सकरात्मक ऊर्जा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
सकरात्मक ऊर्जा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 17 अक्तूबर 2017

जाने क्या है नजर लगने के लक्षण और उन्हें उतारने के अचूक उपाय

जाने क्या है नजर लगने के लक्षण और उन्हें उतारने के अचूक उपाय


हिन्दू धर्म में हमारे पूर्वजो के समय से चली आ रही अत्यन्त प्राचीन परम्परा एवं मान्यताएं आज भी हमारे जीवन का हिस्सा है. इन मान्यताओं में से एक है ”बुरी नजर लगना”, बुरी नजर का लगना कोई रोग नहीं है परन्तु बुरी नजर का प्रभाव मनुष्य को रोगी के समान ही बना देता है अथवा इसके प्रभाव से मनुष्य को अनेक प्रकार की परेशानियों से होकर गुजरना पड़ता है.

बुरी नजर के कारण अनेक बाधाएं एवं मुसीबतें मनुष्य को आ घेरती है तथा कभी कभी बुरी नजर का अर्थ यह माना जाता की उस जिस व्यक्ति पर बुरी नजर लगी है उसे दुष्ट आत्मा, भुत-पिशाच आदि ने जकड़ लिया है. आमतौर पर यह मान्यता है की बुरी नजर के लगने पर मनुष्य की सभी सकरात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है तथा उसके सभी अच्छे विचार बुराई में बदलने लगते है जो मुसीबत का कारण बनते है.
नजर लगाना अथवा बुरी नजर लगने के कुछ समान्य लक्षण नीचे दिए गए जिन्हे देख आप आसानी से बुरी नजर के लक्षण को पहचान सकते हो.

* किसी गर्भवती महिला का दूध सुख जाना
* अचानक उलटी अथवा डायरिया का होना.
* बिना बात के धन संबंधी नुकसान होना.
* अचानक घर में रखे पशु की मृत्यु होना.
* रक्त में बदलाव आना .
* अक्सर दूध का फट जाना.
* बगैर किसी कारण के छोटे बच्चे का जोर जोर से रोना.
* व्यापार में लगातार धन की हानि होना .
* अत्यधिक तनाव होना.
* वजन का काम होना .
* अत्यधिक बेहिसाब घर में नुक्सान होना तथा चोरी होना.
* पति और पत्नी के बिच रोज किसी न किसी बात को लेकर मनमुटाव होना .
* सिर और गर्दन में दर्द का होना.
* आँखों का भारी होना.
* एक तीव्र बैचेनी अथवा चिंता का बार बार सताना .
* पेट में दर्द, चक्कर आना, उलटी के भावना.
यह भी पढ़िए : घर के द्वार पर काले घोडे की नाल को इस दिशा में रखे हो जायेगे मालामाल

आइये अब जानते है कैसे हम बुरी नजर के दुष्प्रभाव से अपने तथा अपने परिवार को बचा सकते है.

1. दो लाल सुर्ख मिर्च, कुछ चुटकी सेंधा नमक तथा थोडा सा सरसों का बीज लें तथा इसके बाद बच्चे के ऊपर से नीचे आगे और पीछे करने के लिए बच्चे को दक्षिण के तरफ तीन बार और विरोधी दक्षिण दिशा की तरफ तीन बार घुमाएं.

अब एक गर्म थाली अथवा तवा लें और गर्म थाली अथवा तवे पर यह सब डाल दें. धुआं उठने के बाद कुछ ही देर में बुरी नज़र उतर जाएगी और बच्चा कुछ ही समय में ठीक महसूस करने लगेगा.

2. बिना किसी कारण यदि कोई मनुष्य अपने आपको सुस्त, चिडचिडा व बीमार महसूस करे तो यह बुरी नज़र के लक्षणों में से एक है थोडा सा सेंधा नमक ले लो तथा इसे अपने सिर के दक्षिण दिशा की ओर घुमाओ तथा इसके बाद अब इसे विरोधी दक्षिण दिशा की ओर घुमाएं और एक गिलास पानी दाल दें.

ये माना जाता है कि जैसे नमक को पानी के साथ घोला जा सकता है उसी तरह बुरी नज़र का असर भी पानी में घुल जाएगा और वो भंग हो जाएगी.

3. यदि आपके घर में कोई व्यक्ति किसी एक लम्बे बीमारी से ग्रसित है तो यह भी बुरी नज़र लगने का कारण हो सकती है.

एक बोतल या डिब्बे में समुद्र या तालाब अथवा झील का पानी ले लो और एक सफ़ेद कपडे का उपयोग कर पानी को मंगलवार, शुक्रवार और पूर्णिमा के दिन घर के हर कमरे में पानी को टपकाए यह उपाय बुरी नज़र और इसके परिणामस्वरूप बीमारी को ख़त्म कर देगा इसका दूसरा उपाय आप घर में कच्चे नारियल के छिलकों को जलाकर कर सकते हैं.

4. यदि आपके व्यापार को किसी की बुरी नज़र लग गई है और हर बार आपको अपने व्यापार में घाटा हो रहा है तो बुरी नज़र उतारने के लिए यह उपाय अपनाएं. काम करने की जगह पर पानी में नींबू रखें. व्यवसाय प्रतियोगियों या पड़ोसियों की बुरी नज़रों से बचने के लिए, पानी से भरा एक गिलास लें और इसमें एक नीबू रखें. हर शनिवार को नीबू को हटाए और एक नया बदलें. ऐसा करने से आप अपने व्यवसाय को बुरी नज़र से बचा सकता है. ज्यादा अच्छे परिणामों के लिए नीबू और मिर्ची का धागा लटकाएं.

5. गर्भवती महिलाओं को बुरी नज़र से बचाने के लिए इन उपायों को करना चाहिए. जब भी वे भ्रमण के लिए बाहर निकले तो वे अपने साथ दो या तीन नीम के पत्ते जरुर रखें तथा बाहर से आने के बाद उन नीम के पत्तों को जला दें. सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा भी उन पत्तों के साथ जल जायेगी.