कामशक्ति लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कामशक्ति लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 4 जून 2017

मर्दों की कमजोरी मे रामबाण साबित होंगे पाँच घरेलू उपाय

मर्दों की कमजोरी मे रामबाण साबित होंगे पाँच घरेलू उपाय


अनुचित खाना-पीना और टेंशन भरी जिंदगी की वजह से मर्दों की अंदरूनी शक्ति का लगभग खात्मा हो गया है। हर कोई शारीरिक कमजोरी से परेशान है। शादीशुदा मर्दों के लिए कमजोरी एक बड़ा अभिशाप बन चुका है। ऐसे मे लोग किसी के भी कहने पर कोई भी इलाज शुरू कर देते हैं और बाद मे परिणाम गलत आने पर बहुत पछताते हैं। पैसे और शरीर, दोनों का नुकसान कर बैठ जाते है। अगर उस समय किसी को कोई घरेलू उपाय मिल जाए जिससे उसका पैसा और समय दोनों बर्बाद होने से बचे तो उसकी किस्मत खिल जाती है।

मर्दों की अंदरूनी कमजोरी जैसे घुटनो मे दर्द, कमर दर्द , योन कमजोरी, नसों मे कमजोरी आदि हैं। इन सब बीमारियों को अगर घरेलू उपचार से दूर किया जाए तो इससे बड़ा फायदा कोई नहीं हो सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों को फायदे बताने जा रहें है जिन्हे अपनाकर पुरुषों की शारीरिक कमजोरी को दूर किया जा सकेगा :
प्याज - प्याज एक ऐसा घरेलू उपचार है जिसका उपयोग हम कई सालों से करते आ रहें हैं। गर्मी मे लू से बचाता है प्याज। नसों की कमजोरी , शीघ्र पतन की समस्या और अंदरूनी कमजोरी का सबसे सस्ता और घरेलू उपचार है प्याज। एक चमच शहद मे एक चमच प्याज का रस मिलकर पीने से पुरुषों की योन समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। सलाद मे नियमत रूप से प्याज का सेवन करने से वीर्य की कमजोरी को दूर किया जा सकता है।

लहसुन - शारीरिक कमजोरी दूर करने के लिए लहसुन को हमेशा ऊंचा दर्जा प्राप्त है। पुरुषों को अपनी कमजोरी दूर करने के लिए रात को सोने से पहले तीन-चार लहसुन की कच्ची कलियों को निगल लेना चाहिए और ऊपर से थोड़ा पानी पी लें। लगातार कुछ दिन ऐसा करने से मर्दाना ताकत का इजाफा होगा। शहद के साथ लहसुन को लेने पर और ज्यादा अच्छे परिणाम मिलेंगे। रक्त मे खून के क्लोटेस यानि खून के जमने या खून के थक्के से बचाने मे बहुत लाभकारी है लहसुन। लहसुन का रोजाना सेवन करने से मोटापा भी कंट्रोल मे रहेगा।

अनार - अगर बढ़ती उम्र से किनारा करना चाहते हैं तो अनार को रोजाना सेवन शुरू कर देना चाहिए। चेहरे पे रोनक लाने और त्वचा मे निखार लाने के लिए अनार बहुत लाभदायक है। अनार के छिलकों को लेके उन्हे सूखा ले और उनका चूर्ण बना ले। सुबह-शाम इसका सेवन करें। स्वपन दोष की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। योन दुर्बलता को दूर करने के लिए सुबह खाली पेट अनार का जूस ले।

आंवला - पाचन तंत्र की समस्या को दूर करने लिए आंवला को बेहद जरूरी माना गया है।रोजाना इसका सेवन करने से मर्दों मे कमजोरी का कोई नामो-निशान नहीं मिलता है। रात को थोड़ा सूखा आंवला चूर्ण लेकर उसे एक गिलास पानी मे डाल लें। सुबह इस पानी को पी जाए। लगभग पंद्रह दिन तक इसका उपयोग करने से मर्दों को योन समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। नसों मे सुचारु रूप से रक्त का संचार बना के लिए आप आंवला को कच्चा भी खा सकतें हैं। आंवला का रस भी पुरुषों के दुर्बलता को दूर करने मे मदद करेगा।

उड़द की दाल का मिश्रण - उड़द की दाल बहुत ही गरम प्रभाव वाली मानी जाती है। रात बाहर भिगो कर रखी गयी दाल को मिक्सर या किसी चीज की मदद से पीस लें। अब इसकी एक चमच मे थोड़ा सा देसी घी और थोड़ा सा शहद मिलाकर सेवन करें। बाद मे मिश्री मिलाया हुआ दूध जरूर लें। लगातार एक महीने तक इस मिश्रण का प्रयोग करने से पुरुषों मे मर्दाना ताकत का एहसास चार गुना बढ़ जाएगा। घोड़े समान ताकत का संचार होगा आपके शरीर मे। इस दाल की तासीर गर्म होती है तो इसकी मात्रा बहुत कम रखें। नपुंसक इंसान के लिए इस मिश्रण का बहुत महत्व है। योन समस्या का तोड़ है यह उपाय।

रविवार, 7 मई 2017

अगर बच्चे ना हो रहे है तो मर्द खाएं ये फल, जल्द मिलेगा फायदा!

अगर बच्चे ना हो रहे है तो मर्द खाएं ये फल, जल्द मिलेगा फायदा!


ऊर्जा का अच्छा स्रोत है। यह कार्बोहाइड्रेट भरपूर है। आपको बता दें एक कप कटहल में 40 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। सही तरीके से वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो कटहल खाएं। 

कामेच्छा बढ़ाने के साथ पुरुषों की फर्टिलिटी बढ़ाता है कटहल, जानिए कुछ और बड़े फायदे…
  • स्पर्म काउंट बढ़ाने के साथ कामेच्छा भी बढ़ाता है कटहल आयुर्वेद में ऐसा कहा गया है कि पका कटहल बांझ पुरुषों में स्पर्म की मोबिलिटी और क्वालिटी बढ़ाने में मददगार है। पुरुषों में शीघ्रपतन के इलाज के लिए भी कहटल काम में लिया जाता है।
  • बोन्स के लिए ये बेस्ट है इसमें भरपूर कैल्शियम होता है। क्या आपको पता है मुट्ठी भर कटहल में 56.1 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। इससे आपकी रोज की 6 फीसदी कैल्शियम की जरूरत पूरी हो जाती है।

  • कटहल एंटी एजिंग भी है। ये स्किन को डैमेज और झुर्रियों से बचाने में मददगार है। उम्र आपके चेहरे से न झलके, इसके लिए कटहल खाएं। कटहल में फाइबर और पानी की मात्रा अधिक होती है। ये पाचन को ठीक करता है। कब्ज से मुक्ति दिलाता है।
  • एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर कटहल एंटी कैंसर होता है। कटहल पाचन तंत्र से सभी विषाक्त पदार्थ बाहर निकालता है।
  • ब्लड प्रेशर कम करने में कारगर है। रोज की 14 फीसदी पोटेशियम की जरूरत एक कप कटा हुआ कटहल खाने से पूरी हो जाती है। इससे आप दिल की बीमारियों से दूर रहते हैं।
  • एनीमिया का भी ये अच्छा इलाज है। इसमें मिनरल्स और विटामिन होते हैं। कटहल में विटामिन ए, सी, ई और के के साथ-साथ फोलिक एसिड, नियासिन और विटामिन बी-6 होते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन ए होता है, जो आंखों के लिए अच्छा होता है।
  • इम्युनिटी मजबूत करता है। कटहल में भरपूर मात्रा में विटामिन सी होता है। इससे इम्युनिटी मजबूत होती है।
  • थायराइड हार्मोन के नियंत्रण में मदद करता है। कटहल में कॉपर भी होता है।

शुक्रवार, 14 अप्रैल 2017

शीघ्रपतन का इलाज हल्दी और शहद के साथ

शीघ्रपतन का इलाज हल्दी और शहद के साथ


हल्दी का सेवन हमारी सेहत के लिए बहुत ज़्यादा फायदेमंद होता हैं, क्योंकि यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती हैं. इसीलिए हल्दी को प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट बोला जाता हैं. यह कई रोगों से छुटकारा दिलाने में भी कारगर साबित होती हैं, अगर पुरुषो में किसी प्रकार का यौन रोग हैं या फिर पुरुषो में मर्दाना कमज़ोरी पायी जाती हैं

तो पुरुष एंटीबायोटिक्स का उपयोग करते हैं और अस्पतालों के चक्कर लगाते रहते हैं, जबकि इन चीज़ों का इलाज खुद उनके किचन में ही होता हैं, अगर किचन में रखी सामग्री का अच्छे से और सही मात्रा में उपयोग किया जाए तो यह बहुत ज़्यादा फायदेमंद हो सकती हैं. इसी तरह हल्दी इन रोगों में बहुत ज़्यादा कारगर साबित होती हैं.

इसी तरह किचन में पायी जाने वाली दाले और शहद के इस्तेमाल से भी आप इन रोगों से बच सकते हैं. इससे आपको बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के आपकी यह कमिया दूर हो जाएंगी और आपका वैवाहिक जीवन खुशहाल बना रहेगा, इन नुस्खे से आपको कई फायदे पहुचेंगे.

अगर आपको हैं यह रोग:
पुरुषो में यौन संबंधी समस्याए महिलाओ से ज़्यादा होती हैं, वो कई प्रकार के गुप्त रोगों से जूझते रहते हैं जिसका मुख्य कारण हैं खराब दिनचर्या और खराब खान-पान इसके अलावा कई बार कुछ रोग आनुवंशिक भी होते हैं, यहाँ हम आपको कुछ गुप्त रोग बता रहे हैं, जिनपर यह नुस्खे कारगर साबित होंगे.
  • शीघ्रपतन की समस्या
  • वीर्य के पतलेपन की समस्या
  • पुरुषो में नपुंसकता
  • धातुदोष का होना
  • स्वप्नदोष होना
अगर पुरुषो में यह समस्याएं हैं तो आपको चाहिए की आप इस नुस्खे का उपयोग करे जो इस प्रकार दिया गया हैं.

हल्दी और शहद के इस्तेमाल से राहत पाए:
हल्दी और शहद, वीर्य के पतलेपन और शीघ्रपतन का रामबाण इलाज है, शीघ्रपतन के कारण पुरुषो में नापुंसकता भी हो जाती हैं जिससे उनका गृहस्त जीवन पूरी तरह से बर्बाद हो जाता हैं, इसके लिए आपको रोज सुबह खाली पेट एक चम्मच शहद में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर इसका सेवन करना होगा, एक महीने तक रोजाना इसके इस्तेमाल से संभोग की शक्ति दस गुना बढ़ जाती है और वीर्य के पतलेपन की समस्या भी दूर हो जाती है, जिससे आपको सेक्स से सम्बंधित इन समस्यायों से राहत मिलेगी.

उड़द की दाल:
अगर हल्दी गर्म करती है तो उड़द की दाल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, किचन में रखी हर एक चीज आपकी सभी तरह की बीमारियों का इलाज करने में कारगर है इसके लिए बस आपको सही मात्रा और किस प्रकार इस्तेमाल करना हैं यह पता होना चाहिए.

सेक्सुअल समस्या से निपटने के लिए सुबह-शाम आधा चम्मच उड़द की दाल और कौंच की दो-तीन कोमल कली को बारीक पीस लें इसके बाद आपका सेवन रोज़ाना करे इससे आपकी यह समस्याएं खत्म हो जाएंगी यह एक कारगर और फायदेमंद नुस्खा है, इस मिश्रण को रोजाना लेने से सेक्स करने की ताकत बढ़ जाती है.
मर्दाना कमज़ोरी को दूर करने के लिए भी यह नुस्खा बहुत फायदेमंद होता हैं.

ज़रूरी बात:
महिलाये हल्दी-शहद और उड़द की दाल का सेवन ना करें, उनके शरीर की तुलना में ये चीजें काफी गर्म होती हैं जो उन्हें नुकसान पहुंचा देगी. इसीलिए इस बात का खास ख्याल रखे.

यह भी पढ़िये :

रविवार, 12 मार्च 2017

ऐसा घरेलु तेल जो बना देगा बूढ़े को भी जवान

ऐसा घरेलु तेल जो बना देगा बूढ़े को भी जवान


अनेक रोग नाशक काया कल्प तेल यह दिव्य चमत्कारिक तेल है । इससे बूढ़ा भी जवान जैसा हो जाता है । स्त्री का बंध्यापन दूर होता है । मोटापा जड़ से नष्ट हो जाता है । कामशक्ति बढ़ जाती है । आयु बढ़ जाती है । रोगों से सुरक्षा होती है यह बेडोल शरीर को सुंदर सुडौल कस हुआ चिंता और कांतिवान बनाता है इससे भी प्रकार के दुर्गन्ध का नाश होता है.


नीम तेल एक सुरक्षित तेल हैं। ये तेल बालो के लिए, और त्वचा के लिए बहुत फायदेफंद हैं। ये तेल बाल विकास को बढ़ावा देता है। ये तेल बालो की समस्याओं का समाधान करता है। ये तेल भरतीय चिकित्सा का एक महत्चपूर्ण हिस्सा हैं। ये बालो की रूसी को खत्म करके बालो मज़बूत करता है। ये तेल दाद , खुजली से राहत देता है, और त्चचा की समस्याओं से राहत देता है। नीम का तेल क्षतिग्रस्त त्वचा और बालों के लिए प्रभावी तेल है।

लिंग के लिए नीम का तेल: लिंग की मसाज करें नीम आयल से और बेहतर करें अपने लिंग की नसों में रक्त संचार| 

त्वचा के लिए नीम का तेल:
ये तेल सौन्र्दय प्रसारण के रूप में कार्य करता है। ये एक्जि़मा (जिल्द की सूजन, खुजली या लाल त्वचा ) प्रवण त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है। ये तेल मुहाँसो से पीडि़त लोगों के लिए बत फायदेमंद है, और जल्द ही मुहाँसों से राहत देता है। ये तेल त्व्चा के घावों कों ठीक करता है। नीम का तेल सूखी त्वचा और खुजली से राहत देती है। नीम तेल पर्यावरण के नुकसान से रक्षा त्वचा करता हैं। नीम तेल के नियमित प्रयोग से त्वचा की झुर्रियों को खत्म किया जाता है। ये तेल त्वचा की झुर्रियो खत्म करके त्वचा को सुन्दर बनाता है। ये तेल त्वचा की जलन को कम करके राहत देता है।

मुहाँसो के लिए:
loading...

ये तेल मुहाँसों को साफ करता है, त्वचा से बैक्टीरिया को हटाकर त्वचा को खूबसूरत बनाता है। ये तेल त्वचा की ललिमा को और सूजन को खत्म करता हैै। ये तेल त्वचा के निषानो को खत्म करता है। ये तेल त्वचा की समस्याओ से राहत देता है। ये तेल कीड़े के कटे हुए दर्द से राहत देता है।

सूखापन निकालता है।ः नीम का तेल एक प्रभावी त्वचा कंडीषनर का कार्य करता है। नीम का तेल लम्बे समय तक के सूखेपन को दूर करके त्वचा को पोशण देता है। ये तेल त्वचा की दरारों को खत्म करके त्वचा को सुन्दर और चमकदार बनाता है।
सिर और बालों के लिएः नीम का तेल सुखदायक और षीतलता प्रदान करता है। ये तेल बालांे को मोटा और मज़बूत करता है। ये तेल बालों की समस्याओं को खत्म करके बालो को पूर्ण विकास देता है। ये तेल रूसी और खुजली से राहत देता है। ये तेल सिर की जलन को और लालपन को खत्म करता है।

सिर के जुँओं से राहत के लिएः नीम का तेल जुँओं से राहत के लिए एक बेहतरीन उपाय है। नीम का तेल एक कीटनाषी घटक है, जिसकी खुषबू जुँओं को दूर करती है।

जोड़ो के दर्द से राहतः नीम तेल जोड़ो के दर्द से राहत देता है। ये तेल जोड़ो के दर्द और सूजन से राहत देता हैै।


यौनशक्ति और कामशक्ति बढ़ाने के उपाय : यौन-संबध बनाने के लिए जितना ध्यान मानसिक तैयारी और कामात्तेजना को देना चाहिए उतना ही ध्यान अपनी यौन-शाक्ति पर भी देना आवश्यक है। यौन-शक्ति के अभाव मे एक बेहतरीन रोमांटिक माहौल में भरपूर तैयारी के साथ बनाया गया संबंध कारगर साबित नही होता है और आप यौन-सुख से वंचित रह जाते है। जिन व्यक्तियों में यौन-शक्ति का अभाव होता है वह सेक्स के दौरान थो़डी देर मे ही खुद को कमजोर महसूस करने लगते है।

रविवार, 12 फ़रवरी 2017

शक्ति बढ़ाने के लिए निम्बू के 4 अदभुत प्रयोग

शक्ति बढ़ाने के लिए निम्बू के 4 अदभुत प्रयोग


अगर आप को हमेशा शारीरिक या मानसिक कमज़ोरी महसूस होती रहती हैं, अगर आप हमेशा थके थके महसूस करते हैं तो जानिये निम्बू के आसान से चमत्कारिक प्रयोग और अपने शरीर को दीजिये नयी स्फूर्ति, शक्ति और उमंग।

आइये जाने इन प्रयोगो को।

1. सुबह खाली पेट उबलते हुए एक गिलास पानी में एक निम्बू निचोड़ ले और इसको बैठ कर घूँट घूँट कर पिए। इस से आपके अंग अंग में नयी शक्ति का संचार होगा, रोग दूर होते हैं, नेत्रज्योति तेज़ हो जाती हैं, मानसिक दुर्बलता, थकावट दूर होती हैं, सर दर्द, पुट्ठों में बार बार झटके लगने बंद हो जाते हैं। अगर आप अधिक काम भी करते हैं तो भी आपको थकावट नहीं होगी। आपके शरीर से सारी गंदगी धीरे धीरे बाहर निकल जायेगी, शरीर ज़हर मुक्त हो जायेगा। और इसके नियमित सेवन करने से शरीर स्फूर्तिवान होगा। ध्यान रखे स्वाद के लिए नमक या शक्कर ना मिलाये। सिर्फ शुद्ध शहद मिला सकते हैं।

2. 40 ग्राम किशमिश, 6 मुनक्के, 6 बादाम, 6 पिस्ते रात को आधा किलो पानी में कांच के बर्तन में भिगो कर रख दे। प्रात : पीसकर, छानकर, एक चम्मच शहद मिलाकर और एक निम्बू निचोड़ कर भूखे पेट पिए। इस से मानसिक व् शारीरिक कमज़ोरी और थकान दूर होती हैं। यह इन्द्रियों की शक्ति के लिए भी लाभदायक हैं।

3. एक कांच के गिलास में तीन हिस्से अजवायन भर दे। अब इस गिलास को निम्बू के रस से भर कर इसका मुंह कपडे से ढक कर धुप में रख दीजिये। जब निम्बू का रस सूख जाए तो पुन: इसे निम्बू के रस से भर दे और धुप में ही पड़ा रहने दे। इस प्रकार सात बार निम्बू का रस डालकर अजवायन सुखाएं। इस सुखाई हुयी अजवायन को अंत में कांच की शीशी में भर कर रखे ले। अब इसका एक चौथाई (1/4) चम्मच एक बार नित्य पानी के साथ फांक ले। इस से शरीर में बल बढ़ता हैं तथा यौन शक्ति बढ़ती हैं। इसे सेवन करते समय अर्थात सेवन काल में घी दूध भी सेवन करते रहे।

4. एक कप उबला हुआ पानी, एक चुटकी सेंधा नमक, एक चुटकी काला नमक, एक चम्मच देसी चीनी, दस बूँद निम्बू का रस, भूना पीसा हुआ एक चौथाई चम्मच जीरा सबको मिलाकर पिए। यह पेय बहुत स्वादिष्ट, पाचन शक्ति बढ़ाने वाला, शक्ति बढ़ाने वाला हैं। इसको चाय की तरह और चाय के स्थान पर पिए और चाय बंद कर दे। ये मिलायी जाने वाली चीजे स्वाद के अनुसार और परहेज के अनुसार घटा बढ़ा सकते हैं। यह बीमारी की अवस्था में भी ले सकते हैं। ये दिन में तीन बार लीजिये।

शुक्रवार, 20 जनवरी 2017

रोज खाएं लहसुन की 1 कली, इन 7 बीमारियों का नहीं होगा असर, ताकत भी बढ़ेगी

रोज खाएं लहसुन की 1 कली, इन 7 बीमारियों का नहीं होगा असर, ताकत भी बढ़ेगी


धर्म-ग्रन्थों में भले ही लहसुन और प्याज को खराब माना गया है लेकिन आयुर्वेद में लहसुन को एक ऐसी औषधि माना गया है जो शरीर के सिर से लेकर पांव तक हर अंग की बीमारी को सही कर सकता है। इसके एंटीबैक्टिरियल तथा एंटीफंगल गुण जहां शरीर को बैक्टीरिया से बचाते हैं वही शरीर की कई बीमारियों को भी जड़ से खत्म कर देते हैं। आइए जानते हैं लहसुन के ऐसे ही कुछ फायदे...

(1) हाई बीपी को करता है कंट्रोल
रोज सुबह एक कच्ची कली लहसुन की खाने से हाई बीपी की बीमारी पूरी तरह सही हो जाता है। इसके सेवन से न केवल ब्लड सर्कुलेश सही रहता है वरन दिल की बीमारियों को भी कोसों दूर रखता है।

(2) दांत दर्द से तुरंत मिलती है राहत
अगर आपके दांतों में बहुत तेज दर्द हो रहा है तो लहसुन की एक कली छिल कर प्रभावित दांत के नीचे रख लें। लहसुन के एनटीबैक्टिरीअल और पेनकिलर गुण तुरंत ही आपके दांत का दर्द दूर कर देंगे।

(3) श्वसन तंत्र को मजबूत करता है
नियमित रूप से लहसुन खाने से श्वसन तंत्र मजबूत होता है। इसके प्रयोग से अस्थमा, निमोनिया, ज़ुकाम, ब्रोंकाइटिस, पुरानी सर्दी, फेफड़ों में जमाव और कफ आदि से निजात और बचाव होता है।

(4) दिल को स्वस्थ रखता है
लहसुन में मौजूद सल्फर रक्त कोशिकाओं को बंद होने से बचाता है साथ ही इसके हीलिंग प्रोपर्टीज शरीर में मौजूद फ्री ऑक्सीजन रेडिकल्स से लड़कर शरीर को युवा बनाए रखती है।

(5) नसों की झनझनाहट दूर करता है
खाली पेट लहसुन खाने से नसों में झनझनाहट की समस्या दूर हो जाती है। और शरीर की इन्द्रियां भी समुचित रूप से कार्य करने लगती है।

(6) भूख बढ़ाने के लिए
खाली पेट लहसुन के प्रयोग से एसीडिटी खत्म होकर डायजेस्टिव सिस्टम सही होता है। इससे भूख बढ़ती है और पाचन तंत्र संबंधी सभी बीमारियों से भी छुटकारा मिल जाता है।

(7) कामशक्ति बढ़ाता है
धर्मग्रन्थों में लहसुन को तामसिक माना गया है। इसके प्रयोग से शरीर में कामेच्छा तथा कामशक्ति दोनों बढ़ जाती है। कामेच्छा का बढ़ना सन्यास और ब्रह्मचर्य के हिसाब से गलत है अतः इसे सन्यासियों तथा पूजा-पाठ करने वालों के लिए निषेध कर दिया गया है परन्तु आयुर्वेद में गृहस्थ लोगों के लिए इसे संजीवनी मान कर खाने की अनुमति दी गई है।