फटी एडियाँ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
फटी एडियाँ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 30 मार्च 2018

कोलगेट में ये एक चीज मिलाने से रातों-रात फटी एड़ियों से मिलेगा छुटकारा

कोलगेट में ये एक चीज मिलाने से रातों-रात फटी एड़ियों से मिलेगा छुटकारा


जैसे हम खूबसूरत नजर आने के लिए तरह-तरह के उपाय करते है उसी तरह हमें फटी एड़ियों के लिए भी कुछ न कुछ नुस्खों को अपनाना चाहिए. क्योंकि फटी एड़ियों के होने की वजह से हमारी पैरों की खूबसूरती कम हो जाती है और कभी-कभी तो इतने ज्यादा एड़िया फट जाती है कि चला भी नहीं जाता हैं. इसलिए आज हम आपके लिए एक ऐसा नुस्खा लेकर आए है, जिसे करने से आपकी फटी एड़ियां बिलकुल पहले की तरह मुलायम बन जाएगी.

क्यों फटती हैं एड़ियां

पैरों की एड़ियों के फटने का सबसे बड़ा कारण होता हैं, पैरों में ड्रायनेस होना. अगर आपकी स्किन ड्राय है तो इस वजह से आपकी एड़ी फट जाती है. इसलिए रोजाना पैरों की एडियों पर मॉइस्चराइज क्रीम लगानी चाहिए.

फटी एड़ी होगी सही

सबसे पहले एक कटोरी लें और इसमें आधा चम्मच कोलगेट डाल दें. इसके बाद इसमें 1 ईवीएम की कैप्सूल डाल दें और फिर इन दोनों को अच्छे से मिला दें. इस तरह से आपका एक पेस्ट तैयार हो गया है.

इस तरह करें इस्तेमाल

अब आपको इस पेस्ट को रोजाना सोने से पहले अपनी फटी एड़ियों पर लगाना है और सुबह उठने के बाद साफ पानी से पैरों को धो लेना है. ऐसा नियमित रूप से करने से आपके पैरों की फटी एड़ियां बिलकुल सही हो जाएंगी.

बुधवार, 13 दिसंबर 2017

इन आसान घरेलू उपायों से मात्र 2 दिन में ठीक हो जाएंगी आपकी फटी एड़ियां

इन आसान घरेलू उपायों से मात्र 2 दिन में ठीक हो जाएंगी आपकी फटी एड़ियां


ठण्ड आते ही हमारी स्किन धीरे-धीरे करके नमी खोने लग जाती है. जिसकी वजह से हमारे होंठ और एड़ियां सख्त हो जाती और फटने लग जाती है. एड़ियों और होंठों के फटने की वजह ये भी हो सकती हैं कि सर्दियों में हम पानी बहुत कम पीते है. अगर आप भी ठंड में फट रही अपनी एड़ियों से परेशान है तो आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं, जिनको आप कभी भी घर पर रहकर ही कर सकते हैं.


नींबू का रस और वैसलीन
सबसे पहले थोड़ा सा गर्म पानी लेकर दोनों पैरों को 10-15 मिनट तक उसमें डालकर रखें. इसके बाद पैरों को बाहर निकालकर अच्छी तरह से पोछकर सूखा ले. अब वैसलीन में थोड़ा सा नींबू का रस मिलाकर पैरों की एड़ियों में लगाकर मसाज करें. ऐसा 2 दिन तक करने से ही आपकी फटी हुई एड़ियां ठीक हो जायेगी.

शहद
ये बात तो सभी को अच्छे से ही पता है कि शहद में भरपूर मात्रा में एंटी-बैक्टीरिअल गुण पाए जाते हैं. शहद को 1 बाल्टी पानी में डालकर 15-20 मिनट के लिए उसमें पैर डालकर रखें. इसके बाद क्रीम लेकर पैरों की अच्छे से मसाज करें. ऐसा कुछ दिन तक करने से आपकी फटी हुई एड़ियां ठीक हो जायेगी.


पैराफिन वैक्स
1 बड़े चम्मच पैराफिन वैक्स लेकर उसमें 2-3 बूंदे सरसों के तेल की डालकर उसको अच्छे से पिघला ले. जब ये पिघल जाए तो इसको हल्का गुनगुना करके एड़ियों में लगाकर मोजे पहन ले. सुबह उठकर पानी से पैरों को धो ले.

चावल का आटा
3 बड़े चम्मच चावल का आटा, 1 बड़ा चम्मच शहद और 2-3 बूंदे एप्पल साइडर सिरके को लेकर अच्छे से मिलाकर मोटा सा पैक बना ले. इसके बाद 15 मिनट तक पैरों को गर्म पानी में भिगोकर रखें और इस पेस्ट से स्क्रब करें. ऐसा करने से आपके पैरों की सारी डेड स्किन निकल जायेगी.

फटे पैरों के कारण (Causes of cracked heels or fati ediyon ke karan)

1. पैरों से काफी काम लेना।
2. फटी बिवाई, त्वचा का सूखा पड़ जाना।
3. काफी समय तक खड़े रहना।
4. फटी बिवाई, कठोर ज़मीन।
5. खराब क्वालिटी की सैंडल पहनना।
6. फटी बिवाई, मधुमेह और त्वचा की अन्य परेशानियां।

फटी एड़ियां ठीक करने के कुछ अन्य उपाय :


1. हमेशा जूतों के साथ मोज़े पहने रहे। इससे फटी एड़ियों से राहत मिलती है।
2. फटे पैरों, अगर आपको फटी एड़ियों से राहत पानी है तो सही नाप के तथा आरामदायक जूतों का चुनाव करें। इससे पैरों को आराम मिलेगा।
3. घर में पानी गर्म करें। इस पानी में सोडियम तथा वेसिलीन मिलाएं तथा इस मिश्रण में १ घंटे तक पैर डुबोकर रखें। तय समय के बाद एड़ियों को किसी खुरदुरी चीज़ से साफ़ करें। सोने से पहले पैरों की एड़ियों में कोई क्रीम लगाकर सोएं। आपको पूरी तरह ठीक होने में कुछ दिनों से 1 हफ्ते का समय लगेगा।
4. खानपान सही करने से भी फटे पैर, फटी एड़ियां ठीक होती हैं। सही खानपान के लिए दूध, दही, ताज़ी सब्ज़ियों, मांस तथा अन्य पोषक पदार्थों का सेवन करें।
5. फटे पैरों, पैरों की एड़ियों में ग्लिसरीन तथा गुलाबजल का मिश्रण लगाएं। इससे आपकी फटे पैर एड़ियां मुलायम हो जाएंगी।
6. फलों या सब्ज़ियों का रस लें। इस रस में 15 मिनट तक अपने पैर डुबोकर रखें। अगर इससे आपके पैरों में जलन हो तो घबराएं नहीं, क्योंकि इसमें एसिड की मात्रा होती है, पर यह आपकी त्वचा के लिए काफी अच्छा होता है।
7. नारियल का रस फटी एड़ियों के लिए काफी अच्छा होता है। यह आपको सुकून देता है। आप ऐसी क्रीम्स का भी प्रयोग कर सकते हैं जो नारियल के रस से युक्त हों।
8. शहद की मदद से भी फटी एड़ियां ठीक हो सकती हैं। यह उपाय काफी प्रभावी होता है।

मंगलवार, 31 अक्तूबर 2017

कई बीमारियों का रामबाण इलाज़ है गेंदे का फूल

कई बीमारियों का रामबाण इलाज़ है गेंदे का फूल


आपने काफी बार सुना होगा की इस फल या फूल से इस रोग में लाभ होता है और तो और कई लोगो ने तो इसे अजमाया भी होगा पर क्या आप को पता है की गेंदे के फूल से भी कई प्रकार के लाभ होते है आज हम आप के उन्ही लाभों के बारे में बतायेगे जो आप और आप के जानने वालो को बहुत लाभ देगा ।

1. जिन पुरुषों को स्पर्मेटोरिया की शिकायत हो उन्हे गेंदा के फूलों का रस पीना चाहिए। इन फूलों का रस निकालने के लिए फूलों की ताजी पँखुड़ियों को लेकर पानी से धोकर उनको मिक्सी में चला लें लगभग 50 ग्राम पँखुड़ियॉ । उनमें 30 मिलीलीटर पानी भी मिला दें । फिर जो पेस्ट बने उसको सूती कपड़े में रखकर रस निचोड़ लें और ताजा ही सेवन करें रोज एक बार ।

2. गेंदा के पँखुड़ियों का रस कान में डाला जाए तो यह कान दर्द को कम कर है अत: इसकी पत्तियों को पीस कर रस निकाल लें और इस रस की 2 बूंदों को कान में डालने से दर्द कम हो जाता है । इसके लिये एक फूल की पँखुड़ियों को सिल बट्टे पर मसलकर उसका रस निचोड़ कर कान में डाला जाता है ।
3. सूखे हुए गेंदा के फूल को मिश्री के साथ खाने की सलाह दमा और खाँसी की शिकायत वाले मरीज को दिया जाता है । यदि रोगी को मधुमेह की भी शिकायत है तो उसको यह प्रयोग मिश्री के साथ नही करना चाहिये । मिश्री की जगह गेंदे के फूल के साथ गुनगुने पानी का सेवन किया जा सकता है ।

4. पैर और एडियॉ फटने की समस्या में गेंदा बहुत लाभकारी रहता है । गेंदा के पत्तों को मोम में गर्म कर लें व ठंडा होने के बाद पैरों की बिवाई पर लगाने से दर्द में आराम मिल जाता है तथा इससे तालु चिकने हो जाते है और 4-5 दिन में ही फटी हुई बिवाईयॉ भरने लगती हैं ।
5. चाहे सूखी हो या खूनी बवासीर यह दोनों ही समस्याओं में लाभ करता है । बवासीर के रोगी को यदि गेंदा की पत्तियों का रस काली मिर्च और नमक का घोल साथ मिला कर पिलाया जाए तो बावासीर में आराम मिलता है । बवासीर के रोगी को मिर्च और मसालेदार चीजों का सेवन नही करना चाहिये और पानी खूब पीना चाहिये ।

6. गेंदा के फूल की पंखुडियों को इक्टठा कर पीस लिया जाए और शरीर के सूजन वाले हिस्सों में लगाया जाए तो सूजन कम हो जाती है । सूजन के रोगी को यह ध्यान रखना चाहिये कि यदि सूजन की समस्या ज्यादा है तो चिकित्सक से परामर्श जरूर करना चाहिये । कई बार सूजन का कारण कोई गम्भीर रोग भी हो सकता है ।
7. जिन्हें सिर में फोड़े फ़ुन्सियाँ और घाव हो जाए उन्हें मैदा के साथ गेंदा की पत्तियों और फूलों के रस को मिला कर लगाना चाहिए और इसे सप्ताह में दो बार सिर पर लगाना चाहिए ऐसा करने से फोड़े फुन्सियाँ और घाव होना कम हो जाता है ।