाई ग्राम चांदी (Silver) की भस्म सुबह-शाम खाने से हमारे मस्तिष्क का विकास अच्छे से होता है और स्मरण शक्ति भी बढ़ती है।
  • एक गिलास में थोड़ी सी मिश्री और 2 छुहारे डालकर अच्छे से धीमी आंच पर उबालकर रोज पीने से बुध्दि तेज़ होती है।
  • कालीमिर्च और मिश्री की बराबर मात्रा को रोज एक गिलास दूध के साथ पीने से भी मस्तिष्क तेज होता है।
  • थोड़े से पपीते के गूदे को मिक्सर में डालकर बारीक़ पीस लें। इस मिक्सचर को एक गिलास दूध के साथ उबालें और कम से कम तीन चार बार उफान आनें दे, फिर इसे नीचे उतारकर एक चम्मच देशी घी और स्वादानुसार चीनी मिलाएं। ठंडा होने के बाद जब यह पीने लायक हो जाए तब इसको पीएं। इसका सेवन कम से कम 15 दिन से 40 दिन तक करने से स्मरण शक्ति काफी अधिक बढ़ जाएगी। प्रातःकाल खाली पेट इस दूध को पीने से काफी लाभ होगा। इस दूध को पीने के बाद दो घंटे तक कुछ न खाएं।
  • मछली के तेल में पाया जाने वाला ओमेगा-3 दिमाग के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसलिए आप अपने भोजन में मछली का सेवन कर सकते हैं अगर आप मछली का सेवन नहीं करते हैं तो आजकल बाजार में मछली के तेल के कैप्सूल भी आसानी से मिलते हैं। रोज आप इन कैप्सूल का प्रयोग कर अपनी याददाश्त बढ़ा सकते हैं।
  • दही में पाया जाने वाला एमिनो एसिड आपको तनाव से दूर रखता है जिसकी वजह से हमारा मस्तिष्क improve होता है। इसलिए रोज अपने खाने में दही को शामिल कर दिमाग को तेज बना सकते हैं।
  • कुछ बादाम लेकर उसे पानी में एक दिन के लिए भिगो दें। अगले दिन इन बादाम के छिलके उतार कर अच्छे से पीस लें और इसमें कुछ पीसी हुई काली मिर्च मिला लें और रोज इसका सेवन करें।
  • दो अखरोट, चार बादाम और चार पांच मुनक्का को बारीक़ पीस कर रोज एक गिलास दुध में मिलाकर पीने से याददाश्त बहुत तेज हो जाती है।
  • आंवला के मुरब्बे को गाय के दुध के साथ सुबह खाली पेट लेने से दिमाग तेज होता है।
  • थोड़े से आम के रस और अदरक के रस को दूध में मिलाकर पीने से याददाश्त बढ़ती है।

गुरुवार, 15 जून 2017

आपके दिमाग को घोड़े की तरह दौड़ाएंगे ये उपाय

आपके दिमाग को घोड़े की तरह दौड़ाएंगे ये उपाय


किसी भी बात को भूलना सामान्य रूप से बुढ़ापे की बीमारी कही जाती है पर बदलते दौर में और बदलती जीवनशैली में ये बीमारी अब हर उम्र में देखी जा सकती है । यदि किसी को भूलने की बीमारी होती है तो असल में उसको अपना दिमाग सक्रीय रखने की जरुरत होती है। कभी कभी यह भूलने की बीमारी हमारे जीवन में कई प्रकार की समस्या पैदा कर देती हैं।
दिमाग के बिना शरीर का कोई भी हिस्सा काम नहीं करता है इसलिए अपने शरीर के साथ साथ आपको अपने दिमाग का ध्यान भी रखना चाहिए इसलिए आज हम आपको बता रहें है कुछ ऐसे खास उपायों के बारे में जिनसे आप अपनी मेमोरी पावर को अच्छे से इम्प्रूव कर सकते हैं।

1- टमाटर 
असल में टमाटर के अंदर अच्छी मात्रा में वसा,प्रोटीन और विटामिन पाये जाते हैं साथ ही इसमें कार्बोहाइड्रेट काफी कम मात्रा में होते हैं। और इसका लाइकोपीन आपकी बॉडी के फ्री रेडिकल से रक्षा करता है और आपके ब्रेन से सेल्स को डैमेज होने से बचाता है।

2- दही 
दही में काफी ज्यादा मात्रा में वसा,विटामिन,मिनरल्स, फास्फोरस तथा कैल्शियम आदि पाये जाते हैं। यह आपके शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले जीवाणुओं को नष्ट करता है साथ ही इसमें अमीनो एसिड भी पाया जाता है जो की आपके दिमाग की याद्दाश्त बढ़ता है और उसका तनाव भी कम करता है।

3- बाह्मी-
बाह्मी को आयुर्वेद में दिमाग को ताकत देने वाली औषधि के रूप में जाना जाता है। यदि आप इसका सेवन करते हैं तो यह आपके दिमाग को स्वस्थ और तेज बनाती है। इसके लिए आप बाह्मी के पाउडर और शहद को आधा आधा चम्मच मिलाकर हल्के गर्म पानी के साथ प्रयोग करें।

4- जायफल-
इसको इसके विशेष स्वाद और अच्छी सुगंध के लिए जाना जाता है। इसमें कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो कि आपका दिमाग स्वस्थ और सक्रीय रखने में मदद करते हैं। इसके नियमित सेवन से आपकी याददाश्त भी बढ़ती है।

5- तुलसी-
तुलसी का सेवन करने से अनेक प्रकार की बीमारियों से निजात मिलती है ,यह हिन्दू धर्म में बहुत आस्था के साथ में रखी जाती है लोग इसको अपने घर में लगाना शुभ मानते हैं। यदि आप नियमित रूप से इसके 4 से 5 पत्ते खाते हैं तो यह आपके दिमाग को स्वस्थ रखने में मदद करती है और आपकी याददाश्त को भी बढ़ाती है।

6- केसर 
केसर को काफी लोग खाने में इस्तेमाल करते हैं, खाने में केसर के प्रयोग से खाने का टेस्ट बहुत अच्छा हो जाता है। केसर के नियमित इस्तेमाल से आपका दिमाग स्वस्थ रहता है और आपकी मेमोरी भी बढ़ती होती है। इसके लिए आप रोज 3 से 4 केसर के धागे दूध में डाल कर प्रयोग कर सकते हैं।

7- अखरोट 
अखरोट के गुण आपके दिमाग को स्वस्थ रखने के साथ उसको तेज़ भी बनाते है, यह आपकी मेमोरी को भी तेज़ करता है इसलिए आपको कम से कम 2 अखरोट का सेवन रोज करना चाहिए।

गुरुवार, 8 जून 2017

भुने चना और गुड़ खाने के बेमिसाल फायदे.

भुने चना और गुड़ खाने के बेमिसाल फायदे.


उचित और पौष्टिक खानपान के अभाव के कारण जहां एक और रोगियों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है वहीं दूसरी ओर युवाओं का शारीरिक और मानसिक विकास ठीक ढंग से नहीं हो पा रहा है। ऐसे में हर एक युवा पुरुष को भूने चने और गुड़ खाना चाहिए जिससे शरीर का सर्वांगीण विकास हो सके। भूने चने और गुड़ खाने से मर्दों को ये 6 बेहतरीन फायदे मिलते हैं- 
1. बुद्धि का विकास- भूने चने और गुड़ को खाने से बुद्धि का विकास होता है। इसमें विद्यमान बी 6 विटामिन के कारण याददाश्त बढती है। 

2. दांत के रोग - भूने चने और गुड़ खाने से दांत मजबूत होते हैं। दांत के सारे दर्द मिट जाते हैं। इसमें विद्यमान फॉस्फोरस के कारण दांत जल्दी नहीं टूटते। 

3. हड्डी के रोग- भूने चने और गुड़ खाने से हड्डियां मजबूत होती है। इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है। 

4. हृदय के रोग- गुड़ और चने में पोटेशियम होता है जो हृदय से संबंधित रोगों से बचाता है। इसके खाने से हार्ट अटैक होने की संभावना काफी कम हो जाती है।
5. पेट के विकार- भूने चने और गुड़ खाने से पेट से संबंधित समस्त विकार दूर हो जाते हैं। इसमें काफी मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो अपच, कब्ज, अॅसिडीटी जैसी समस्याओं से दूर रखता है। 

6. सुडौल शरीर- इसमें काफी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है जो मसल्स को मजबूत बनाने में मदत करता है। इसे खाने से शरीर का मेटाबॉलिज्म बढता है जो मोटापे से बचाता है। इसमें विद्यमान जिंक त्वचा को निखारने में मदत करता है। अतः इसे खाने से मर्दों का शरीर सर्वांगसुंदर बनता है। 

रविवार, 28 मई 2017

दिमाग तेज करने के लिए खाएं ये आहार

दिमाग तेज करने के लिए खाएं ये आहार


दिमाग, हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग हैं। यह पुरे शरीर पर नियंत्रण रखने का काम करता है, इसलिए इसे सेहतमंद रखना बहुत ही जरूरी है। इसके लिए आप नियमित रूप से व्यायाम कीजिए। इसके अलावा आज हम आपको ऐसे आहार के बारे में बताएंगे जिसकी मदद से न केवल आप अपने दिमाग को स्वस्थ्य रख सकते हो बल्कि उसकी क्षमता को भी बढ़ा सकते है, मतलब दिमाग तेज करने में ये आहार सहायता करते हैं ।

दिमाग तेज करने के घरेलू उपाय – खाएं ये आहार

#1 पुदीना
गर्मियों में दवा के रूप में काम करने वाला पुदीना एक बहुत ही गुणकारी पौधा है। यह दिमाग को ठंड़ा रखने का काम करता है। यह विटामिन ए का बहुत ही अच्छा स्रोत है, जो सीखने के कौशल को बढ़ावा देने के साथ मस्तिष्क में लचीलापन बढ़ाने के लिए काम आता है।

#2 मसूर की दाल
मसूर की दाल सेहत और खूबसूरती के लिए बहुत ही काम आता है। यह कई पौष्टिक तत्वों से भरपूर है। रक्तवर्द्धक एवं रक्त में गाढ़ापन लाने में मसूर की दाल बहुत गुणकारी है। इसके अलावा दस्त, बहुमूत्र, प्रदर, कब्ज व अनियमित पाचन क्रिया में मसूर की दाल का सेवन लाभकारी होता है। यह विटामिन बी से भरा हुआ खाद्य पदार्थ है जो दिमाग को तेज बनाने का काम करता है। यह ध्यान के साथ उर्जा को बढ़ाता है साथ ही यह मेमोरी बूस्टर के तौर पर भी काम करता है।

#3 कद्दू के बीज
बहुत ही कम लोगों को मालूम होगा कि कद्दू के बीज में कई तरह के पोषक तत्व पाये जाते हैं। कद्दू के ज्यूस में एक खास किस्म का गुण होता है दिमाग को शांति देना। इसका यह गुण इनसोम्निया यानी नींद न आने की बीमारी में लाभ पहुंचाता है। कद्दू के बीज वास्तव में खाने के लिए सबसे पौष्टिक (और स्वादिष्ट) बीजों में से एक हैं। यह ओमेगा 3 और ओमेगा 6 से भरा हुआ है, जो एक अच्छा ब्रेनफूड हैं, जिससे आप और आपके बच्चों के लिए एक स्मार्ट नाश्ता बना सकते हैं। आपको बता दें ओमेगा 3 फैटी एसिड मानसिक स्वास्थ्य में सुधार, स्मृति को बढ़ाने और स्वस्थ मस्तिष्क के विकास में मददगार हैं। इसलिए इसको दिमाग तेज करने के घरेलू उपाय में शामिल किया गया है ।

#4 गोभी
फास्फोरस, विटामिन ‘ए’, ‘सी’, प्रोटीन, कैल्शियम तथा निकोटीनिक एसिड जैसे पोषक तत्व गोभी में पाए जाते हैं। गोभी के सेवन से दिमाग को बूस्ट मिलता है। यह विटामिन ‘के’ का एक बड़ा स्रोत है। इसके बारे में कहा जाता है कि मेमोरी को बूस्ट और माइड को तेज बनाने का काम करता है।

#5 बादाम
बादाम में मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिन ई और फ़ास्फ़रोस भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते है। इसके अलावा तेज़ दिमाग के लिए रोज़ाना बादाम का सेवन करना चाहिए। बादाम आपके शरीर की सूजन से लड़ने में मदद कर सकते हैं साथ ही यह मस्तिष्क को तेज, केंद्रित और सतर्क रखने का काम करते हैं।

#6 हरी पत्तेहदार सब्जियां
हरे पत्ते वाली सब्जियां हमारे जीवन में बहुत मूल्यर रखती हैं क्यों कि इसे खाने से हमें हर प्रकार का पोषण मिलता है। इस तरह की सब्जियां खाने से हमारे दिमाग को निरंतर उर्जा मिलती रहती है। हरे पत्तेदार सब्जियां जैसे ब्रोकोली, फूलगोभी और पालक विटामिन बी 6, बी 12 और फोलेट में समृद्ध हैं। इनका सेवन विस्मरण और यहां तक कि अल्जाइमर रोग में करना चाहिए।

#7 सेब का सेवन 
सेब के अनेक फायदे होते हैं क्यूंकि सब कई तरह के पौष्टिक तत्वों से भरा है। ये न केवल रोगों से लड़ने में मदद करता है बल्कि आपके शरीर को भी स्वस्त रखता है। यदि आप नियमित रूप से एक सेब का सेवन करते हैं तो इसमें पाये जाने वाले एंटीऑक्सीएडेंट डिमेंशिया और अल्जा इमर के खतरे को कम करने में सहायक हैं। स्मृति और मस्तिष्क की रक्षा करने में मदद करने के अलावा सेब कई तरह के कैंसर को खत्म करने का काम करता है। सेब दिमाग तेज करने में भी अहम भूमिका निभाता है ।